देश

ओडिशा के भुवनेश्वर में वंदे भारत ट्रेन पर पथराव, खिड़की का शीशा क्षतिग्रस्त; बाल-बाल बचे यात्री

भुवनेश्वर में वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन पर पथराव (ANI)

खास बातें

  • ओडिशा के भुवनेश्वर में वंदे भारत ट्रेन पर पथराव
  • वंदे भारत ट्रेन की खिड़की का शीशा क्षतिग्रस्त
  • रेलवे के अभियान के बाद भी नहीं रुक रही पत्थरबाजी

नई दिल्ली:

वंदे भारत एक्सप्रेस पर एक बार फिर से पथराव (Stone Pelted at Vande Bharat Express Train In Odisha) की घटना सामने आई है. ओडिशा में ढेंकनाल-अंगुल रेलवे सेक्शन पर मेरामंडली और बुधपांक के बीच पथराव किया गया. इस घटना में राउरकेला-भुवनेश्वर वंदे भारत एक्सप्रेस (20835) ट्रेन के एक एक्सक्लूसिव क्लास के कोच की खिड़की का शीशा क्षतिग्रस्त हो गया, अधिकारियों ने रविवार को यह जानकारी दी.

यह भी पढ़ें

ये भी पढ़ें-शरद पवार ने बारिश में भीगते हुए दिया भाषण, ताजा हुईं साल 2019 की यादें

वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन पर पथराव

अधिकारियों के मुताबिक, घटना की सूचना ऑन-ड्यूटी आरपीएफ एस्कॉर्टिंग स्टाफ ने दी. सूचना के बाद, ईस्ट कोस्ट रेलवे जोन (ईसीओआर) की सुरक्षा शाखा ने रेलवे आरपीएफ और सरकारी रेलवे पुलिस (जीआरपी) को सतर्क कर दिया. कटक से आरपीएफ के सिक्योरिटी कमिश्नर मौके पर पहुंचे. वंदे भारत ट्रेन पर पथराव की सूचना स्थानीय पुलिस को भी दी गई. रेलवे ने एक बयान जारी कर कहा कि पथराव करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी.

आरोपियों की तलाश कर रही पुलिस

ईसीओआर की दोनों सुरक्षा शाखाएं स्थानीय पुलिस के साथ मिलकर अपराधियों का पता लगाने की कोशिश कर रही हैं. बता दें कि यह पहली बार नहीं है जब देश में वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन को निशाना बनाया गया है. ऐसी ही घटनाएं देश के अन्य हिस्सों से भी सामने आ चुकी हैं. हालांकि, अभी तक किसी भी घटना में ट्रेन में मौजूद किसी भी यात्री को कोई नुकसान नहीं पहुंचा है.

यह भी पढ़ें :-  BJP में जाने की बात अफवाह, कोई किसी भी दल में शामिल होने के लिए स्वतंत्र : कमलनाथ

नहीं रुक रहीं ट्रेन पर पथराव की घटनाएं

 ईस्ट कोस्ट रेलवे (ईसीओआर) खासकर जनता को, विशेष रूप से रेल लाइनों के आसपास रहने वाले लोगों को, ट्रेनों पर पत्थर न फेंकने के लिए शिक्षित करने के लिए लगातार अभियान चला रहा है. इन घटनाओं से यात्रियों को नुकसान हो सकता है. रेलवे और कानून प्रवर्तन एजेंसियों की कोशिशों के बावजूद ट्रेन पर पथराव की घटनाएं बंद नहीं हो रही हैं.

ये भी पढ़ें-दिल्ली जल बोर्ड : ठेकेदारों ने बकाया भुगतान नहीं करने पर काम बंद करने की दी धमकी

Show More

संबंधित खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button