देश

"ज़िन्दगी में कभी नाइंसाफ़ी नहीं होने दी…" : संदेशखाली विवाद पर बोलीं ममता बनर्जी

नई दिल्ली:

पश्चिम बंगाल के संदेशखाली में महिलाओं से यौन हिंसा के आरोपों पर राज्य की सीएम ममता बनर्जी (Mamata Banerjee On Sandeshkhali Violence) ने विधानसभा में कहा कि मैने अपने जीवन में कभी भी अन्याय नहीं होने दिया. मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने विधानसभा में कहा कि हम संदेशखाली के हालात पर नजर बनाए हुए हैं. उन्होंने कहा कि गलत काम में शामिल किसी भी व्यक्ति को नहीं बख्शेंगे. सीएम ने कहा कि संदेशखाली में राज्य महिला आयोग को भेजा और पुलिस की टीम बनाकर 17 लोगों को गिरफ्तार किया गया.

यह भी पढ़ें

ये भी पढ़ें-“हम डर में जी रहे हैं”: पश्चिम बंगाल के संदेशखाली से The Hindkeshariकी ग्राउंड रिपोर्ट

ममता बनर्जी का बीजेपी पर आरोप 

 राजनीतिक बयानबाजी के बीच ममता बनर्जी ने बीजेपी पर उत्तर 24 परगना जिले में विवाद भड़काने का आरोप लगाया. विधानसभा में ममता ने संदेशखाली में अशांति के लिए बीजेपी को जिम्मेदार ठहराया. तृणमूल कांग्रेस चीफ ने कहा कि केंद्र ने ईडी के जरिए स्थानीय तृणमूल नेता शेख शाहजहां को निशाना बनाया.

“पुलिस घर-घर जाकर महिलाओं से मिल रही”

बीजेपी पर हमलावर ममता बनर्जी ने कहा, “पहले, वे इलाके में घुसे और फिर ईडी के माध्यम से शेख शाहजहां को निशाना बनाया और फिर उन्होंने लोगों के जीवन में परेशानी खड़ी करनी रूर दी.” ममता बनर्जी ने कहा कि पुलिस की एक टीम संदेशखाली में महिलाओं से मिल रही है. उन्होंने कहा, “महिलाओं की एक पुलिस टीम घर-घर जाकर देख रही है कि क्या कोई शिकायत है, अगर महिलाएं रिपोर्ट दर्ज करती हैं, तो हम इस पर गौर करेंगे.”

यह भी पढ़ें :-  कलकत्ता हाई कोर्ट का आदेश- संदेशखाली में रेप और जमीन हड़पने के आरोपों की होगी CBI जांच

बता दें कि संदेशखाली की कुछ महिलाओं ने शेख शाहजहां के सहयोगियों पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था. इन आरोपों को लेकर बीजेपी ने राज्य की तृणमूल कांग्रेस सरकार पर हमलावर है. हालांकि टीएमसी इन आरोपों को खारिज कर रही है. पार्टी का कहना है कि  बीजेपी क्षेत्र में अशांति पैदा करने की कोशिश कर रही है.

“हमें मजबूर किया गया…”

 शाहजहां स्थानीय टीएमसी के नेता है, पिछले एक महीने से वह फरार है. एक महीने पहले उसके घर पर छापा मारने के लिए पहुंचे ईडी अधिकारियों पर भीड़ ने हमला कर दिया था. बता दें कि 5 जनवरी को कथित राशन घोटाले के सिलसिले में घर पर छापेमारी के दौरान भीड़ के ईडी की टीम पर हमला किए जाने के बाद से शाहजहां लापता है. एक अन्य महिला ने आरोप लगाया, “शेख शाहजहां के सहयोगियों, शिबू हाजरा और उत्तम सरदार हमें बैठक करने के बहाने रात में भी पार्टी कार्यालय में बुलाते थे.” यह पूछे जाने पर कि क्या यौन उत्पीड़न के आरोप लगाए गए हैं, महिला ने कहा, “वे हमें प्रताड़ित करेंगे… उन्होंने महिलाओं को निशाना बनाया और उनके पतियों को उठाकर पार्टी कार्यालय में डंडे से पीटा, ताकि हम जाने के लिए मजबूर हो जाएं.”

ममता बनर्जी ने किया मनरेगा, आवास योजना का ऐलान 

ममता बनर्जी ने कहा कि उन्होंने आश्वासन दिया था कि 21 फरवरी तक 21 लाख मनरेगा श्रमिकों के लिए धनराशि जारी कर दी जाएगी, लेकिन इसमें कुछ दिन लगेंगे. श्रमिकों की संख्या 24.5 लाख है. सीएम ने कहा कि इनको अधिक धन की जरूरत है, इसलिए इन श्रमिकों का वेतन राज्य सरकार द्वारा 1 मार्च तक वितरित किया जाएगा. ममता बनर्जी ने कहा कि इसके अलावा, अगर केंद्र सरकार अप्रैल तक 11 लाख आवास योजना लाभार्थियों के लिए धनराशि जारी नहीं करती है, तो उनकी सरकार1 मई से इसके लिए धनराशि वितरित करेंगे. 

यह भी पढ़ें :-  CM ममता बनर्जी ने संदेशखाली की महिलाओं के साथ किया मार्च, कहा- PM मोदी के आरोप बेबुनियाद

Show More

संबंधित खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button