दुनिया

जब तक हमास खत्म नहीं हो जाता तब तक इज़राइल नहीं रुकेगा: नेतन्याहू ने रूस के राष्ट्रपति पुतिन से कहा

नई दिल्ली:

Israel Hamas War: इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू के कार्यालय की तरफ से मंगलवार को रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन (Vladimir Putin) के साथ उनकी फोन पर हुई बातचीत को लेकर एक बयान जारी किया गया. जिसमें कहा गया है कि बेंजामिन नेतन्याहू ने रूस के राष्ट्रपति के साथ बातचीत में 7 अक्टूबर को हुई घटना और उसके बाद इजरायल द्वारा की गई कार्रवाई को विस्तार से बताया. 

यह भी पढ़ें

बेंजामिन नेतन्याहू के कार्यालय ने एक्स पर दी जानकारी

इजरायल पीएम के कार्यालय ने एक्स पर लिखा कि प्रधान मंत्री ने यह स्पष्ट कर दिया कि इज़राइल पर क्रूर और घृणित हत्यारों द्वारा हमला किया गया था, वह दृढ़ और एकजुट होकर किया गया हमला था. हमारा देश तब तक नहीं रुकेगा जब तक कि वह हमास की सैन्य और शासन क्षमताओं को नष्ट नहीं कर देता. इसमें आगे लिखा गया है कि पीएम नेतन्याहू ने रूसी राष्ट्रपति से कहा कि इजरायली सेना तब तक पीछे नहीं हटेगी जब तक वे “हमास को खत्म नहीं कर देते”. 

रूसी विदेश मंत्रालय ने क्या कहा? 

रूसी विदेश मंत्रालय के अनुसार, टेलीफोन पर बातचीत के दौरान पुतिन ने गाजा पट्टी में रक्तपात को और अधिक बढ़ने से रोकने के लिए रूस द्वारा उठाए जा रहे उपायों को बताया. रूस के विदेश मंत्रालय ने एक्स पर पोस्ट किया कि रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने इज़राइल  के प्रधान मंत्री नेतन्याहू से फोन पर बात की. राष्ट्रपति पुतिन ने गाजा पट्टी में हिंसा को और बढ़ने से रोकने के लिए रूस द्वारा उठाए जा रहे कदमों की जानकारी दी. 

यह भी पढ़ें :-  इजरायल ने उत्तरी गाजा में हमास कमांड स्‍ट्रक्‍चर को किया ध्वस्त, अब दक्षिण पर 'फोकस'

रूसी राष्ट्रपति ने मृत इजरायलियों के परिवारों के प्रति जतायी संवेदना

मॉस्को ने कहा कि बातचीत इजरायल-फिलिस्तीनी संघर्ष के बढ़ने से उत्पन्न संकट की स्थिति पर केंद्रित थी. क्रेमलिन ने एक बयान में कहा कि इजरायली पक्ष को फिलिस्तीन, मिस्र, ईरान और सीरिया के नेताओं के साथ आज हुए टेलीफोन पत्राचार के आवश्यक बिंदुओं के बारे में विशेष रूप से सूचित किया गया था. द मॉस्को टाइम्स के अनुसार, क्रेमलिन ने कहा, रूसी राष्ट्रपति ने मृत इजरायलियों के परिवारों और दोस्तों के प्रति अपनी गंभीर संवेदना भी व्यक्त की. 

रूस की तरफ से शांति को लेकर उठाए जा रहे हैं कदम

द मॉस्को टाइम्स की रिपोर्ट में कहा गया है कि सरकार के एक बयान के अनुसार, रूसी राष्ट्रपति ने नेतन्याहू को  संकट को समाप्त करने और राजनीतिक और राजनयिक माध्यमों से शांतिपूर्ण समाधान प्राप्त करने के अपने उद्देश्य पर कार्य को जारी रखने की इच्छा व्यक्त की. गौरतलब  है कि इज़रायली सेना गाजा पट्टी में जमीनी आक्रमण शुरू करने के लिए पूरी तरह तैयार है, लेकिन इसकी सीमा और इसे कब किया जाएगा, इसे लेकर अभी कुछ भी तय नहीं किया गया है. इस बीच, इज़राइल की राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद ने कहा है कि उनका मुख्य लक्ष्य हमास को  सैन्य और राजनीतिक नियंत्रण से हटाना है.

ये भी पढ़ें- 

Show More

संबंधित खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button