देश

"AAP नेताओं संग रची थी साजिश….": दिल्ली आबकारी नीति मामले में के. कविता से पूछताछ के बाद ईडी

आप ने एक बयान में कहा, “पहले भी कई मौकों पर ईडी ने इस तरह के बेहद झूठे और तुच्छ बयान जारी किए हैं, जिससे पता चलता है कि एक निष्पक्ष जांच एजेंसी होने के बजाय, यह भाजपा की राजनीतिक शाखा की तरह काम कर रही है.” 

आप ने कहा कि एजेंसी के आरोप हर दिन “झूठ फैलाकर और मीडिया में सनसनी पैदा करके” केजरीवाल और पूर्व उपमुख्यमंत्री मनीष सिसौदिया की छवि खराब करने का एक प्रयास है. आप ने कहा, “ईडी के बयान में कोई नया तथ्य या सबूत नहीं है. 500 से अधिक छापे मारने और हजारों गवाहों से पूछताछ करने के बावजूद उन्होंने इस मामले में एक भी रुपया या सबूत बरामद नहीं किया है.”

दरअसल ईडी ने एक बयान में दावा किया कि जांच में पता चला है कि कविता ने अन्य लोगों के साथ मिलकर दिल्ली आबकारी नीति बनाने और लागू करने में लाभ पाने के लिए अरविंद केजरीवाल तथा मनीष सिसोदिया समेत ‘आप’ के शीर्ष नेताओं के साथ साजिश रची.

एजेंसी ने कहा, ‘लाभ के बदले में वह आप के नेताओं को 100 करोड़ रुपये देने में शामिल थीं.’ बयान में कहा गया है कि दिल्ली आबकारी नीति 2021-22 के निर्माण और कार्यान्वयन में ‘भ्रष्टाचार व साजिश’ से, आप को थोक विक्रेताओं से रिश्वत के रूप में लगातार अवैध धन मिला.

इसमें आरोप लगाया गया है, ‘कविता और उसके सहयोगियों को आप को अग्रिम भुगतान की गई अपराध की आय की वसूल करनी थी और इस पूरी साजिश से अपराध की आय/ मुनाफे को बढ़ाना था.’

यह भी पढ़ें :-  BJP अध्‍यक्ष नड्डा कल छत्तीसगढ़ में करेंगे जनसभाएं और रोड शो, कार्यकर्ताओं के साथ सुनेंगे PM मोदी के 'मन की बात'

एजेंसी ने पिछले सप्ताह कविता की हिरासत का अनुरोध करते हुए विशेष धनशोधन निवारण अधिनियम (पीएमएलए) अदालत को बताया था कि वह ‘दिल्ली आबकारी नीति घोटाले की मुख्य साजिशकर्ता और लाभ हासिल करने वालों में से एक थीं.” कविता ने कहा था कि उन्होंने कुछ भी गलत नहीं किया है. उन्होंने आरोप लगाया था कि केंद्र सरकार ईडी का ‘इस्तेमाल’ कर रही है.

तेलंगाना के पूर्व मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव की बेटी और विधान परिषद सदस्य कविता (46) को ईडी ने पिछले हफ्ते हैदराबाद स्थित उनके आवास से गिरफ्तार किया था और वह 23 मार्च तक जांच एजेंसी की हिरासत में हैं.

देश भर में 245 स्थानों पर छापा मारा: ईडी

ईडी ने कहा कि उसने 2022 में मामला दर्ज होने के बाद से देश भर में 245 स्थानों पर छापा मारा है और दिल्ली के पूर्व उपमुख्यमंत्री और आप के नेता मनीष सिसोदिया, संजय सिंह और कुछ शराब कारोबारियों समेत 15 लोगों को गिरफ्तार किया है. ईडी ने इस मामले में अब तक कुल छह आरोप पत्र दायर किए हैं और 128 करोड़ रुपये से अधिक की संपत्ति कुर्क की है.

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को The Hindkeshariटीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Show More

संबंधित खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button