दुनिया

पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प ने कथित तौर पर लीक कर दिए प्रमुख परमाणु रहस्य

(फाइल फोटो)

पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प पर बार-बार अमेरिकी सिक्रेट को लीक करने का आरोप लगाया गया है, लेकिन उनके खिलाफ सबसे नए आरोपों में अमेरिकी परमाणु शस्त्रागार में कुछ सबसे संवेदनशील हथियारों के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी लीक करना शामिल हैं. 

यह भी पढ़ें

ब्लूमबर्ग की एक रिपोर्ट के अनुसार एबीसी न्यूज और द न्यूयॉर्क टाइम्स ने कहा कि ट्रम्प ने ऑस्ट्रेलियाई अरबपति एंथनी प्रैट को अमेरिकी नौसेना के एलिट पनडुब्बी बेड़े के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी दी – जिसमें वे कितने परमाणु हथियार ले जा सकते हैं और रूसी जहाजों के कितने करीब पहुंच सकते हैं शामिल है. फिर ऑस्ट्रेलियाई अरबपति ने ये जानकारी अपने दर्जनों दोस्तों और संपर्क को दी.

बता दें कि कथित खुलासा उन मामलों की श्रृंखला में लेटेस्ट है जो देश के रहस्यों को बनाए रखने की ट्रम्प की इच्छा के बारे में गंभीर सवाल उठाते हैं. ये एक ऐसा मुद्दा जो अगले साल जो बाइडेन को राष्ट्रपति चुनाव में चुनौती देने के ट्रंप के रास्ते में रुकावट पैदा कर सकती है. 

परमाणु हथियारों के मुद्दों पर कांग्रेस में काम करने के दौरान सर्वोच्च मंजूरी स्तर रखने वाले सुरक्षा विश्लेषक जो सिरिनसिओन ने कहा, “अमेरिकी सरकार में बहुत कम लोग परमाणु पनडुब्बियों के सटीक कंफ्यूगरेशन को जानते हैं.” उन्होंने कहा, अगर यह सच है तो ट्रंप का खुलासा अमेरिकी क्षमताओं के सबसे महत्वपूर्ण ताकत का खुलासा होगा. 

सिरिनसिओन ने कहा, “मुझे कभी भी हमारे परमाणु पनडुब्बियों के सटीक पेलोड के बारे में पता नहीं था और न ही हमारी पनडुब्बी रोधी युद्ध क्षमताओं का विवरण मेरे पास था. मुझे जानने की कोई ज़रूरत नहीं थी. ऑस्ट्रेलियाई अरबपति को भी जानने की कोई ज़रूरत नहीं थी.”

यह भी पढ़ें :-  बेटी मरियम के बजाय भाई शहबाज को क्यों दे रहे पाकिस्तान PM की कुर्सी? क्या है नवाज शरीफ की रणनीति

मालूम हो कि ट्रम्प पहले से ही कार्यालय छोड़ने के बाद अपने फ्लोरिडा हवेली में वर्गीकृत दस्तावेजों को कथित तौर पर रखने, नागरिकों के लिए युद्ध योजनाओं के विवरण का खुलासा करने और दस्तावेजों को वापस पाने के सरकारी प्रयासों में बाधा डालने के 40 मामलों में संघीय अभियोग से जूझ रहे हैं. वे दस्तावेज़ – जिनमें केंद्रीय ख़ुफ़िया एजेंसी और राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी के आकलन शामिल थे – कथित तौर पर बाथरूम और बॉलरूम स्टेज पर लावारिस छोड़ दिए गए थे. 

रिपोर्टों में कहा गया कि  2017 में अपने राष्ट्रपति पद की शुरुआत में ट्रम्प ने इज़राइल से रूस के विदेश मंत्री और राजदूत को संवेदनशील खुफिया जानकारी का खुलासा किया था.

एक सोशल मीडिया पोस्ट में, ट्रम्प ने पनडुब्बी के आरोपों को “झूठा और हास्यास्पद” बताया, यह तर्क देते हुए कि वो केवल प्रैट को बता रहे थे कि अमेरिका दुनिया में सबसे अच्छा सैन्य उपकरण बनाता है. उन्होंने इस दावे को चुनाव में हस्तक्षेप करने की कोशिश बताया.

यह भी पढ़ें –

— इटली में भयानक कार दुर्घटना का शिकार हुई एक्‍ट्रेस गायत्री जोशी पति के साथ मुंबई लौटीं

— एयर इंडिया ने A350 प्लेन का पहला लुक किया जारी, नए लोगो और डिजाइन के साथ देखें नई झलक

Show More

संबंधित खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button