देश

"भारत जोड़ो का असल एजेंडा भारत तोड़ो है…", केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद जोशी ने कांग्रेस पर साधा निशाना

केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद जोशी ने भारत जोड़ो न्याय यात्रा पर साधा निशाना

नई दिल्ली:

कांग्रेस इन दिनों देश के कई राज्यों से होकर गुजरने वाली भारत जोड़ो न्याय यात्रा निकाल रही है. यह यात्रा मणिपुर से शुरू होकर मुंबई में समाप्त होगी. इस यात्रा के दौरान कांग्रेस नेता राहुल गांधी कई राज्यों से होते हुए गुजरेंगे. अभी तक वह ओडिशा तक का सफर तक कर चुके हैं. राहुल गांधी ने इस यात्रा के दौरान केंद्र सरकार पर रह-रह कर निशाना साधा है. लेकिन अब केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद जोशी ने राहुल गांधी और कांग्रेस पर पलटवार किया है. प्रह्लाद जोशी ने कहा है कि कांग्रेस इस यात्रा की मदद से भारतीयों को भारत के खिलाफ एकजुट कर रही है. उन्होंने इसे लेकर सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर एक ट्वीट भी किया है.

यह भी पढ़ें

इस ट्वीट में उन्होंने लिखा है कि कांग्रेस भारतीयों को भारत के खिलाफ एकजुट कर रही है. कांग्रेस इसे भारत जोड़ो कहती है लेकिन एजेंडा असल में भारत तोड़ो है! एनडीए ने यूपीए की तुलना में कर्नाटक को 247% अधिक दिया है और केवल विकास पर ध्यान केंद्रित किया है. हमारी राजनीति विकास के लिए है. उनकी तो सिर्फ राजनीति है, विकास भूल जाओ!

यह भी पढ़ें :-  "महुआ मोइत्रा घूसकांड केस से दुनिया भर में भारतीय सांसदों की छवि हुई धूमिल" : BJP

ओडिशा पहुंची भारत जोड़ो न्याय यात्रा

बता दें कि कांग्रेस की भारत जोड़ो न्याय यात्रा अब ओडिशा पहुंच गई है. राहुल गांधी ने यात्रा के ओडिशा पहुंचने पर राज्य के लोगों से खास आह्वान भी किया. राहुल गांधी ने कहा था कि वह उनकी समस्याओं को सुनेंगे भी और उन्हें हल करने का प्रयास भी करेंगे. गांधी के नेतृत्व में ‘भारत जोड़ो न्याय यात्रा’ मंगलवार को झारखंड से ओडिशा के सुंदरगढ़ जिले के बीरमित्रपुर पहुंची थी. ओडिशा कांग्रेस के नेताओं ने पार्टी के पूर्व अध्यक्ष का भव्य स्वागत किया था. राहुल गांधी ने सभा को संबोधित करते हुए कहा था कि वह यात्रा के दौरान सात से आठ घंटे तक लोगों की बात सुन रहे हैं और हर दिन 15 मिनट तक उन्हें संबोधित भी कर रहे हैं.

राहुल ने कहा था कि लोगों को न्याय दिलाने के लिए उन्होंने यह यात्रा शुरू की है. देश को एकजुट करने के लिए भारत जोड़ो यात्रा के पहले संस्करण 2022-23 के तहत कन्याकुमारी से कश्मीर के बीच लगभग 4,000 किलोमीटर की दूरी तय की गई थी और यह यात्रा “नफरत व अन्याय” के खिलाफ है. उन्होंने कहा, यह सफल रही क्योंकि लाखों लोगों ने यात्रा में भाग लिया.

राहुल गांधी ने कहा था कि हालांकि, झारखंड, ओडिशा, पश्चिम बंगाल और पूर्वोत्तर भारत के राज्यों के लोगों ने मुझसे कहा कि उनके राज्य से यात्रा नहीं गुजरी. उन्होंने दावा किया था कि भाजपा और आरएसएस इन राज्यों में भी नफरत फैला रही है और अन्याय कर रही है. 

यह भी पढ़ें :-  भाजपा राष्ट्रीय पदाधिकारियों की बैठक में PM मोदी ने UP और MP का उदाहरण देकर यह काम सौंपा

Show More

संबंधित खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button