देश

चुनावी बॉन्ड का सबसे बड़ा खरीदार किस पार्टी का है सबसे बड़ा दानदाता? ED ने जब्त की है संपत्ति

मार्टिन ने किशोरावस्था में लॉटरी टिकट बेचने का काम शुरू किया था.

नई दिल्ली:

‘लॉटरी किंग’ सेंटियागो मार्टिन का फ्यूचर गेमिंग चुनावी बॉन्ड का सबसे बड़ा खरीदार है. उसने 1,368 करोड़ रुपयों के चुनावी बॉन्ड खरीदे. चुनावी बॉन्ड खरीद कर उसने सबसे ज्यादा लगभग 37 प्रतिशत द्रमुक (DMK) को दान दिया. ‘फ्यूचर गेमिंग एंड होटल सर्विसेज’ ने द्रमुक को 509 करोड़ रुपयों का दान दिया.  द्रमुक के अन्य प्रमुख दानदाताओं में मेघा इंजीनियरिंग ने 105 करोड़ रुपये, इंडिया सीमेंट्स ने 14 करोड़ रुपये और सन टीवी ने 100 करोड़ रुपये दान दिए. निर्वाचन आयोग के आंकड़ों से रविवार को यह जानकारी सामने आई.

चुनाव आयोग द्वारा गुरुवार को अपनी वेबसाइट पर अपलोड किए गए आंकड़ों के अनुसार, सेंटियागो मार्टिन की फ्यूचर गेमिंग और होटल सर्विसेज ने 2019 और 2024 के बीच ₹ 1,368 करोड़ के चुनावी बॉन्ड खरीदे. यह रकम दूसरे सबसे बड़े दानदाता से 40% अधिक है.

यह भी पढ़ें

कौन है सेंटियागो मार्टिन?

मार्टिन ने किशोरावस्था में लॉटरी टिकट बेचने का काम शुरू और रियल एस्टेट साम्राज्य का निर्माण किया. उनके गैर-लाभकारी मार्टिन चैरिटेबल ट्रस्ट के अनुसार, उन्होंने म्यांमार में एक किशोर मजदूर के रूप में काम किया और 1980 के दशक के अंत में भारत लौट आए और कोयंबटूर में अपना व्यावसायिक करियर शुरू किया. उनकी दो अंकों की लॉटरी ने क्षेत्र में लोकप्रियता हासिल की और मार्टिन ने अन्य राज्यों और अंततः पड़ोसी देशों भूटान और नेपाल तक बिजनेस का विस्तार किया.  पिछले कुछ वर्षों में, जांच एजेंसियों ने उनके खिलाफ मामलों के संबंध में उनके व्यावसायिक परिसरों की तलाशी ली है और संपत्तियों को जब्त किया है. प्रवर्तन निदेशालय द्वारा संपत्ति जब्ती के खिलाफ उनकी अपील पिछले साल खारिज कर दी गई थी.

यह भी पढ़ें :-  "मध्य प्रदेश को शिवराज ने जन्नत बना दिया": CM आवास पहुंचे इस कलाकार ने बांध दिया शमा 
मार्टिन ने किसी भी गलत काम करने से इनकार किया है. उनके समूह, मार्टिन ग्रुप ने अक्टूबर में कहा कि समूह और उसकी कंपनियां कानून का पालन करती हैं और मार्च 2003 के वित्तीय वर्ष में मार्टिन भारत के सबसे बड़े करदाता थे.

टीएमसी को कांग्रेस से ज्यादा मिली रकम

भाजपा (BJP) को 2018 में चुनावी बॉन्ड (Electoral Bond) योजना लागू होने के बाद इसके माध्यम से सबसे अधिक 6,986.5 करोड़ रुपये की धनराशि प्राप्त हुई. इसके बाद पश्चिम बंगाल की सत्तारूढ़ पार्टी तृणमूल कांग्रेस (TMC) को 1,397 करोड़ रुपये, कांग्रेस (Congress) को 1,334 करोड़ रुपये और बीआरएस (BRS) को 1,322 करोड़ रुपये मिले. चुनावी बॉन्ड से सबसे ज्यादा दान पाने वालों की पार्टियों में TMC दूसरे, कांग्रेस तीसरे और बीआरएस चौथे नंबर की पार्टी है.

Show More

संबंधित खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button