देश

यदि 400 लोग नामांकन दाखिल कर दें तो राजगढ़ में चुनाव मतपत्र से होगा : दिग्विजय सिंह

दिग्विजय सिंह लगातार ईवीएम को लेकर सवाल खड़े करते रहे हैं.

आगर मालवा:

मध्य प्रदेश की राजगढ़ लोकसभा सीट से चुनाव लड़ रहे कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने रविवार को कहा कि वह 400 लोगों से नामांकन दाखिल कराने का प्रयास कर रहे हैं ताकि चुनाव मतपत्र से हो. सिंह ने यह बात सुसनेर के कचनारिया गांव में एक नुक्कड़ सभा के दौरान लोगों से यह पूछने के बाद कही कि वे क्या चाहते हैं, चुनाव ईवीएम (इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन) से या मतपत्र से हो.

मतपत्र से चुनाव के नारे लगा रही भीड़ से सिंह ने कहा, ‘इसके (मतपत्र से चुनाव) लिए एक ही रास्ता है. अगर 400 उम्मीदवार नामांकन पत्र भरें. मैं इसके लिए तैयारी कर रहा हूं. सामान्य वर्ग के उम्मीदवार को 25,000 रुपये की जमानत राशि जमा करनी होगी, जबकि आरक्षित श्रेणियों के लोगों को 12,500 रुपये जमा करने होंगे.’

यह भी पढ़ें

सिंह ने कहा कि इस तरह, राजगढ़ में मतपत्र के माध्यम से चुनाव होंगे, देखते हैं क्या होता है. प्रत्येक ईवीएम में प्रति निर्वाचन क्षेत्र नोटा सहित अधिकतम 384 उम्मीदवार हो सकते हैं. एक बैलेट यूनिट में नोटा सहित कुल 16 उम्मीदवार आ सकते हैं और 24 ऐसी इकाइयों को एक साथ नियंत्रण इकाई से जोड़ा जा सकता है.

दिग्विजय सिंह अपनी आठ दिवसीय ‘वादा निभाओ यात्रा’ पदयात्रा के पहले दिन बोल रहे थे. सिंह ने चुनावों के लिए ईवीएम के इस्तेमाल का विरोध किया है और भारतीय जनता पार्टी की जीत के लिए इसकी उपस्थिति को जिम्मेदार ठहराया है.

वहीं पड़ोसी राज्य छत्तीसगढ़ में, दुर्ग के एक भाजपा नेता ने निर्वाचन आयोग को पत्र लिखकर ईवीएम को बाधित करने के कदम के बारे में बोलने के लिए पूर्व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के खिलाफ कार्रवाई की मांग की. बघेल राजनांदगांव से कांग्रेस के उम्मीदवार हैं.

यह भी पढ़ें :-  नारायण राणे का फिर से महाराष्ट्र का सीएम बनने का ख्वाब अधूरा, अब लोकसभा में पहुंचने के लिए मशक्कत

पत्र में, भाजपा नेता ने बघेल पर पार्टी कार्यकर्ताओं से यह कहने का आरोप लगाया कि ‘यदि 384 से अधिक उम्मीदवार एक सीट से चुनाव लड़ते हैं तो निर्वाचन आयोग मतपत्र के माध्यम से चुनाव कराने के लिए मजबूर होगा.”

 

Show More

संबंधित खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button