देश

राम मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा समारोह राष्ट्रीय चेतना का पुनर्जागरण : असम CM

शर्मा ने यहां हरिजन कॉलोनी में प्राण प्रतिष्ठा समारोह देखा . विभिन्न स्थानों पर विशेष प्रार्थना आयोजित की गयी तथा लोगों ने पटाखे छोड़े . अयोध्या से प्राण प्रतिष्ठा समारोह का सीधा प्रसारण किया गया.

शर्मा ने सोशल मीडिया मंच ‘एक्स’ पर लिखा, ‘‘ अपने भव्य मंदिर में दशरथनंदन राम की वापसी हमारी सभ्यता में एक निर्णायक मोड़ तथा राष्ट्रीय चेतना के पुनर्जागरण का प्रतीक है.”

उन्होंने कहा कि आज आयोजित किये जा रहे विभिन्न कार्यक्रम ‘एक हजार से अधिक भावी पीढ़ियों को सनातन धर्म का पूर्ण वैभव बनाये रखने की प्रेरणा देंगे.”

मुख्यमंत्री ने लिखा, ‘‘ माननीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एक अहम धार्मिक एवं सांस्कृतिक जुड़ाव को पुनर्स्थापित करने में राष्ट्र की अगुवाई कर रहे हैं तथा इतिहास के इस ‘स्वर्णिम युग’ में मुझे अस्तित्व प्रदान करने के लिए मैं प्रभु श्रीराम का सदैव आभारी हूं.”

राज्य सरकार ने राज्य में इस मौके पर आधे दिन की छुट्टी की घोषणा की थी . सोमवार को सरकारी कार्यालय एवं संस्थान दो बजे तक बंद रहे.

सरकारी विद्यालय, महाविद्यालय एवं विश्वविद्यालय आज पूरे दिन बंद हैं जबकि निजी शिक्षण संस्थानों से भी छुट्टी घोषित करने की अपील की गयी थी.

शर्मा ने रविवार को संवाददाता सम्मेलन में सभी धर्मों के लोगों से सद्भाव को बढ़ावा देने के लिए राम मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा के अवसर पर विशेष प्रार्थना करने की अपील की थी.

यह भी पढ़ें :-  कानून की कसौटी पर कितना खरा उतरेगा उतराखंड का UCC बिल? जानें- क्या कहते हैं सुप्रीम कोर्ट के वकील

उन्होंने कहा कि सोमवार को शुष्क दिवस की भी घोषणा की गयी है तथा मासांहार की ब्रिकी करने वाली दुकानें अपराह्न चार बजे तक बंद रहेंगी. मुख्यमंत्री ने लोगों से शाम को अपने घरों, दुकानों और कारोबारी प्रतिष्ठानों में दीये जलाने और सामुदायिक प्रार्थना घरों में जाने की अपील भी की.

ये भी पढ़ें- मथुरा में भगवान कृष्ण ने राम रूप में दिए दर्शन, राममय हुई कृष्ण की नगरी, मंदिरों में हुई भव्य सजावट

ये भी पढ़ें- हमारे रामलला अब टेंट में नहीं, भव्य मंदिर में रहेंगे: अयोध्या में पीएम नरेंद्र मोदी

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को The Hindkeshariटीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Show More

संबंधित खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button