देश

Paytm Payments Bank पर RBI के एक्शन के बीच CAIT ने व्यापारियों को दी दूसरे पेमेंट ऐप पर शिफ्ट होने की सलाह

जांच में पाया गया कि पेटीएम पेमेंट्स बैंक नियमों का पालन नहीं कर रहा है.

नई दिल्ली:

अखिल भारतीय व्यापारी परिसंघ (Confederation of All India Traders) ने रिज़र्व बैंक द्वारा हाल में पेटीएम पेमेंट्स बैंक पर लगाए प्रतिबंधों को लेकर देशभर के व्यापारियों के लिए सलाह जारी की है. जिसमें कहा गया है कि पेटीएम पेमेंट्स बैंक उपयोगकर्ता अपने धन की सुरक्षा के लिए तुरंत उपाय करें और बिना किसी नुक़सान के अपने वित्तीय लेन-देन को सुनिश्चित करें. CAIT के राष्ट्रीय अध्यक्ष बी.सी भरतिया और राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने कहा कि बड़ी संख्या में छोटे व्यापारी, विक्रेता, महिलाएं हॉकर्स लेन-देन कर रहे हैं. आरबीआई के प्रतिबंध से इन लोगों को परेशानी हो सकती है. 

यह भी पढ़ें

भरतिया और खंडेलवाल ने कहा कि पेटीएम पेमेंट बैंक पर प्रतिबंध का प्रमुख कारण में से एक बिना सही पहचान के बनाए गए करोड़ों अकाउंट थे. इन एकाउंट्स के तहत केवाईसी (अपने ग्राहक की पहचान) की प्रक्रिया पूरी नहीं की थी. इतना ही नहीं इसमें बिना पहचान के करोड़ों रुपये का लेन देन भी किया था. जिसे मनी लाउंड्रिंग की आशंका पैदा हुई है. खबरों के अनुसार आरबीआई के प्रतिबंध लगाने का एक सबसे बड़ा कारण ये रहा कि पेटीएम पेमेंट बैंक के तहत एक पैन पर एक हज़ार से अधिक यूज़र्स के अकाउंट जुड़े हुए थे. इसके अलावा आरबीआई और ऑडिटर्स दोनों द्वारा जांच में पाया गया कि पेटीएम पेमेंट्स बैंक नियमों का पालन नहीं कर रहा है.

CAIT का मानना है कि अगर फण्ड की हेराफेरी का कोई भी सबूत पाया जाता है, तो ईडी को पेटीएम पेमेंट बैंक की जांच करनी चाहिए. भरतिया एवं खंडेलवाल ने व्यापारियों को धन जोखिम कम करने की सलाह देते हुए कहा है कि वो पेटीएम पेमेंट्स बैंक से अपना पैसा तुरंत निकालें. 

यह भी पढ़ें :-  विरासत में मिली हमारी अस्थिर सीमाओं की चुनौतियां हमें उलझाती रहेंगी : सेना प्रमुख जनरल मनोज पांडे

“सीधे यूपीआई के ज़रिए लेन-देन”

दोनों व्यापारी नेताओं ने पेटीएम पेमेंट्स बैंक उपयोगकर्ताओं को सीधे यूपीआई के ज़रिए लेन-देन की सलाह दी है. साथ ही कहा कि  दूसरी बैंकों के पेमेंट ऐप का भी उपयोग किया जा सकता है. दोनों व्यापारी नेताओं ने कहा कि CAIT की सलाह हाल में रिज़र्व बैंक की कार्यवाही के मद्देनज़र व्यापारियों के वित्तीय हितों की सुरक्षा के लिए ज़रूरी है. उन्होंने कहा कि CAIT ऐसी सभी कंपनियों का विरोध करता रहेगा, जो देश के निगम एवं क़ानूनों की कोई चिंता न करते हुए लगातार उल्लंघन करती हैं.

ये भी पढ़ें- 1 PAN पर 1,000 खाते दर्ज: जानें RBI की रडार पर कैसे आया Paytm Payments Bank?

Show More

संबंधित खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button