देश

Video: अमेरिका के गुरुद्वारे में खालिस्तानी प्रदर्शनकारियों ने भारतीय राजदूत संग की धक्का-मुक्की

ये भी पढ़ें-PM मोदी ने तिरुपति मंदिर में किए दर्शन, 140 करोड़ भारतीयों के स्वास्थ्य के लिए प्रार्थना की

गुरुद्वारे में भारतीय राजदूत संग धक्का-मुक्की

भारतीय राजदूत और खालिस्तानी प्रदर्शनकारियों के बीच बातचीत का एक वीडियो वायरल हो गया है. वीडियो की शुरुआत में राजदूत  प्रदर्शनकारियों से यह कहते हुए सुने जा सकते है कि वह सेवा के लिए गुरुद्वारे पहुंचे हैं. वहीं एक प्रदर्शनकारी पंजाबी भाषा में  चिल्लाते हुए सुना जाता है, “आप हरदीप सिंह निज्जर की हत्या के लिए जिम्मेदार हैं, आपने पन्नू को मारने की साजिश रची.” वीडियो में अन्य लोग स्थिति को शांत करने की कोशिश करते नजर आ रहे हैं. प्रदर्शनकारी भारतीय राजदूत संधू से पूछ रहे हैं, “आप जवाब क्यों नहीं देते?”

 

प्रदर्शनकारियों ने लगाए गंभीर आरोप

बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता आरपी सिंह ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर एक वीडियो पोस्ट में लिखा, “खालिस्तानियों ने गुरपतवंत (एसएफजे) की हत्या की असफल साजिश और खालिस्तान जनमत संग्रह अभियान में भूमिका के लिए निराधार सवालों के साथ भारतीय राजदूत तरनजीत संधू को घेरने की कोशिश की.” उन्होंने आगे लिखा कि हिम्मत सिंह ने इस विरोध प्रदर्शन का नेतृत्व किया. न्यूयॉर्क के हिक्सविले गुरुद्वारे में खालिस्तानियों का नेतृत्व करने वाले हिम्मत सिंह ने हरदीप सिंह निज्जर की हत्या में भारत की भूमिका के लिए राजदूत संधू पर भी आरोप लगाया.

भारतीय राजदूत ने शेयर की गुरुद्वारे की तस्वीरें

यह भी पढ़ें :-  26/11 मुंबई आतंकी हमले की 15वीं बरसी...166 लोगों की गई थी जान, नाव से आए थे आतंकी

गुरुद्वारे में अपनी यात्रा का जिक्र भारतीय राजदूत ने एक्स पर एक पोस्ट के जरिए किया. हालांकि उन्होंने अपने साथ हुई धक्का-मुक्की का जिक्र नहीं किया. उन्होंने पोस्ट में लिखा, “गुरुपुरब मनाने के लिए लॉन्ग आइलैंड के गुरु नानक दरबार में अफगानिस्तान समेत स्थानीय संगत के साथ शामिल होने का सौभाग्य मिला- कीर्तन सुना, गुरु नानक के एकजुटता, एकता और समानता के शाश्वत संदेश के बारे में बात की, लंगर खाया और सभी के लिए आशीर्वाद मांगा. “

बता दें कि खालिस्तानी आतंकी हरदीप निज्जर की हत्या कनाडा के ब्रिटिश कोलंबिया में एक पार्किंग स्थल में कुछ नकाबपोश लोगों ने गोली मारकर कर दी थी. इस घटना के महीनों बाद, कनाडाई प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने हत्या में भारतीय एजेंटों की भूमिका का आरोप लगाया था, जिसके बाद एक बड़ा राजनयिक विवाद पैदा हो गया था. हालांकि भारत ने इन आरोपों को “बेतुका” और “प्रेरित” बताया. जिसके बाद विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा कि भारत किसी जांच से इनकार नहीं कर रहा, लेकिन हम चाहते हैं कि कनाडा अपने आरोपों के समर्थन में सबूत मुहैया कराए.

ये भी पढ़ें-हमास ने 17 बंधकों के तीसरे बैच को किया रिहा, 14 इजरायली और 3 विदेशी नागरिक शामिल

Show More

संबंधित खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button