देश

क्या है प्रधानमंत्री सूर्योदय योजना, और क्या हैं इसकी 5 खासियतें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि सूर्योदय योजना से भारत ऊर्जा के क्षेत्र में आत्मनिर्भर बन सकेगा…

नई दिल्ली:
अयोध्या में रामलला (Ramlala in Ayodhya) की प्राण प्रतिष्ठा से लौटते ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने PM सूर्योदय योजना (PM Suryoday Scheme) की घोषणा कर डाली, ताकि देश के गरीबों तथा मध्य वर्ग को बिजली के बिल से राहत मिल सके. इस योजना की घोषणा के लिए प्रधानमंत्री ने ट्वीट करते हुए कहा कि अयोध्या से लौटकर पहला निर्णय लिया गया है कि हमारी सरकार देश के एक करोड़ घरों पर रूफटॉप सोलर पैनल लगाने के लक्ष्य के साथ ‘प्रधानमंत्री सूर्योदय योजना’ प्रारंभ करेगी.

आइए जानते हैं, क्या हैं प्रधानमंत्री सूर्योदय योजना की विशेषताएं…

  1. योजना का लक्ष्य भारत के निम्न तथा मध्य वर्ग के नागरिकों को एक करोड़ घरों पर रूफ़टॉप सोलर पैनल (सूर्य के ताप से ऊर्जा हासिल करने के लिए लगाए जाने वाले पैनल) लगाने का है, ताकि उन नागरिकों को बिजली का बिल कम होने के चलते आर्थिक रूप से राहत हासिल हो सके.

  2. प्रधानमंत्री ने ट्वीट में यह भी कहा कि इस योजना के क्रियान्वयन से भारत भी ऊर्जा के क्षेत्र में आत्मनिर्भर बन सकेगा.

  3. मीडिया रिपोर्टों के अनुसार, इस योजना के लिए जल्द ही वेबसाइट भी लॉन्च कर दी जाएगी, जिसके ज़रिये इच्छुक भारतीय नागरिक आवेदन कर सकेंगे. बताया गया है कि PM ने अधिकारियों से भी राष्ट्रीय स्तर पर अभियान चलाने का आग्रह किया है, ताकि ज़्यादा से ज़्यादा नागरिक रूफ़टॉप सोलर पैनल अपनाने के लिए तैयार हों.

  4. रूफ़टॉप सोलर पैनल एक फोटोवोल्टाइक पैनल होता है, जो किसी भी इमारत की छत पर स्थापित किया जाता है. सूर्य से ऊर्जा ग्रहण करने वाला यह पैनल मुख्य बिजली सप्लाई लाइन से जोड़ दिया जाता है, और ग्रिड से आने वाली बिजली की खपत घटा दिया करता है. इसी के चलते उपभोक्ता का बिजली पर होने वाला खर्च कम हो जाता है.

  5. रूफ़टॉप सोलर पैनल स्थापित करने के लिए एक बार की लागत के अलावा ज़्यादा खर्च नहीं होता है, और उसके रखरखाव में मामूली खर्च आता है.

यह भी पढ़ें :-  "हमारा तिरंगा ही हमारी ताकत..." : PM मोदी ने बताया रूस-यूक्रेन युद्ध से भारतीय छात्रों को कैसे निकाला
Show More

संबंधित खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button