देश

'INDIA' में फूट! प्रकाश अंबेडकर ने उद्धव और शरद पवार से बनाई दूरी; खरगे को खत लिख कांग्रेस को समर्थन का ऐलान

मुंबई:

लोकसभा चुनाव (Loksabha Election) की तारीखों के ऐलान के बाद भी कई राज्यों में विपक्षी गठबंधन में सीटों का बंटवारा नहीं हो पाया है. इस बीच महाराष्ट्र में प्रकाश अंबेडकर (Prakash Ambedkar) ने कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे को पत्र लिखकर समर्थन की पेशकश की है, हालांकि साथ ही उन्होंने उद्धव ठाकरे और शरद पवार की की पार्टी पर गंभीर आरोप भी लगाया है. वंचित बहुजन अघाड़ी (वीबीए) के प्रमुख प्रकाश अंबेडकर ने मंगलवार को अपनी पार्टी को उचित सम्मान नहीं देने का आरोप लगाते हुए शिवसेना (UBT) और एनसीपी (शरदचंद्र पवार) के प्रति अपनी नाराजगी व्यक्त की. साथ ही उन्होंने कांग्रेस को 7 सीटों पर समर्थन की पेशकश की है. 

यह भी पढ़ें

प्रकाश अंबेडकर ने पत्र में क्या लिखा है? 

खरगे को लिखे अपने पत्र में, अंबेडकर ने कहा, “चुनावों के कार्यक्रम की घोषणा की जा चुकी है और एमवीए किसी भी चर्चा या बैठक के लिए वीबीए को आमंत्रित किए बिना लगातार बैठक कर रहा है. शिव सेना (यूबीटी) और एनसीपी (शरदचंद्र पवार) ने हमारी बातों को सुनने से इनकार कर दिया है. कई एमवीए बैठकों में वीबीए के प्रतिनिधि थे और एमवीए में वीबीए के प्रति उनके असमान रवैये के कारण हमने इन दोनों पार्टियों पर विश्वास खो दिया है. 

साथ ही उन्होंने कहा कि वीबीए का मुख्य एजेंडा एक ही है – फासीवादी, विभाजनकारी, अलोकतांत्रिक भाजपा-आरएसएस सरकार को सत्ता से बाहर करना.  इस विचार के साथ, मैंने महाराष्ट्र में सात सीटों पर कांग्रेस को वीबीए का पूरा समर्थन देने का फैसला किया है. हमारी पार्टी आपकी पसंद की इन सात सीटों पर आपकी पार्टी के उम्मीदवारों को अपना पूरा जमीनी और रणनीतिक समर्थन देगी. 

यह भी पढ़ें :-  मध्य प्रदेश चुनाव नतीजे पर कांग्रेस ने की समीक्षा बैठक, संगठन के पुनर्गठन का फैसला खरगे पर छोड़ा

अकोला सीट से चुनाव लड़ने का प्रकाश अंबेडकर ने किया ऐलान

गौरतलब है कि डॉ बी आर अंबेडकर के पोते प्रकाश अंबेडकर ने पहले वीबीए उम्मीदवार के रूप में अकोला सीट से लोकसभा के लिए अपनी उम्मीदवारी की घोषणा भी की.  अंबेडकर के नेतृत्व वाली वीबीए आगामी लोकसभा चुनावों के लिए एमवीए के तीन सहयोगियों – कांग्रेस, उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली शिवसेना और शरद पवार के नेतृत्व वाली एनसीपी (एसपी) के साथ हाथ मिलाने पर विचार कर रही है.  हालांकि, सहयोगी दलों के साथ सीट बंटवारे को लेकर बातचीत अब तक बेनतीजा रही है.

प्रकाश अंबेडकर ने कहा- इंडिया गठबंधन में सीटों को लेकर है विवाद

पत्रकारों से बात करते हुए प्रकाश अंबेडकर ने कहा, “वीबीए को अभी तक एमवीए से कोई प्रस्ताव नहीं मिला है, और हमने एमवीए द्वारा हमें पहले भेजे गए तीन सीटों के प्रस्ताव को स्वीकार नहीं किया है.” फिलहाल कांग्रेस और शिवसेना (यूबीटी) के बीच 10 सीटों को लेकर खींचतान चल रही है. अंबेडकर ने दावा किया कि तीन सहयोगियों – कांग्रेस, शिवसेना (यूबीटी) और एनसीपी (एसपी) में से कोई भी पांच महत्वपूर्ण सीटें छोड़ने के लिए तैयार नहीं है. 

ये भी पढ़े-:

Show More

संबंधित खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button