देश

"आपका दौरा सम्मान की बात…", टेस्ला फ़ैक्टरी में पीयूष गोयल से नहीं मिलने पर एलन मस्क ने मांगी माफ़ी

दरअसल, माइक्रो-ब्लॉगिंग वेबसाइट X (अतीत में ट्विटर) के भी मालिक अस्वस्थ होने के चलते पीयूष गोयल से मुलाकात नहीं कर पाए. टेस्ला फ़ैक्टरी के दौरे को लेकर की गई पीयूष गोयल की पोस्ट पर अपनी प्रतिक्रिया में एलन मस्क ने कहा कि वह भारतीय मंत्री की यात्रा से सम्मानित महसूस कर रहे हैं और आने वाले समय में मुलाकात के लिए उत्सुक हैं.

पीयूष गोयल ने टेस्ला की फ़्रेमोंट स्थित अत्याधुनिक फ़ैक्टरी की तस्वीरें शेयर करते हुए लिखा, “कैलिफ़ोर्निया के फ़्रेमोंट में टेस्ला की अत्याधुनिक मैन्यूफ़ैक्चरिंग फ़ैक्टरी का दौरा किया… प्रतिभाशाली भारतीय इंजीनियरों और वित्त पेशेवरों को वरिष्ठ पदों पर काम करते और टेस्ला की उल्लेखनीय यात्रा में योगदान करते देखकर बेहद खुशी हुई…”

यहां देखें पीयूष गोयल के दौरे की तस्वीरें…

सोशल नेटवर्किंग प्लेटफॉर्म X पर पीयूष गोयल ने लिखा, “टेस्ला EV की सप्लाई चेन में भारतीय ऑटो कॉम्पोनेंट सप्लायरों की बढ़ती अहमियत देखकर भी गर्व होता है… यह भारत से अपने कॉम्पोनेंट आयात को दोगुना करने की राह पर है… @ElonMusk की ‘जादुई मौजूदगी’ न होने को महसूस किया, और मैं उनके शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं…”

पीयूष गोयल के पोस्ट के जवाब में एलन मस्क ने लिखा, ”आपका टेस्ला का दौरा करना सम्मान की बात थी…! आज कैलिफ़ोर्निया यात्रा न कर पाने के लिए माफ़ी चाहता हूं, लेकिन मैं आने वाले समय में मुलाकात को लेकर उत्सुक हूं…”

समाचार एजेंसी रॉयटर ने सूत्रों के हवाले से बताया है कि टेस्ला भारत में फ़ैक्टरी की स्थापना के लिए लगातार कोशिश कर रही है, जिसका लक्ष्य देश में ही 24,000 अमेरिकी डॉलर (लगभग ₹19,96,189) कीमत की कार तैयार करना होगा.

यह भी पढ़ें :-  अमेरिका-भारत व्यापार नीति मंच की मंत्रिस्तरीय बैठक के लिए दिल्ली आएंगी कैथरीन

पीयूष गोयल का यह दौरा काफ़ी अहम है, क्योंकि ऐसी ख़बरें मिली हैं कि भारत में फ़ैक्टरी स्थापित करने के लिए भारत सरकार टेस्ला को कस्टम शुल्क में रियायत देने पर विचार कर रही है. पीयूष गोयल ने सितंबर में कहा था कि टेस्ला वर्ष 2022 में 1 अरब अमेरिकी डॉलर (लगभग ₹83.17 अरब) की तुलना में इस वर्ष भारत से लगभग 1.9 अरब अमेरिकी डॉलर (लगभग ₹158.03 अरब) के कॉम्पोनेंट खरीदने जा रही है.

अगस्त, 2021 में एलन मस्क ने कहा था कि अगर टेस्ला आयातित वाहनों के साथ भारत में कामयाब रही, तो वह भारत में ही मैन्यूफ़ैक्चरिंग फ़ैक्टरी स्थापित कर सकते हैं. उन्होंने कहा था कि टेस्ला भारत में अपने वाहन लॉन्च करना चाहता है, “लेकिन वहां आयात शुल्क दुनिया में किसी भी बड़े देश की तुलना में सबसे ज़्यादा हैं…!”

Show More

संबंधित खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button