देश

रूस में नौकरी के नाम पर भारतीय युवकों को जंग लड़ने के लिए किया जा रहा मजबूर, CBI ने 7 शहरों में की छापेमारी

रूस में धोखे से कई भारतीयों को प्राइवेट आर्मी वैगनर ग्रुप में शामिल किया गया है (AFP)

नई दिल्ली:

घूमने या नौकरी के लिए रूस गए भारतीय नागरिकों को जबरन आर्मी में शामिल कर यूक्रेन के खिलाफ जंग लड़ने को मजबूर करने की कई खबरें आ रही हैं. इस बीच केंद्रीय जांच एजेंसी (CBI) को इससे जुड़े नेटवर्क का पता चला है. CBI ने गुरुवार को नौकरी के बहाने रूस भेजे जा रहे युवाओं के साथ हुई धोखाधड़ी के खिलाफ 7 शहरों में छापेमारी की. यहां वीजा एजेंटों, फर्मों के खिलाफ एक्शन लिया जा रहा है.

यह भी पढ़ें

हाल ही में नौकरी के लिए रूस गए हैदराबाद के एक शख्स मौत की खबर आई थी. बताया जा रहा है कि शख्स को नौकरी के बहाने रूस बुलाया गया और धोखे से रूस की प्राइवेट आर्मी में भर्ती कर लिया गया. फिर उसे यूक्रेन के खिलाफ जंग लड़ने के लिए मजबूर किया गया. ऐसे मामलों में अब तक 2 भारतीय मारे जा चुके हैं.

CBI ने दिल्ली, तिरुवनंतपुरम, मुंबई, अंबाला, चंडीगढ़, मदुरै, चेन्नई में 13 स्थानों पर तलाशी ली. कथित तस्करों द्वारा विदेश भेजे गए पीड़ितों के कम से कम 35 मामलों की पहचान की गई है.

एक अधिकारी ने कहा, “इस मामले में दुबई स्थित फैसल खान उर्फ ​​​​बाबा का भी नाम है, जो यूट्यूब चैनल बाबा व्लॉग्स चलाता है. खान की फर्म, बाबा व्लॉग्स ओवरसीज रिक्रूटमेंट सॉल्यूशंस प्राइवेट लिमिटेड के अलावा, तीन अन्य कंपनियों का नाम लिया गया है. ये कंपनियां मुंबई, दिल्ली और चंडीगढ़ में हैं. इस मामले में कंपनियों के निदेशक भी आरोपी हैं, लेकिन अभी तक यह स्पष्ट नहीं है कि वे या उनकी कंपनियां खान के साथ काम कर रही थीं या स्वतंत्र रूप से काम कर रही थीं.”

यह भी पढ़ें :-  विदेश मंत्री एस जयशंकर से मिले राष्ट्रपति पुतिन, यूक्रेन के मुद्दे पर भी हुई बात, PM मोदी को दिया रूस आने का न्योता

CBI ने इस मामले में कई लोगों को हिरासत में भी लिया है. कई वीज़ा कंसल्टेंसी फर्म और एजेंट के खिलाफ केस दर्ज किया गया है. 

 

ये भी पढ़ें:-

“रूस से लड़ने के लिए ‘कायर’ न बनें” : यूक्रेन सहयोगियों से बोले मेक्रॉन

रूस घूमने गए थे हरियाणा-पंजाब के 7 लड़के, ठगी कर लड़वाया जा रहा यूक्रेन के खिलाफ युद्ध

यूक्रेन के खिलाफ जंग में भारतीय ने गंवाई जान, एजेंट ने धोखा देकर पुतिन की सेना में करवाया भर्ती

Show More

संबंधित खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button