दुनिया

"क्या आपको हमें लेक्चर देने का अधिकार है…" BBC रिपोर्टर से गुयाना के राष्ट्रपति इरफान अली

गुयाना के राष्ट्रपति का बीबीसी रिपोर्टर को करारा जवाब.

नई दिल्ली:

गुयाना के राष्ट्रपति बीबीसी को दिए इंटरव्यू (Guyana President Interview To BBC Reporter) में उनके पत्रकार पर बुरी तरह से भड़क गए. दरअसल पत्रकार ने कार्बन उत्सर्जन (Carbon Emission) पर गुयाना के राष्ट्रपति इरफान अली से एक सवाल किया, जिस पर उन्होंने पत्रकार को ऐसा जवाब दिया कि जिसकी चर्चा हर तरफ हो रही है. दोनों के बीच इस बातचीत का वीडियो भी वायरल हो रहा है.

यह भी पढ़ें

बीबीसी के पत्रकार ने गुयाना में तेल और गैस निकालने की योजना पर राष्ट्रपति इरफान अली से देश में कार्बन उत्सर्जन को लेकर सवाल पूछा था. जिस पर राष्ट्रपति ने पत्रकार के सवाल को बीच में रोकते हुए कहा, “क्या आपको जलवायु परिवर्तन पर लेक्चर देने का अधिकार है” और क्या वह तब “पर्यावरण को नष्ट करने वालों की जेब में थे, जब औद्योगिक क्रांति के माध्यम से वह पर्यावरण को नष्ट कर रहे थे और अब हमें लेक्चर दे रहे हैं.” इटरव्यू के दौरान सवाल-जवाब की यह क्लिप तेजी से वायरल हो रही है.

राष्ट्रपति अली से पत्रकार ने सवाल किया कि गुयाना में तेल और गैस निकालने जाने से दो अरब मीट्रिक टन से ज्यादा का कार्बन उत्सर्जन होगा. इस पर राष्ट्रपति ने कहा, “क्या आप जानते हैं कि गुयाना में एक जंगल है, जो इंग्लैंड और स्कॉटलैंड जितना बड़ा है. यह जंगल 19.5 गीगाटन कार्बन संग्रहीत करता है, यह जंगल हमें जीवित रखा है.” इस पर पत्रकार ने राष्ट्रपति से सवाल किया कि क्या इससे गुयाना को तेल और गैस निकालने और कार्बन उत्सर्जन करने का अधिकार मिल जाएगा.

यह भी पढ़ें :-  विश्व जलवायु कार्रवाई शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने को दुबई रवाना हुए PM मोदी

BBC रिपोर्टर को गुयाना का राष्ट्रपति का जवाब

राष्ट्रपति ने कहा, “क्या इससे आपको हमें जलवायु परिवर्तन पर व्याख्यान देने का अधिकार मिल गया है. मैं आपको जलवायु परिवर्तन पर व्याख्यान देने जा रहा हूं, क्योंकि हमने इस जंगल को जीवित रखा है. स्टोर में 19.5 गीगाटन कार्बन है, जिसका आप आनंद लेते हैं, जिसका आनंद दुनिया लेती है.” आप इसके लिए हमें भुगतान नहीं करते हैं. आपको इसकी कद्र नहीं है, क्यों कि आपकी नजर में किसकी कोई कीमत नहीं है, जिसे गुयाना के लोगों ने जीवित रखा है.”

 

कार्बन उत्सर्जन पर क्या बोला गुयाना के राष्ट्रपति?

राष्ट्रपति इरफान ने कहा कि गुयाना में पूरी दुनिया में सबसे कम जंगल काटे जाते हैं. हमारे पास मौजूद तेल और गैस संसाधनों की सबसे बड़ी खोज के बाद भी, हम अभी भी उत्सर्जन में नेट 0 पर रहेंगे. हमारी सभी कोशिशों के साथ गुयाना अभी भी नेट 0 पर रहेगा. गुयाना के राष्ट्रपति ने कथित पश्चिमी पाखंड पर कड़ा बयान देते हुए कहा कि जिन लोगों ने पर्यावरण को बर्बाद किया, वे अब उनके देश पर सवाल उठा रहे हैं.

ये भी देखें: 

यह भी पढ़ें :-  अमीर या गरीब? कौन करता है दुनिया में सबसे ज्यादा कार्बन उत्सर्जन, स्टडी में खुलासा

Show More

संबंधित खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button