देश

झारखंड के खूंटी में पीएम मोदी ने दी हजारों करोड़ की परियोजनाओं की सौगात, कहा- देश हमेशा आदिवासी योद्धाओं का ऋणी रहेगा

पीएम मोदी ने कहा कि विशेष रूप से कमजोर जनजातीय समूह (पीवीटीजी) मिशन और ‘विकसित भारत संकल्प यात्रा’ जैसे अभियान देश को नयी ऊंचाइयों पर ले जाएंगे. दो दिवसीय झारखंड दौरे पर पहुंचे मोदी ने मंगलवार रात रांची में 10 किलोमीटर लंबा रोड शो किया और बुधवार को आदिवासी गौरव के प्रतीक बिरसा मुंडा को उनकी जयंती पर श्रद्धांजलि दी, जिसे जनजातीय गौरव दिवस के रूप में मनाया जाता है और यह झारखंड के स्थापना दिवस के मौके पर भी पड़ती है. प्रधानमंत्री ने खूंटी फुटबॉल मैदान में कमजोर जनजातीय समूहों के विकास के लिए 24,000 करोड़ रुपये की योजना की शुरुआत की. उन्होंने ‘विकसित भारत संकल्प यात्रा’ भी शुरू की और राज्य में 7,200 करोड़ रुपये की परियोजनाओं का उद्घाटन एवं शिलान्यास करने के अलावा पीएम-किसान योजना के तहत 18,000 करोड़ रुपये की 15वीं किस्त जारी की.

 झारखंड के लिए लगभग 7,200 करोड़ रुपये की परियोजनाओं का उद्घाटन किया

 प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बुधवार को खूंटी में झारखंड के लिए रेल, सड़क, शिक्षा, कोयला, पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस क्षेत्र से जुड़ी लगभग 7,200 करोड़ रुपये की परियोजनाओं का उद्घाटन किया. पीएम मोदी ने जिन परियोजनाओं का उद्घाटन किया, उनमें भारतीय प्रबंधन संस्थान (आईआईएम)रांची का नया परिसर, आईआईटी-आईएसएम धनबाद का एक नया छात्रावास, बोकारो में पेट्रोलियम तेल और लुब्रिकेंट (पीओएल) डिपो तथा हटिया-पकरा, तलगरिया-बोकारो और जारंगडीह-पतरातू खंडों में रेल पटरियों का दोहरीकरण शामिल है.

जिन परियोजनाओं की आधारशिला रखी जाएगी, उनमें एनएच-133 के महागामा-हंसडीहा खंड के 52 किलोमीटर लंबे खंड को चार लेन का बनाना, एनएच-114 ए के बासुकीनाथ-देवघर खंड के 45 किलोमीटर लंबे खंड को चार लेन बनाना, केडीएच-पूर्णाडीह कोयला संयंत्र का निर्माण और आईआईआईटी-रांची के एक नया शैक्षणिक एवं प्रशासनिक भवन का निर्माण शामिल है.

यह भी पढ़ें :-  प्रियंका और गांधी परिवार केजरीवाल की रिहाई की गुहार लगा रहा, क्या उन्होंने उनसे छुपकर माफी मांगी? : BJP सांसद लहर सिंह सिरोया

प्रधानमंत्री ने कमजोर जनजातीय समूहों के विकास के लिए 24 हजार करोड़ रु की परियोजनाएं शुरू कीं

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने झारखंड के खूंटी से विशेष रूप से कमजोर जनजातीय समूहों के विकास के लिए 24,000 करोड़ रुपये की परियोजनाओं की शुरुआत की. पीएम मोदी ने आदिवासियों के गौरव के प्रतीक बिरसा मुंडा की जयंती और तीसरे ‘जनजातीय गौरव दिवस’ के अवसर पर झारखंड के खूंटी जिले के बिरसा कॉलेज मैदान से ‘प्रधानमंत्री विशेष रूप से कमजोर जनजातीय समूह’ (पीएम पीवीटीजी) मिशन की शुरुआत की जिसके दायरे में लगभग 28 लाख पीवीटीजी आएंगे. आधिकरिक बयान के अनुसार, मिशन के तहत पीवीटीजी क्षेत्रों में सड़क और दूरसंचार कनेक्टिविटी, बिजली, सुरक्षित आवास, स्वच्छ पेयजल और स्वच्छता, शिक्षा, स्वास्थ्य और पोषण तक बेहतर पहुंच तथा टिकाऊ आजीविका के अवसर जैसी बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगी.

पीएम किसान योजना की 15वीं किस्त जारी की

पीएम मोदी ने देश भर के आठ करोड़ से अधिक लाभार्थी किसानों को पीएम किसान योजना की 15वीं किस्त के रूप में 18,000 करोड़ रुपये भी जारी किए. प्रधानमंत्री ने तीसरे जनजातीय गौरव दिवस के अवसर पर यहां एक बटन दबाकर डिजिटल रूप से राशि हस्तांतरित कीय प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (पीएम-किसान) दुनिया की सबसे बड़ी प्रत्यक्ष लाभ अंतरण (डीबीटी) योजनाओं में से एक है, जिसका उद्देश्य किसानों को उनकी कृषि और अन्य आकस्मिक जरूरतों को पूरा करने में सहायता करना है. योजना के तहत लाभार्थी किसानों को प्रति वर्ष 6,000 रुपये की वित्तीय सहायता तीन समान किस्तों में डीबीटी के माध्यम से हस्तांतरित की जाती है.

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

यह भी पढ़ें :-  प्रधानमंत्री का मतलब होता है 'बड़ा भाई' : केंद्र के साथ राज्य के संबंध पर बोले CM रेवंत रेड्डी
Show More

संबंधित खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button