देश

Tesla में 10 % से ज्यादा स्टाफ की होगी छंटनी, 14,000 कर्मचारियों पर गिरेगी गाज: रिपोर्ट

छंटनी की घोषणा ऑटो डिलीवरी में गिरावट की रिपोर्ट के कुछ दिनों बाद आई है.

एलन मस्क (Elon Musk) द्वारा संचालित इलेक्ट्रिक व्हीकल (EV) बनाने वाली कंपनी टेस्ला छंटनी की तैयारी कर रही है. जानकारी के अनुसार टेस्ला वैश्विक स्तर पर कुल कर्मचारियों में से 10 प्रतिशत कर्मचारियों को नौकरी से निकाल सकती है. कंपनी की तरफ से कर्मचारियों को भेजे गए ईमेल में लागत कम करने की बात कही गई है. electrick.com द्वारा एक्सेस किए गए एक आंतरिक ईमेल में, सीईओ मस्क ने लिखा है कि तेजी से विकास के कारण कंपनी में भूमिकाओं का दोहराव हुआ है और “विकास के अगले चरण” के लिए लागत में कमी आवश्यक है.

14,000 से अधिक कर्मचारियों की जाएगी नौकरी

यह भी पढ़ें

अगर कंपनी यह निर्णय लागू करती है तो इससे 14,000 से अधिक कर्मचारियों की नौकरी चले जाएगी. सीईओ मस्क ने मेल में लिखा है कि “जैसा कि हम कंपनी को विकास के अपने अगले चरण के लिए तैयार कर रहे हैं, लागत में कटौती और उत्पादकता बढ़ाने के लिए कंपनी के हर पहलू को देखना बेहद महत्वपूर्ण है. इस प्रयास के हिस्से के रूप में, हमने संगठन की गहन समीक्षा की है और विश्व स्तर पर हमारे कर्मचारियों की संख्या को 10% से अधिक कम करने का कठिन निर्णय लिया”.

यह घोषणा टेस्ला द्वारा ऑटो डिलीवरी में गिरावट की रिपोर्ट के कुछ दिनों बाद आई है. टेस्ला ने मांग को बढ़ाने के लिए अपनी कारों के दामों में कटौती भी की है, लेकिन इसका असर फिलहाल दिखता नजर नहीं आ रहा है और बिक्री में गिरावट हो रही है.

यह भी पढ़ें :-  यमन में फंसी बेटी को बचाने के लिए महिला को "ब्लड मनी" डील करने की मिली अनुमति

पीएम मोदी से करेंगे मुलाकात

टेक अरबपति इस महीने अपनी भारत यात्रा के दौरान प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी से भी मिलने वाले हैं. एलन मस्क 22 अप्रैल के बाद नई दिल्ली में पीएम मोदी से मुलाकात करें. इस दौरान मस्क अपनी निवेश योजनाओं और देश में 2-3 बिलियन डॉलर के विनिर्माण संयंत्र की स्थापना की घोषणा भी कर सकते हैं. खबरों के मुताबिक ईवी का निर्माण शुरू करने और वाहनों का निर्यात करने के लिए गुजरात, महाराष्ट्र और तमिलनाडु टेस्ला की प्राथमिकता में हैं.

ये भी पढ़ें- सलमान खान के घर के बाहर गोलीबारी करने वाले दोनों आरोपी गिरफ्तार, क्राइम ब्रांच ने गुजरात से पकड़ा

Video : Iran-Israel War: Iran पर जवाबी हमले के पक्ष में नहीं America

Show More

संबंधित खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button