देश

18वीं लोकसभा का पहला सत्र आज से, सांसदों का शपथ ग्रहण, अध्यक्ष का चुनाव; जानें और क्या-क्या होगा


नई दिल्‍ली:

देश की 18वीं लोकसभा के पहले सत्र (18th Lok Sabha First Session) का पहला दिन आज से शुरू होने जा रहा है. आज सुबह सुबह 10 बजे भाजपा सांसद भर्तृहरि महताब को राष्ट्रपति भवन में राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू प्रोटेम स्पीकर पद की शपथ दिलाएंगी. सुबह 11 बजे लोकसभा की कार्यवाही शुरू होने पर प्रोटेम स्पीकर अन्‍य सदस्यों को शपथ दिलाने का काम शुरू करेंगे. इसके साथ ही सत्र के दौरान 26 जून को लोकसभा अध्यक्ष का चुनाव होगा और 27 जून को राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू दोनों सदनों की संयुक्त बैठक को संबोधित करेंगी. 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सांसद के तौर पर सबसे पहले शपथ लेंगे. पीएम मोदी के शपथ लेने के बाद प्रोटेम स्पीकर की मदद के लिए बनाए गए पैनल के सदस्य सांसद के तौर पर शपथ लेंगे. इस पैनल के सदस्य प्रोटेम स्पीकर की अनुपस्थिति में सदस्यों को शपथ दिलाएंगे. अभी पैनल में 5 सदस्यों को रखा गया है. 

पैनल में कांग्रेस से के सुरेश, बीजेपी के राधा मोहन सिंह और फग्गन सिंह कुलस्ते, डीएमके के टीआर बालू और टीएमसी के सुदीप बंदोपाध्याय शामिल हैं. हालांकि विपक्षी पार्टियों ने कहा है कि उनके सांसद पैनल का हिस्सा नहीं होंगे और इसलिए वो सदस्यों को शपथ नहीं दिलाएंगे. वो के सुरेश को प्रोटेम स्पीकर नहीं बनाए जाने का विरोध कर रहे हैं. 

मंत्रियों में राजनाथ सिंह लेंगे सबसे पहले शपथ 

पैनल के सदस्यों की शपथ के बाद कैबिनेट मंत्रियों का शपथ ग्रहण शुरू होगा. इसमें सबसे पहले राजनाथ सिंह शपथ लेंगे. उसके बाद क्रमवार अमित शाह, नितिन गडकरी, शिवराज सिंह चौहान और मनोहर लाल खट्टर और अन्य कैबिनेट मंत्री शपथ लेंगे. कैबिनेट मंत्रियों के बाद राज्य मंत्री ( स्वतंत्र प्रभार ) और फिर राज्य मंत्री शपथ लेंगे. 

यह भी पढ़ें :-  राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने अंडमान की सेलुलर जेल का दौरा किया

मंत्रियों के शपथ के बाद वर्णमाला क्रम से राज्यों के सांसद शपथ लेना शुरू करेंगे. सबसे पहले अंडमान निकोबार के सांसद विष्णु पद रे उसके बाद आंध्र प्रदेश, फिर अरुणाचल प्रदेश, असम, बिहार और इसी तरह वर्णमाला क्रम में अन्‍य राज्यों के सांसदों को शपथ दिलाई जाएगी. 

राष्‍ट्रपति नई सरकार के कामकाज की रूपरेखा करेंगी पेश

जानकारी के मुताबिक, इस सत्र के पहले तीन दिन में नवनिर्वाचित सदस्य शपथ लेंगे. राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू 27 जून को लोकसभा और राज्यसभा की संयुक्त बैठक को संबोधित करेंगी. साथ ही पांच साल के लिए नई सरकार के कामकाज की रूपरेखा पेश करेंगी.

समझा जाता है कि प्रधानमंत्री मोदी 27 जून को राष्ट्रपति के अभिभाषण के बाद संसद में अपनी मंत्रिपरिषद के सदस्यों का परिचय देंगे. राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान आक्रामक विपक्ष द्वारा राजग सरकार को विभिन्न मुद्दों पर घेरने की कोशिश की जा सकती है. प्रधानमंत्री संसद के दोनों सदनों में, राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा का जवाब देंगे.

संविधान की प्रतियां लेकर संसद तक जाएंगे विपक्षी सांसद 

उधर, 18वीं लोकसभा के पहले सत्र के पहले दिन विपक्षी गठबंधन ‘इंडिया’ के लोकसभा सदस्य आज सुबह संसद परिसर में एकत्र होंगे और एक साथ सदन की ओर मार्च करेंगे. सूत्रों ने यह जानकारी दी. विपक्षी गठबंधन से जुड़े एक वरिष्ठ नेता ने बताया कि सांसद पुराने संसद भवन के गेट नंबर 2 के पास एकत्र होंगे, जहां कभी गांधी प्रतिमा हुआ करती थी. संसद परिसर में सांसदों के लिए लोकप्रिय विरोध स्थल रही गांधी प्रतिमा को हाल ही में परिसर में मौजूद 14 अन्य प्रतिमाओं के साथ स्थानांतरित कर दिया गया. इन सभी को एक ही स्थान ‘प्रेरणा स्थल’ पर स्थापित किया गया है. नेता ने कहा कि कुछ सांसद भारत के संविधान की प्रतियां लेकर चलेंगे और वे सभी संसद भवन तक पैदल जाएंगे. 

यह भी पढ़ें :-  राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने 19 बच्चों को राष्ट्रीय बाल पुरस्कार से किया सम्मानित, खेलों से जुड़ने का किया आग्रह

ये भी पढ़ें :

* “जब मुझे दुर्व्यवहार का सामना करना पड़ा…”: राहुल गांधी का वायनाड की जनता के नाम भावुक पत्र
* कभी भी अस्थिर हो सकती है केंद्र सरकार, कार्यकर्ता पार्टी के जनाधार को युद्धस्तर पर बढ़ाएं : मायावती
* 18वीं लोकसभा के लिए आपने जिन सांसदों को चुना उनका क्या है बैकग्राउंड? जानिए पूरा ब्यौरा


Show More

संबंधित खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button