देश

स्टालिन ने केजरीवाल की गिरफ्तारी को बताया भाजपा की हताशा, बोले-विपक्ष अपनी एकता से चुनाव जीतेगा

स्टालिन का संदेश राज्यसभा में द्रमुक नेता तिरुचि शिवा ने पढ़ा.

नई दिल्ली:

तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एवं द्रविड़ मुन्नेत्र कषगम (द्रमुक) प्रमुख एम. के. स्टालिन ने रविवार को कहा कि विपक्ष एकता के जरिए ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को हरा सकता है. स्टालिन ने यहां ‘इंडिया’ गठबंधन की रैली में अपने संदेश में कहा कि झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की गिरफ्तारी भाजपा की ”आसन्न हार के मद्देनजर बढ़ती हताशा” को दर्शाती है. स्टालिन का संदेश राज्यसभा में द्रमुक नेता तिरुचि शिवा ने पढ़ा. शिवा रैली में पार्टी की ओर से शामिल हुए. शिवा ने उम्मीद जतायी कि इस साल के स्वतंत्रता दिवस पर लाल किले पर राष्ट्रीय ध्वज ‘इंडिया’ गठबंधन के नेता फहराएंगे.

स्टालिन ने अपने संदेश में कहा कि भाजपा आलाकमान विपक्षी गठबंधन के नेताओं को देश के ‘दुश्मन’ के रूप में देखता है और गैर-भाजपा राज्य सरकारों के साथ ‘अत्याचारपूर्ण’ व्यवहार करता है. उन्होंने कहा, ”भाजपा आलाकमान हताशा में गलतियां कर रहा है, क्योंकि विपक्षी दलों ने भाजपा के खिलाफ एक मजबूत गठबंधन बनाया है. हमारे गठबंधन बनाने के बाद ‘इंडिया’ शब्द ही उनके लिए कड़वा हो गया.”

यह भी पढ़ें

तमिलनाडु के मुख्यमंत्री स्टालिन ने कहा, ‘वे लोकतांत्रिक रूप से चुनी हुई सरकारों को गिराने और उनके खिलाफ गठबंधन को तोड़ने जैसी रणनीति में लगे हुए हैं. इसके बाद, उन्होंने हमें डराने के लिए सीबीआई (केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो) आईटी (आयकर विभाग) और ईडी (प्रवर्तन निदेशालय) जैसी जांच एजेंसियों को लगा दिया.’ उन्होंने कहा, ‘‘जो लोग डर के आगे झुक जाते हैं वे भाजपा में शामिल हो जाते हैं और उनके खिलाफ सभी कार्रवाइयां रोक दी जाती हैं, यहां तक कि उनके खिलाफ मामले भी वापस ले लिए जाते हैं. हालांकि, यदि कोई उनकी धमकी के खिलाफ खड़े होने की हिम्मत करता है, तो उसे गिरफ्तार कर लिया जाता है और जेल में डाल दिया जाता है. यह भारत में एक अघोषित आपातकाल जैसा लगता है.’

यह भी पढ़ें :-  दीया कुमारी और प्रेम चंद बैरवा होंगे राजस्थान के डिप्टी CM, वासुदेव देवनानी बनेंगे स्पीकर

उन्होंने ‘इंडिया’ गठबंधन के नेताओं को अपना विरोध मजबूती से जारी रखने का आह्वान करते हुए कहा, ‘यदि मोदी दोबारा सत्ता में आए, तो भारत की लोकतांत्रिक और संवैधानिक विशेषताएं उखाड़ फेंक दी जाएंगी.” स्टालिन ने कहा, ‘‘हमें यह नहीं भूलना चाहिए कि हम अपनी एकता से ही मोदी को हरा सकते हैं. कई राज्यों में गठबंधन का गठन सुचारू रूप से आगे बढ़ रहा है. राज्यों में इससे संबंधित बातचीत को जल्द ही अंतिम रूप दिया जाएगा ताकि हम अपना प्रचार अभियान तुरंत शुरू कर सकें.”

उन्होंने केजरीवाल की ‘गैरकानूनी गिरफ्तारी’ की व्यक्तिगत रूप से और द्रमुक की ओर से भी कड़ी निंदा की. उन्होंने कहा कि सोरेन और केजरीवाल की गिरफ्तारी से ‘इंडिया’ गठबंधन को दरकिनार नहीं किया जा सकता. उन्होंने कहा, ‘इसके बजाय, वे केवल हमारे संकल्प को मजबूत करते हैं. हम सभी राज्यों में ऐसा ही देख रहे हैं.’ उन्होंने दावा किया, ”कुछ महीने पहले तक भाजपा अहंकारी थी, उन्हें विश्वास था कि वे किसी भी तरह चुनाव जीत जाएंगे. हालांकि, हर दिन, वे हार के करीब पहुंच रहे हैं.” उन्होंने कहा कि भाजपा अब अपने एजेंडे को उजागर करने पर उतर आई है, जैसे नागरिकता (संशोधन) अधिनियम, समान नागरिक संहिता और राम मंदिर. हालांकि इनमें से किसी भी उपाय से मदद नहीं मिल रही है.

स्टालिन ने यह भी कहा कि भाजपा अच्छी तरह से जानती है कि केजरीवाल के चुनावी प्रचार अभियान में भारी भीड़ उमड़ेगी और इसीलिए प्रधानमंत्री मोदी ने उनके प्रचार को रोकने के लिए उन्हें गिरफ्तार करवाया है. द्रमुक नेता ने कहा, ‘केजरीवाल की गिरफ्तारी से प्रधानमंत्री मोदी का घटता समर्थन और कम हुआ है. मेरे मित्र केजरीवाल न केवल जेल के अंदर से अपने राज्य का नेतृत्व कर रहे हैं, बल्कि वह ‘इंडिया’ गठबंधन में हम सभी के लिए प्रेरणास्रोत के रूप में भी काम कर रहे हैं.”

यह भी पढ़ें :-  '400 पार' के लिए BJP की हाईप्रोफाइल बैठक, 50% सीटों पर मंथन; 1-2 दिन में नामों का होगा ऐलान

Show More

संबंधित खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button