देश

कॉन्स्टेबल भर्ती केस के मुख्य आरोपी राजीव नयन मिश्रा को नोएडा STF ने गिरफ़्तार किया

पहले भी कई बड़े एग्जाम के पेपर लीक करवा चुका है राजीव नयन मिश्रा.

नई दिल्ली:

यूपी एसटीएफ ने पेपर लीक (UP Constable Paper Leak Case) मामले के मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस ने बुधवार सुबह मुख्य आरोपी राजीव नयन मिश्रा को नोएडा से गिरफ्तार किया है. जानकारी के मुताबिक आरोपी पहले भी कई बड़े एग्जाम के पेपर लीक करवा चुका है और इसके लिए जेल भी जा चुका है. 

18 फरवरी को हुई थी उत्तर प्रदेश पुलिस भर्ती परीक्षा

यह भी पढ़ें

बता दें कि उत्तर प्रदेश पुलिस भर्ती परीक्षा का आयोजन 18 फरवरी को हुआ था और इसके कुछ दिन बाद ही सामने आया था कि परीक्षा के पेपर लीक हुए थे. इसके बाद योगी सरकार ने एग्जाम को दोबारा आयोजित कराने की बात कही थी. साथ ही पेपर लीक मामले की जांच के लिए स्पेशल टीम का भी गठन किया था. 

रेणुका मिश्रा को पुलिस भर्ती बोर्ड के अध्यक्ष पद से हटाया

मामले में सबसे पहली गिरफ्तारी फरवरी में एसटीएफ द्वारा की गई थी. एसटीएफ ने अभ्यर्थियों को व्हॉटएसएप पर सवालों के जवाब भेजने वाले आरोपी नीरज यादव को गिरफ्तार किया था. इसके बाद 5 मार्च को मामले में बड़ा एक्शन लेते हुए उप्र पुलिस भर्ती एंव प्रोन्नति बोर्ड की अध्यक्ष रेणुका मिश्रा को हटा दिया गया था. सरकार ने 1990 बैच की भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) की अधिकारी रेणुका मिश्रा को 14 जून 2023 को महानिदेशक व अध्‍यक्ष उप्र पुलिस भर्ती और प्रोन्नति बोर्ड की जिम्‍मेदारी सौंपी थी. 

मेरठ से 6 आरोपियों को किया गया था गिरफ्तार

इसके बाद जांच के दौरान 6 मार्च को एसटीएफ की टीम ने पेपर लीक मामले में 6 आरोपियों को मेरठ से गिरफ्तार किया था. पुलिस की टीम को आरोपियों के पास 18 फरवरी को हुए सेकेंड शिफ्ट के प्रश्नपत्र के जवाब भी मिले थे. इसके अलावा पुलिस ने आरोपियों से 8 मोबाइल फोन और एक कार भी जब्त की थी. 

यह भी पढ़ें :-  कैसे लीक हुआ यूपी पुलिस भर्ती परीक्षा का पेपर? DGP प्रशांत कुमार ने किया खुलासा

कैसे लीक हुआ था पेपर

यूपी एसटीएफ ने कांस्टेबल पेपर लीक मामले (UP Constable Paper Leak Case) में पेपर लीक के सोर्सेज की पहचान की थी. प्रश्नपत्र गुजरात से लाए जाने के दौरान इसे लीक कर दिया गया था. ये प्रश्नपत्र अहमदाबाद के वेयरहाउस से उत्तर प्रदेश ले जाए जा रहे थे. यूपी पुलिस के मुताबिक फर्म को उत्तर प्रदेश में प्रश्न पत्रों को गोदामों तक पहुंचाना था, लेकिन सीलबंद बक्सों में से एक के साथ छेड़छाड़ की गई. पुलिस ने मामले में तीन मुख्य आरोपियों को गिरफ्तार किया था. 

यह भी पढ़ें : कैसे लीक हुआ यूपी पुलिस भर्ती परीक्षा का पेपर? DGP प्रशांत कुमार ने किया खुलासा

यह भी पढ़ें : एग्जाम से दो दिन पहले रिजॉर्ट में 1000 अभ्यर्थी, ₹7 लाख रिश्वत : पेपर लीक केस सुलझाने की राह पर UP पुलिस

Show More

संबंधित खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button