देश

दक्षिण भारत में BJP कितनी लोकसभा सीटें जीतेगी? रेवंत रेड्डी ने बताया

नई दिल्ली:

लोकसभा चुनाव 2024 (Lok sabha election 2024) को लेकर पक्ष और विपक्ष की तरफ से तमाम दावे हो रह हैं. एक तरफ जहां एनडीए की तरफ से 400 सीटों पर जीत का लक्ष्य रखा गया है. वहीं The Hindkeshariसे बात करते हुए कांग्रेस नेता और तेलंगाना के सीएम रेवंत रेड्डी (CM Revanth Reddy) ने दक्षिण भारत में बीजेपी की खराब प्रदर्शन का दावा किया है. उन्होंने कहा कि दक्षिण भारत के राज्यों में जहां 130 लोकसभा सीटें हैं वहां बीजेपी को 15 से भी कम सीटों पर जीत मिलेगी. 

2024 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी दक्षिण भारत के राज्य केरल और तमिलनाडु पर विशेष ध्यान दे रही है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने समर्थन जुटाने के लिए पिछले कुछ हफ्तों में उन राज्यों का एक दर्जन से अधिक दौरा किया है. 

यह भी पढ़ें

केरल के अट्टिंगल में कांग्रेस के अदूर प्रकाश के लिए प्रचार करते हुए रेड्डी ने The Hindkeshariसे कहा, “पूरे दक्षिण में 130 सीटें हैं… बीजेपी को मुश्किल से 12-15 सीटें मिलने वाली हैं. बाकी सीटों पर इंडिया को जीत मिलेगी. प्रकाश मौजूदा सांसद हैं; उन्होंने भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) के ए संपत से सीट जीती थी. बताते चलें कि केरल की अधिकतर सीटों पर कांग्रेस और सीपीआईएम में मुकाबला है.  केरल में बीजेपी की स्थिती अच्छी नहीं रही है. पिछले दो विधानसभा चुनावों में लगभग 180 क्षेत्रों में चुनाव लड़ने के बावजूद केवल एक विधानसभा सीट जीतने में सफल रही है. 

रेड्डी ने कहा कि इंडिया गठबंधन को केरल की सभी 20 सीटों पर जीत मिलेगी. उन्होंने कहा कि केरल में बीजेपी जिन सीटों पर चुनाव लड़ रही है वहां उनका जमानत जब्त हो जाएगा. 

तेलंगाना में कांग्रेस को 14 सीटों पर मिलेगी जीत: रेड्डी

2019 के  चुनाव में कांग्रेस और उसके सहयोगियों ने राज्य में शानदार प्रदर्शन किया था. बीजेपी का प्रदर्शन केरल में अच्छा नहीं रहा था. बताते चलें कि केरल में इंडिया गठबंधन में सीट शेयरिंग पर समझौता नहीं हो पाया है. वाममोर्चा और कांग्रेस के बीच सभी सीटों पर मुकाबला हो रहा है. तेलंगाना को लेकर रेड्डी ने कहा कि इंडिया गठबंधन राज्य की 17 सीटों में से 14 सीटों पर जीत हासिल करेगा.  कांग्रेस ने पिछले साल पूर्व मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव की बीआरएस और भाजपा को करारी शिकस्त देते हुए राज्य की 119 सीटों में से 64 सीटों पर जीत दर्ज की थी.  बीआरएस को केवल 39 सीटें मिलीं थी.

यह भी पढ़ें :-  पंजाब में निर्वाचन आयोग ने जालंधर के जिलाधिकारी, एडीजीपी और डीआईजी का किया तबादला
इस चुनाव में 400 सीटों के अपने लक्ष्य को हासिल करने की कोशिश के तहत भाजपा ने ‘मिशन दक्षिण’ की घोषणा की है. पार्टी को दक्षिणी राज्यों से मजबूत प्रदर्शन की जरूरत है, जिसमें कर्नाटक और आंध्र प्रदेश के साथ-साथ केंद्र शासित प्रदेश पुडुचेरी भी शामिल है. पिछले चुनाव में पार्टी पुडुचेरी, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश और केरल में हार गई थी।. उसे तेलंगाना में केवल चार सीटें मिलीं थी.एकमात्र बड़ा स्कोर कर्नाटक था, जहां उसे 28 में से 25 सीटें मिलीं थी. 

बीजेपी के ‘अबकी बार, 400 पार’ नारे पर उन्होंने कहा, “यह बिल्कुल वैसा ही प्रचार है जैसा केसीआर ने (2023 के चुनाव में) किया था. उन्होंने दावा किया था कि उन्हें 100 सीटें मिलेंगी लेकिन उन्हें 39 सीटें मिलीं. यह काफी हद तक वैसा ही है जैसा कि केसीआर ने किया था. बीजेपी अब कर रही है… लोगों को भ्रमित करने की कोशिश कर रही है, लेकिन मतदाता बीजेपी को सबक सिखाएंगे.

ये भी पढ़ें- :

Show More

संबंधित खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button