देश

लोकसभा चुनाव : अमित शाह ने कर्नाटक की सभी सीटें जीतने के लिए दिया 'जीत का मंत्र'

यहां कर्नाटक प्रदेश भाजपा कोर समिति के सदस्यों और पार्टी के मैसूरु समूह के नेताओं के साथ शाह की बैठक के बाद विजयेंद्र ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि आज उम्मीदवारों के चयन पर कोई चर्चा नहीं हुई है और जनता दल (सेक्युलर) के साथ सीट-बंटवारे की शर्तों पर फैसला दोनों पार्टियों का नेतृत्व ‘दिल्ली स्तर’ पर करेगा. भाजपा के मैसूर क्लस्टर में मैसूरु, मांड्या, हासन और चामराजनगर लोकसभा क्षेत्र शामिल हैं.

विजयेंद्र ने कहा, ‘‘अमित शाह का मैसूरु दौरा सफल रहा… उन्होंने कहा कि आगामी लोकसभा चुनाव में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठंधन (राजग) के लिए कर्नाटक की सभी 28 सीटें जीतने के लिए स्थिति अनुकूल है. उन्होंने नरेन्द्र मोदी की लोकप्रियता को वोटों में बदलने के लिए हमारी कार्य योजना के बारे में सुझाव दिए और कहा कि प्रत्येक बूथ पर 10 प्रतिशत वोट बढ़ाने के प्रयास किए जाने चाहिए.”

बैठक के बाद यहां पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने कहा कि आज की बैठकों में भाग लेने वाले सभी नेताओं को विश्वास है कि अगर शाह की कार्ययोजना को बूथ स्तर पर प्रभावी ढंग से लागू किया गया, तो भाजपा और जेडीएस राज्य की सभी लोकसभा सीटें जीत सकती हैं.

उन्होंने कहा, ”हमने भी उन्हें (शाह को) आश्वासन दिया है कि हम उनके मार्गदर्शन के अनुसार एकजुट होकर काम करेंगे.” उन्होंने कहा कि पार्टी के वरिष्ठ नेता के दौरे से पार्टी कार्यकर्ताओं और नेताओं में उत्साह पैदा हुआ है.

वर्ष 2019 के चुनावों में भाजपा ने कर्नाटक की कुल 28 लोकसभा सीटों में से 26 पर जीत हासिल की थी, जिसमें मांड्या से पार्टी द्वारा समर्थित निर्दलीय सुमलता अंबरीश की सीट भी शामिल थी. कांग्रेस और जेडीएस को सिर्फ एक-एक सीट हासिल हुई थी. जदएस ने तब कांग्रेस के साथ मिलकर लोकसभा चुनाव लड़ा था लेकिन वह अब भाजपा के साथ गठबंधन में है.

यह भी पढ़ें :-  पीएम मोदी ने अपने आवास पर जम्मू-कश्मीर के लगभग हर जिले के करीब 250 वंचित छात्रों से बातचीत की

सीट बंटवारे को लेकर क्‍या बोले विजयेंद्र? 

भाजपा और जेडीएस के बीच सीट बंटवारे पर एक सवाल के जवाब में विजयेंद्र ने कहा, ‘इस पर पार्टी के राज्य नेताओं और दिल्ली स्तर पर दोनों दलों के नेतृत्व द्वारा चर्चा की जाएगी. इस बारे में आज कोई चर्चा नहीं हुई है. हालांकि शाह ने संदेश दिया है कि सभी को मिलकर काम करना है, चाहे उम्मीदवार कोई भी हो.”

उन्होंने कहा कि शाह ने एक कार्ययोजना बनाने के बारे में सुझाव दिये हैं और इसे मीडिया के साथ साझा नहीं किया जा सकता. उन्होंने कहा, ”उनके सुझावों पर अमल करके हम नतीजे दिखाएंगे.”

कांग्रेस के आरोपों का तथ्‍यों के साथ देंगे जवाब : रवि  

भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं पार्टी के पूर्व राष्ट्रीय महासचिव सी टी रवि ने कहा कि पार्टी की कोर कमेटी की बैठक में केंद्र के कर्नाटक राज्य के साथ ‘अन्याय’ के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार के आरोपों का तथ्यों के साथ प्रभावी ढंग से मुकाबला करने और लोगों में सही संदेश पहुंचाने का भी निर्णय लिया गया.

कांग्रेस सरकार ने केंद्र सरकार पर कर अंतरण और सहायता अनुदान में राज्य के साथ ‘अन्याय’ करने और कई विकास परियोजनाओं को मंजूरी देने में देरी का आरोप लगाया है. 

ये भी पढ़ें :

* “कई मायनों में रही ऐतिहासिक…” : ओम बिरला ने 17वीं लोकसभा के आखिरी सत्र के समापन पर गिनाईं उपलब्धियां

* ”यदि राज्य सरकारें अवास्तविक चुनावी वादों से खजाना खाली कर देती हैं तो केंद्र मदद नहीं कर सकता” अमित शाह

* इंडिया गठबंधन को एक और झटका! केजरीवाल ने पंजाब की सभी सीटों पर उम्मीदवार उतारने का किया ऐलान

यह भी पढ़ें :-  गीता प्रेस और मुंशी प्रेमचंद की कर्मस्थली गोरखपुर में सालों से बज रहा है बीजेपी का डंका

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को The Hindkeshariटीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Show More

संबंधित खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button