देश

राहुल गांधी BJP के लिए ‘सबसे बड़े स्टार प्रचारक’ हैं : असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा का तंज

हिमंत बिस्वा सरमा ने डिब्रूगढ़ में एक कार्यक्रम से इतर पत्रकारों से कहा, ‘‘राहुल गांधी जहां से भी गुजरते हैं, वहां से कांग्रेस खत्म हो जाती है. वह निरुत्साही, अहंकारी हैं और उनमें नेतृत्व का कोई गुण नहीं है.”

राहुल पर हमले जारी रखते हुए उन्होंने कहा, ‘‘उनके कदम भाजपा के लिए हमेशा सकारात्मक साबित होते हैं. वह भाजपा के लिए सबसे बड़े स्टार प्रचारक हैं.”

मुख्यमंत्री की यह टिप्पणी ऐसे समय आयी है, जब राहुल के नेतृत्व में ‘भारत जोड़ो न्याय यात्रा’ 18 से 25 जनवरी तक असम से गुजरी और इस दौरान दोनों नेताओं के बीच आरोप-प्रत्यारोप देखने को मिला.

इस बीच, यहां राज्य मुख्यालय पर एक कार्यक्रम में कांग्रेस के कई पूर्व नेता और पूर्व छात्र नेता सत्तारूढ़ भाजपा में शामिल हुए. भाजपा में शामिल होने वाले नेताओं में पूर्व मंत्री बिस्मिता गोगोई, प्रदेश युवा कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष अंगकिता दत्ता, अखिल असम छात्र संघ (आसू) के पूर्व अध्यक्ष दीपांकर नाथ और पूर्व आसू सलाहकार प्रकाश दास हैं.

इस कार्यक्रम में प्रदेश भाजपा अध्यक्ष भावेश कालिता, कैबिनेट मंत्री पीयूष हजारिका और पार्टी विधायक तथा नेता भी मौजूद रहे.

इससे पहले, हजारिका ने सोशल मीडिया मंच ‘एक्स’ पर एक पोस्ट में कहा, ‘‘मुझे यह स्वीकार करना होगा कि राहुल गांधी की ‘भारत बस न्याय यात्रा’ का असम में काफी असर पड़ा है. प्रदेश कांग्रेस और आसू के 150 से अधिक नेता आज भाजपा की असम इकाई में शामिल हो रहे हैं.”

युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष के खिलाफ यौन उत्पीड़न के आरोप लगाए जाने के तुरंत बाद पिछले साल ‘पार्टी विरोधी गतिविधियों’ के लिए कांग्रेस से निष्कासित दत्ता ने कहा कि ‘सबसे पुरानी पार्टी’ समय के साथ बदल गयी है.

यह भी पढ़ें :-  कांग्रेस ने दो सप्ताह में लोगों से जुटाए 10 करोड़ रुपये, कोषाध्यक्ष अजय माकन ने दी जानकारी

असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने बिहार में जनता दल (यूनाइटेड) के महागठबंधन से नाता तोड़ने और राज्य में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) में शामिल होने के राजनीतिक घटनाक्रम के बाद कहा कि ‘इंडिया’ गठबंधन का ‘विघटन’ निश्चित है, क्योंकि इसका ‘‘कोई वैचारिक आधार नहीं है.” उन्होंने सोशल मीडिया मंच ‘एक्स’ पर पोस्ट किया, ‘‘इस ‘इंडी’ गठबंधन का विघटन अब निश्चित है. इस गठबंधन का कोई वैचारिक आधार नहीं है.”

हिमंत बिस्वा सरमा ने कहा कि विपक्षी गठबंधन का ‘केवल एक उद्देश्य’ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को हराना है. उन्होंने कहा, ‘‘इस नकारात्मक राजनीति के बावजूद, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी आज विश्व नेता बन गए हैं.” शर्मा ने बाद में एक कार्यक्रम से इतर पत्रकारों से कहा, ‘‘जब ‘इंडी’ गठबंधन बना था, तो हमने सभी से कहा था कि वैचारिक विरोधाभासों के कारण यह अल्पकालिक होगा. उनका एकमात्र लक्ष्य प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी थे. आप केवल एक व्यक्ति का विरोध करने के लिए गठबंधन नहीं बना सकते.”

हिमंत बिस्वा सरमा ने दावा किया कि विपक्षी गठबंधन का ‘विघटन’ अगले लोकसभा चुनाव में मोदी का भारी बहुमत के साथ एक बार फिर से प्रधानमंत्री बनना सुनिश्चित करेगा.

Show More

संबंधित खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button