दुनिया

भुलावे में न रहे ईरान, हम तय करेंगे कब-कहां और कैसे देना है जवाब… : भारत में इजरायल के राजदूत

नई दिल्ली:

इजरायल और फिलीस्तीनी संगठन हमास के बीच चल रही जंग की आग अब मिडिल ईस्ट में फैल रही है. 1 अप्रैल को इजरायल ने सीरिया में ईरानी दूतावास पर हमले किए. जिसके बाद दोनों देशों में तनाव बढ़ गया है. ईरान ने शनिवार (13 अप्रैल) से इजरायल पर ड्रोन और मिसाइल अटैक शुरू कर दिए हैं. मौजूदा हालात के बीच भारत में इजरायल के राजदूत नाओर गिलोन (Naor Gilon) ने कहा, “ये तनाव को बहुत अधिक बढ़ाने वाला मामला है. इसका जवाब दिए बिना नहीं रहा जा सकता. ईरान भुलावे में न रहे. इजरायल के पास जवाब की ताकत है. कब, कहां और कैसे जवाब दिया जाए, ये इजरायल तय करेगा.”

यह भी पढ़ें

भारत में इजरायल के राजदूत नाओर गिलोन ने The Hindkeshariसे खास बातचीत में ये बातें कही. गिलोन ने अमेरिका को इजरायल का अहम सहयोगी बताया. उन्होंने कहा, “अमेरिका का साथ इजरायल के लिए बहुत अहम है. इजरायलियों के प्रति इजरायल सरकार की सौ फीसदी जवाबदेही है. हम उनकी पूरी बात सुनते हैं. इजरायल वो करता है, जो इजरायली जनता के हित में हो.”

विदेश मंत्री जयशंकर ने इजरायल व ईरान के समकक्षों से बात कर तनाव को कम करने की अपील की

नाओर गिलोन ने कहा, “ईरान हमेशा मिडिल ईस्ट को अस्थिर करने में लगा है. उसने एक जहाज़ को अगवा किया, 25 लोग बंधक हैं. इसमें 17 भारतीय भी शामिल हैं. ईरान का इस तरह का व्यवहार पूरी तरह अस्वीकार्य है.” गिलोन ने कहा, “ईरान न्यूक्लिर बम बनाने की फ़िराक में भी है. वह हमेशा इजरायल के विनाश की बात करता है. न्यूक्लियर बम बना लिया, तो वह और विनाशकारी होगा. इसे रोकने के लिए अंतराष्ट्रीय समुदाय को ईरान पर दबाव डालना चाहिए, ताकि ईरान एक सामान्य देश के तौर पर व्यवहार करे.”

गिलोन ने आगे कहा, “ईरान इजरायल और यहूदियों को निशाना बनाता रहा है. सीरिया की राजधानी दमिश्क में हुए हमले की ज़िम्मेदारी हमें लेने की जरूरत नहीं है. अगर वह कांसुलेट था, तो वहां IRGC के कमांडर क्यों थे? ईरान पूरे इलाके में आतंक और हिंसा फैलाने के लिए जिम्मेदार है. हथियार और ट्रेनिंग ईरान की तरफ से दिया जाता है. ईरान के हमले का जवाब इजरायल की सरकार तय करेगी.”

यह भी पढ़ें :-  "गाजा के लोग अगर मिस्र गए तो इजरायल उन्हें कभी वापस आने नहीं देगा", The Hindkeshariसे बोले  फिलिस्तीन नेता

बता दें, नाओर गिलोन (Naor Gilon) भारत में इजरायल के वर्तमान राजदूत के साथ ही श्रीलंका और भूटान में अनिवासी यानी नॉन रेसिडेंट राजदूत हैं. वह नीदरलैंड, इटली और सैन मैरिनो में इजरायल के पूर्व राजदूत रहे हैं.

ईरान के हमले के बाद जी7 ने इजरायल के प्रति ‘पूर्ण समर्थन’ जताया, गाजा पर भी की टिप्पणी

ईरानी एम्बेसी के पास इजरायल ने की थी एयर स्ट्राइक

1 अप्रैल को इजरायल ने सीरिया में ईरानी एम्बेसी के पास एयर स्ट्राइक की थी. इसमें ईरान के दो टॉप आर्मी कमांडर्स समेत 13 लोग मारे गए थे. इसके बाद ईरान ने बदला लेने के लिए इजरायल पर अटैक करने की धमकी दी थी. शनिवार देर रात हमले किए गए. इजरायल की डिफेंस फोर्सेस के प्रवक्ता डेनियल हगारी ने कहा है तनाव के चलते सेना को हाई अलर्ट पर रखा गया है. ईरान दुनिया का सबसे बड़ा टेरर स्पॉन्सर है.

भारत ने ईरान के लिए जारी किया हेल्पलाइन नंबर 

ईरान में भारतीय दूतावास ने तनाव की स्थिति में वहां भारतीय नागरिकों की मदद के लिए एक इमरजेंसी नंबर जारी किया है. भारतीय दूतावास ने कहा, “+989128109115; +989128109109; +989932179567; +989932179359; +98-21-88755103-5; नंबरों पर या कांस डॉट तेहरान एट एमईए डॉट जीओवी डॉट इन पर संपर्क करें.”

‘टाइम्स ऑफ इजरायल’ की रिपोर्ट के मुताबिक हमले के खतरे को देखते हुए नीदरलैंड ने तेहरान में अपने दूतावास को बंद कर दिया है. नीदरलैंड के विदेश मंत्रालय के मुताबिक दूतावास अब सोमवार (15 अप्रैल) को खुलेगा.

“भारतीय अधिकारियों को जब्त किए गए जहाज के भारतीय चालक दल के सदस्यों से मिलने की अनुमति दी जाएगी”: ईरान

यह भी पढ़ें :-  अबू धाबी के पहले हिंदू मंदिर में 27 दिन में 3.5 लाख ज्यादा भक्तों ने किए दर्शन, PM मोदी ने किया था इसका उद्घाटन

Show More

संबंधित खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button