देश

दिव्यांगों की सबसे लम्बी सुगम्य जागरुकता राइड संपन्न, रेट्रोफिटेड स्कूटी से पूरा किया 5500 किमी का सफर

ईगल स्पेशियली एबल्ड राइडर्स के आमिर और गोविंदा द्वारा विश्व की सबसे लम्बी सुगम्य जागरुकता राइड पूरी की. 5500 किमी की यात्रा रेट्रोफिटेड स्कूटी द्वारा 10 नवंबर को मॉडर्न स्कूल, बाराखम्बा रोड, दिल्ली से शुरू हुई थी, जिसे 18 दिनों में सफलतापूर्वक संपन्न किया गया.

इस राइड का आयोजन अतुल चंद्रकांत कुलकर्णी, अध्यक्ष, अमेजिंग नमस्ते फाउंडेशन द्वारा किया गया था. दिल्ली में मुख्य अतिथि रंजन मुखर्जी (दिव्यांगजन राज्य आयुक्त, दिल्ली) समेत अन्य गणमान्य द्वारा विश्व की सबसे लम्बी सुगम्य जागरूकता राइड का फ्लैग ऑफ किया गया.

पूर्वोत्तर में राइड का फ्लैग ऑफ असम के राज्यपाल गुलाब चंद कटारिया द्वारा राजभवन, गुवाहाटी से किया गया और राजभवन शिलॉन्ग (मेघालय) में राइडरों का जोरशोर से स्वागत किया गया.

सुगम्य जागरूकता राइड का मकसद दिव्यांगजनों को समाज की मुख्य धारा से जोड़ना, सशक्त बनाना, उनकी गरिमा, समानता और स्वतंत्रता को बढ़ाना व एक समावेशी समाज विकसित करना है. अनिर्बन डे द्वारा राइड को लीड किया गया. राइड कोऑर्डिनेटर प्रसाद जोग थे.
 
“पूर्वोत्तर को जानो, भारत जानो” साहसिक राइड का मकसद पूर्वोत्तर राज्यों के इतिहास, भूगोल, भाषा, खानपान, वेशभूषा, कला-संस्कृति व जनजातीय जीवन को समझना और पूर्वोत्तर को शेष भारत के करीब लाना था.

आमिर ने बताया कि ये यात्रा विश्व की सबसे बड़ी साहसिक राइड थी. राइड के दौरान कई स्थानों पर रुके और दिव्यांगों को जो दिव्यांगता को अपनी कमजोरी समझते हैं, उन्हें दिव्यांगता को ताकत बनाने के लिए उत्साहवर्धन किया. उन्हें प्रेरित किया कि यदि आप कुछ करना चाहते हैं तो आपको कभी भी किसी प्रकार की बाधाएं रोक नहीं सकतीं।

यह भी पढ़ें :-  ईरान ने भारत से गाजा पर इजरायल के हमले को रोकने के लिए "अपनी पूरी क्षमताओं का उपयोग" करने का किया आग्रह

सुगम्य जागरूकता दिल्ली, इटावा, अयोध्या, गोरखपुर, दरभंगा, किशनगंज, जलपाईगुड़ी, गुवाहाटी, शिलांग, डाउकी, हाफलोंग, सिलीगुड़ी, मुजफ्फरपुर, पटना, लखनऊ आदि प्रमुख शहरों से होकर निकली.
 
ईगल स्पेशियली एबल्ड राइडर्स पिछले 6 साल से सुगम्य जागरूकता राइड का आयोजन कर रही है और इस कार्य के लिए टीम को मुख्यमंत्री, कैबिनेट मंत्री, डॉ. बत्रा पीपल चॉइस अवॉर्ड, लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड, इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड, वर्ल्ड रिकॉर्ड्स इंडिया, वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्डस, बुक ऑफ रिकॉर्ड्स इंटरनेशनल और वर्ल्ड बुक ऑफ टैलेंट रिकार्ड्स द्वारा सम्मानित किया जा चुका है. 

यह भी पढ़ें –
— समंदर में भारत की बढ़ेगी ताकत, नेवी को मिलेगा एक और विमानवाहक पोत, चीन को देगा पछाड़
— तेलंगाना की 119 सीटों पर वोटिंग जारी, 3.26 करोड़ मतदाता 2,290 उम्मीदवारों की किस्मत दांव पर

Show More

संबंधित खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button