देश

"कृपया हमारे साथ रहें…": एयर इंडिया के सीईओ ने कर्मचारियों को लिखा पत्र

साप्ताहिक संदेश में एयर इंडिया के प्रमुख कैंपबेल विलसन ने शुक्रवार को अपने कर्मचारियों को  एक पत्र लिखा है. पत्र में उन्होंने कर्मचारियों से निवेदन किया है कि वे कंपनी के साथ रहें. विस्तारा संकट के बीच एयर इंडिया के सीईओ का ये पत्र चर्चा में आया है. उन्होंने कर्मचारियों से कहा है, एयरलाइन कंपनी अधिग्रहण के बाद कई चीज़ों में व्यस्त है. 1 अप्रैल से एयर इंडिया, टाटा के अधीन आ गई है. ऐसे में रेवेन्यू मॉडल, ऑडिटिंग, स्टाफ, क्रू मेंबर, पायलट और नए विमानों पर मूल्यांकल हो रही है. 

यह भी पढ़ें

एयर इंडिया के प्रमुख कैंपबेल विल्सन ने पत्र में लिखा कि कुछ हफ्तों में गिनती, रिपोर्टिंग, ऑडिटिंग और बोर्ड की मंजूरी पूरी होने के बाद एयरलाइन कर्मचारियों के साथ “जानकारी साझा” करेगी.

2024-25 के पहले ‘शुक्रवार संदेश’ में विलसन ने कहा, “कंपनी की ऑडिटिंग हो रही है. ये बेहद जरूरी है. बेशक इसमें थोड़ा समय लग रहा है, मगर ये महत्वपूर्ण है. अभी ऑडिटिंग का सिलसिला जारी है. उन्होंने कहा, तब तक आप सभी जुड़े रहिए.

उन्होंने कहा, 27 जनवरी, 2022 को एयर इंडिया का रणनीतिक विनिवेश लेनदेन  पूरा हुआ. यह रणनीतिक कदम तब आया है जब एयरलाइन टाटा (नई कंपनी) के तहत काम करने वाला है.

एयर इंडिया के सीईओ ने कहा,  तीसरे A350 ने महत्वपूर्ण BOM-DEL मार्ग पर सर्विस शुरू कर दी गई है, और दो नए एयरप्लेन A320 को बेड़े में शामिल कर लिए गए हैं. साथ ही साथ, उन्होंने बताया कि एयरलाइन ने ‘कैडेट पायलट’ के पहले बैच को अपने साथ शामिल कर लिया है. ये सभी एक्सपर्ट पायलट अमेरिका से प्रशिक्षित है. महीने के अंत कर सभी हमारे साथ जुड़ जाएंगे.

यह भी पढ़ें :-  मीरा बाई की जयंती पर पीएम मोदी का कल मथुरा दौरा, श्रीकृष्ण के जन्मस्थान भी जाएंगे

विलसन ने कहा एयर इंडिया को नई पहचान दिलाने के लिए हम प्रयासरत हैं. एयर इंडिया के निजीकरण के बाद 4000 नए क्रू को सर्विस के लिए चुना गया है. ये सभी हमारी लीडरशीप में काम करेंगे. सबसे दिलचस्प बात ये है कि ये लोगों की औसत उम्र 28 वर्ष है. ये सभी लोग साथ मिलकर एयर इंडिया को एक नई पहचान दिलाएंगे.

कंपनी के सीईओ ने कहा 1 अप्रैल से कंपनी टाटा के अंतर्गत आ गई है. ऐसे में हम नए रेवेन्यू मॉडल पर काम कर रहे हैं. इसमें कई तरह की चीज़ों को समझने की जरूरत है. फिलहाल इसी दिशा पर काम चल रहा है.

Show More

संबंधित खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button