देश

प्रियंका और गांधी परिवार केजरीवाल की रिहाई की गुहार लगा रहा, क्या उन्होंने उनसे छुपकर माफी मांगी? : BJP सांसद लहर सिंह सिरोया

बीजेपी के राज्यसभा सांसद लहर सिंह सिरोया (फाइल फोटो).

नई दिल्ली :

राज्यसभा सांसद और बीजेपी के नेता लहर सिंह सिरोया (Lahar Singh Siroya) ने दिल्ली में रविवार को रामलीला मैदान पर आयोजित की गई विपक्ष के इंडिया (INDIA) गठबंधन की रैली को लेकर नेहरू-गांधी परिवार सहित विपक्ष को निशाना बनाया. उन्होंने एक्स पर एक पोस्ट में कहा कि, प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) और उनका परिवार अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) की रिहाई की गुहार लगा रहा था, क्या केजरीवाल ने उनसे छुपकर माफी मांग ली है? 

यह भी पढ़ें

कर्नाटक से राज्यसभा सांसद और बीजेपी (BJP) के नेता लहर सिंह सिरोया ने एक्स पर पोस्ट में लिखा है कि- ”प्रियंका गांधी ने आज रामलीला मैदान में इंडिया गठबंधन की रैली में अपने भाषण में दावा किया कि उनका परिवार भगवान राम के परिवार की तरह है और उनके पीछे पड़ने वाले लोग रावण की तरह हैं. इस प्रकार धार्मिकता और पूर्ण बलिदान का श्रेय खुद को देना, अपने परिवार को पीड़ित की तरह दिखाना, इस परिवार की बहुत पुरानी चाल है. अब यह नहीं चलेगा. उन्हें देश का आभारी होना चाहिए, देश को उनका आभारी होने की जरूरत नहीं है.”

संसद की संचार और सूचना प्रौद्योगिकी की स्थायी समिति के सदस्य व गृह मामलों की सलाहकार समिति के सदस्य लहर सिंह सिरोया ने कहा है कि, ”नेहरू-गांधी परिवार हमेशा खुद को राजा-रानी की तरह मानता रहा है. उन्हें लगता है कि वे राज घराना हैं. वे यह बात अभी भी नहीं मानते कि हम लोकतंत्र में हैं. प्रियंका गांधी की तरह परिवार का हर सदस्य पूरे विशेषाधिकार और अधिकार के साथ बोलता है. अगर प्रियंका गांधी रायबरेली से चुनाव लड़ती हैं तो लोग उन्हें बेहतर तरीके से रामायण सिखाएंगे.”

यह भी पढ़ें :-  अरविंद केजरीवाल की पत्नी, सचिव ने तिहाड़ जेल में उनसे मुलाकात की

उन्होंने कहा कि, ”आज दूसरी विडंबना यह भी सामने आई कि 2011 में इसी रामलीला मैदान में अरविंद केजरीवाल और उनके झूठे गांधी गिरोह ने नेहरू-गांधी परिवार को रावण और हमारे देश का लुटेरा कहा था. आज प्रियंका गांधी और उनका परिवार केजरीवाल की रिहाई की गुहार लगा रहा था. क्या केजरीवाल ने उनसे छुपकर माफी मांगी है? यह नेहरू-गांधी परिवार की दुखद स्थिति है.”

Show More

संबंधित खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button