दुनिया

"हमास के हमले में कई अमेरिकी नागरिकों की मौत, इजराइल की मदद के लिए भेजे युद्धपोत": US

नई दिल्ली:

इजराइल पर हमास के हमले  (Israel-Hamas Attack) में कई अमेरिकी नागरिकों की भी मौत हो गई है इस बात की पुष्टि एक अमेरिकी अधिकारी ने रविवार को की. उन्होंने कहा कि फिलिस्तीन ग्रुप हमास के इजराइल पर किए गए अचानक हमले में  में कई अमेरिकी नागरिक मारे गए हैं. हालांकि अधिकारी ने मारे गए अमेरिकियों के सही आंकड़े या फिर उनकी पहचान को लेकर कोई डिटेल शेयर नहीं की है. न्यूज एजेंसी एएफपी के हवाले से अमेरिकी राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद के एक प्रवक्ता ने कहा,’हम कई अमेरिकी नागरिकों की मौत की पुष्टि कर सकते हैं. “हम पीड़ितों और प्रभावितों के परिवारों के प्रति अपनी गहरी संवेदना व्यक्त करते हैं.’

यह भी पढ़ें

ये भी पढ़ें-LIVE Updates: “ये हमारे लिए 9/11 जैसा”- फिलीस्तीन के साथ युद्ध में 1000 लोगों की मौत पर इजराइल | युद्ध से जुड़ी खबरें यहां पढ़ें

अमेरिका कर रहा इजराइल की मदद

 हमास के हमले के बाद अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन ने रविवार को इज़राइल में अमेरिकी जहाजों और युद्धक विमानों की तैनाती का आदेश दिया. इससे पता चलता है कि वह अपने सहयोगी देश को हमास के बढ़ते हमलों से सुरक्षित रखना चाहते हैं, यह इजराइल के लिए वाशिंगटन के “अटूट” समर्थन का संकेत है. पेंटागन ने कहा कि वह क्षेत्र में लड़ाकू विमान स्क्वाड्रन को बढ़ावा देते हुए विमानवाहक पोत यूएसएस गेराल्ड आर फोर्ड और उसके साथ आने वाले युद्धपोतों को पूर्वी भूमध्य सागर में भेज रहा है.

इजराइल पर गाजा पट्टी से हुए घातक हमलों के बाद व्हाइट हाउस ने इजरायल के लिए अमेरिकी समर्थन की पुष्टि की और एकजुटता जताई. इजराइल में कई अमेकिकी नागरिकों के मारे जाने की पुष्टि के बाद उन्होंने इस संघर्ष में दूसरे पक्षों से संयम बरतने का आह्वान किया. राष्ट्रपति जो बाइडेन ने रविवार को इजरायली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू से बात की और इजरायली रक्षा बलों के लिए अतिरिक्त सहायता देने का वादा किया, जो अब इजरायल भेजा जा रहा है. 

यह भी पढ़ें :-  इजरायल के हवाई हमले जारी, गाजा में मरने वालों की तादाद बढ़कर 3000 हुई

‘इजराइल के हालात का फायदा उठाने के बारे में कोई ना सोचे’

व्हाइट हाउस ने एक बयान जारी कर कहा कि नेता यह सुनिश्चित करें कि इजरायल के किसी भी दुश्मन को ऐसा ना लगे कि वह मौजूदा हालात का फायदा उठा सकते हैं. उनको इस मौके का फायदा उठाने के बारे में सोचना भी नहीं चाहिए.  राष्ट्रपति बाइडेन ने वादा किया कि वह इजराइल की सरकार को मौजूदा स्थिति से निपटने के लिए पूरा सहयोग देंगे. 

अमेरिका के राज्य सचिव एंटनी ब्लिंकन ने कहा कि इजराइल में  हमलों के बाद लापता और मृत अमेरिकियों की रिपोर्टों को वेरिफाई करने के लिए हम काम में जुटे हुए हैं. उन्होंने ट्विटर पर लिखा कि उन्होंने इज़राइल के खिलाफ आतंकवादी हमलों पर चर्चा करने के लिए फिलिस्तीनी प्राधिकरण के राष्ट्रपति अब्बास से बात की. उन्होंने अपील की है कि  क्षेत्र के सभी नेताओं को आतंकवाद के इन भयावह कृत्य की निंदा करनी चाहिए. 

इजराइल में अब तक 600 लोगों की मौत

बता दें कि इजराइल पर शनिवार को हमास के आतंकियों ने एक साथ 5 हजार से ज्यादा रॉकेट छोड़ दिए थे, जिसकी वजह से इजराइल में करीब 600 लोगों के मारे जाने की जानकारी सामने आई है. वहीं दोनों तरफ से मरने वालों की संख्या एक हजार से ज्यादा हो गई है. हमास का आरोप है कि अमेरिका अपने सहयोगी इजराइल को विमानवाहक पोत देकर उनके खिलाफ काम कर रहा है. 

ये भी पढ़ें-Israel-Hamas War: हमास के हमले के बाद इजराइल में 3 ब्रिटिश नागरिकों की मौत! कई लोग अभी भी लापता

Show More

संबंधित खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button