दुनिया

मालदीव पहुंचा चीन का जासूसी जहाज, माले में डेरा डालने को तैयार; हिंद महासागर में भी की मैपिंग

मालदीव पहुंचा चीन का जासूसी जहाज.

नई दिल्ली:

भारत और मालदीव के बीच जारी तनाव के बीच, चीन का एक जहाज (China Research Vessel) मालदीव के जल क्षेत्र में पहुंच गया है, यह इसकी राजधानी माले में डेरा डालने के लिए तैयार है.  चीनी सेना पीएलए का जहाज जियांग यांग होंग-3,  4,300 टन वजन वाला है. इसे हिंद महासागर के सतह की जांच करने वाला ‘रिसर्च वेसिल’ माना गया है.  नौसेना के सूत्रों के मुताबिक चीन का यह जासूसी जहाज समुद्र की सतह की मैपिंग कर भविष्य में पनडुब्बी संचालन के लिए डेटा इकट्ठा कर सकता है,  इसे भारत के लिए एक खतरे के तौर पर देखा जा रहा है. 

यह भी पढ़ें

ये भी पढ़ें-“आखिरी सैलरी से 119 गुना ज्यादा कमाई”: IAS पर अब जांच एजेंसियों का शिकंजा, Paytm से भी कनेक्शन

मालदीव ने दी चीनी जहाज को रुकने की परमिशन

भारत और मालदीव के बीच तनावपूर्ण संबंधों के बीच चीन का जासूसी जहाज जियांग यांग होंग-3 मालदीव के जल क्षेत्र में पहुंच चुका है. अब यह माले की तरफ बढ़ रहा है. मालदीव की मुइज्जू सरकार ने इस चीनी जहाज को राजधानी माले में रुकने की परमिशन दे दी है. चीन के इस जहाज को परमिशन दिए जाने का भारत और अमेरिका ने विरोध किया है. चीन के इस जहाज पर लंबे समय तक सर्वे के नाम पर भारत,श्रीलंका और मालदीव के आर्थिक क्षेत्र में जासूसी करने के आरोप लगते रहे हैं. 

चीनी जहाज ने हिंद महासागर में की मैपिंग 

मालदीव ने पिछले महीने कहा था कि चीनी जहाज जियांग यांग होंग-3 उसके जल क्षेत्र में कोई रिसर्च नहीं करेगा. यह जहाज सिर्फ “रोटेशन और रिप्लेनिश के लिए आएगा. हालांकि, भारत की चिंताएं सिर्फ मालदीव के पानी तक ही सीमित नहीं हैं. चिंताएं उन सभी क्षेत्रों के लिए हैं, जहां यह जहाज संचालित हो रहा है. चीन का जहाज मालदीव और श्रीलंका के बीच जल में जिगजैग मैनर में काम कर रहा है. हिंद महासागर क्षेत्र में चीन के बढ़ते प्रभाव और भारत-मालदीव संबंधों में आई खटास के बीच नई दिल्ली इस जहाज की गतिविधियों पर बारीकी से नजर रखे हुए है. 

यह भी पढ़ें :-  "बहुत बूढ़े, मानसिक रूप से अयोग्य": निक्की हेली ने बताया कि ट्रंप को राष्ट्रपति क्यों नहीं बनना चाहिए

ये भी पढ़ें-राजस्थान पेपर लीक : पैसा कमाने के साथ-साथ परिजनों को भी नौकरी दिला रहे थे मास्टरमाइंड

Show More

संबंधित खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button