देश

"आप तो मुश्किल घड़ी में विदेश से लोगों को बचा लाए…": मजदूरों ने PM मोदी से कही दिल छूने वाली बात

केदारनाथ और बद्रीनाथ बाबा की कृपा रही : PM

देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने फोन पर सुरक्षित निकले मजदूरों से बात की और कहा, “मजदूरों और बचाव दल के हौसले को सलाम करता हूं.” फोन पर बात करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि सबसे पहले मैं सभी साथियों को बधाई देता हूं कि वे इतने बड़े संकट से निकले. मेरे लिए ये बहुत खुशी की बात है. मैं शब्दों में इसका वर्णन नहीं कर सकता. कुछ भी बुरा हो जाता तो मन को कैसे संभाल पाता ये कहना कठिन है. केदारनाथ और बद्रीनाथ बाबा की कृपा रही कि सभी सुरक्षित बाहर निकले. 

पीएम मोदी ने कहा कि सुरंग के भीतर 16-17 दिन का समय कम नहीं होता. आप सभी ने बहुत बड़ी हिम्मत दिखाई. एक-दूसरे का हौसला बनाए रखा. पीएम ने संयम बनाए रखने की तारीफ करते हुए कहा कि ऐसे समय तो रेल के डिब्बे में भी साथ चलते हैं तू-तू मैं-मैं हो जाती है. आपने धैर्य रखा, बहुत अच्छा था. मैं लगातार जानकारी लेता रहता था. मुख्यमंत्री धामी जी से लगातार संपर्क में था. 

पूरे ऑपरेशन को लेकर चिंता थी : PM

उन्होंने कहा कि पीएमओ के अफसर भी वहीं थे. लेकिन जानकारी से समाधान तो होता नहीं. पूरे ऑपरेशन को लेकर चिंता थी. मैं आपके माध्यम से सबको शुभकामनाएं देता हूं. आप सभी के परिवारों का पुण्य भी सामने आया.

पीएम मोदी ने बात करते हुए एक मजदूर ने कहा कि हम इतने दिन टनल में फंसे रहे लेकिन हमें घबराहट या बेचैनी जैसा महसूस नहीं हुआ. 41 लोग साथ थे, सभी एक-दूसरे के साथ भाई जैसे रहते थे. खाना भी मिलजुलकर खाते थे. खाने के बाद टनल में टहल कर भी आते थे. मॉर्निंग में भी हम टहलते और योग करते थे. उत्तराखंड सरकार और सीएम धामी का शुक्रिया अदा करेंगे. वे बराबर हमारा हालचाल लेते थे.

यह भी पढ़ें :-  क्या कतर से नेवी ऑफिसरों को छुड़ाने में शाहरुख खान की थी भूमिका? बॉलीवुड के किंग खान ने क्या कहा

वीके सिंह ने अपनी सैनिक वाली ट्रेनिंग दिखाई : PM

मजदूरों ने कहा हम जैसे ही बाहर निकले तो सीएम धामी और केंद्रीय मंत्री वीके सिंह ने हमें गले लगाया. इस पर पीएम मोदी ने जवाब दिया कि वीके सिंह ने अपनी सैनिक वाली ट्रेनिंग दिखाई. वे लगातार वहां मौजूद थे.

सुरंग के 41 लोगों में से एक और मददगार गब्बर सिंह नेगी से पीएम मोदी ने कहा कि मैं आपको तो विशेष रूप से बधाई दूंगा. आपने और आपके साथी ने जो लीडरशिप और जज्बा दिखाया, जिस तरह से सबको संभाला. ये तो सीखने वाली बात है. इस पर गब्बर सिंह नेगी ने कहा कि सर आपका आशीर्वाद था. 

देश में तो हम बचा ही लिए जाते : मजदूर

उन्होंने कहा कि सीएम पुष्कर सिंह धामी से लगातार संपर्क में थे. कंपनी भी हमारी फैमिली ही है. उन्होंने भी बहुत सहयोग किया. केंद्र और राज्य सरकार के साथ एनडीआरएफ और एसडीआरफ ने दिनरात मेहनत की. हमें गर्व है कि आप जैसे प्रधानमंत्री हमारे हैं. आप तो मुश्किल घड़ी में विदेश से लोगों को बचा लाए. देश में तो हम बचा ही लिए जाते. अपने साथियों के लिए ये कहना चाहूंगा कि मुश्किल घड़ी में भी उन्होंने हमारी बात धैर्य से सुनी और मानी, हौसला नहीं छोड़ा. 

इस पर पीएम मोदी ने कहा कि आप सभी के परिवारवालों का इस मुश्किल घड़ी में दुखी होना स्वाभाविक है. कोई और होता तो बहुत गुस्सा भी करने लगता, लेकिन आपके परिवारवालों ने बहुत संयम बरता. पूरे ऑपरेशन के दौरान सहयोग बनाए रखा. 

देश ही नहीं, विदेश तक लोग चिंतत थे : PM 

यह भी पढ़ें :-  सचिन तेंदुलकर परिवार संग गए J&K घूमने, PM मोदी ने VIDEO शेयर कर दी युवाओं को 2 सलाह

पीएम मोदी ने आगे कहा कि मैं चाहता था कि बाहर निकलते ही सभी को एंबुलेस के जरिए अस्पताल में भर्ती किया जाए. मुझे खुशी हुई जब डॉक्टरों ने बताया कि मजदूरों को मेडिकली कोई समस्या नहीं है. सभी की कंडीशन बहुत बढ़िया है. 

यूपी के अखिलेश ने पीएम मोदी को बताया कि मैं मिर्जापुर का हूं तो इस पर पीएम ने कहा कि मैं भी यूपी वाला हूं. अखिलेश ने बताया कि हमें तो सुरक्षित निकलने की खुशी थी ही साथ ही हमसे ज्यादा ऑपरेशन में बाहर लगे लोगों को थी. इस पर पीएम ने जवाब दिया कि हां सभी को खुशी है. देश ही नहीं, विदेश तक लोग चिंतत थे. आपके बारे में पूछते थे. सभी को खुशी है. 

पीएम मोदी ने कहा कि जब सुरंग में छेद करके सामान भेजा जाने लगा तो हमें लगा कि हम संभाल पाएंगे. सभी टीमों ने अच्छा काम किया.  इस पर अखिलेश ने कहा कि हम सबका हौसला सीएम धामी ने बढ़ाया. एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की टीमों ने बहुत मदद की. हमारे परिवारवालों से हमारी बात करवाई, इससे भी हमें अपने आपको संभालने में मदद मिली. 

देशवासियों की दुआ ने भी काम किया : PM

पीएम मोदी ने हल्के-फुल्के अंदाज में ये भी कहा कि एक साथ के भाई ने तो यहां तक कह दिया था कि जैसे ही मेरा भाई निकलेगा, मैं ले जाऊंगा, यहां काम नहीं करने दूंगा. 

बिहार स्थित छपरा के सोनू कुमार ने पीएम मोदी से कहा कि बहुत-बहुत धन्यवाद सर. कंपनी और एनडीआरएफ समेत सभी टीमों ने हमारी सहयता की. हमारे घर वालों से बात करवाई जिससे हमारा मन हल्का रहता था. पीएम ने कहा कि आपने जो हिम्मत दिखाई वह आने वाले दिनों में नागरिकों को प्रेरणा देगी. आपके परिवार की तपस्या और देशवासियों की दुआ ने भी काम किया. आप सभी को शुभकामनाएं.

यह भी पढ़ें :-  "इस आधार पर मराठा कोटा प्रदान करेंगे": महाराष्ट्र कांग्रेस प्रमुख

यह भी पढ़ें –

— बिहार : छुट्टियों पर विवाद के बीच विभाग ने दी सफाई, कहा – सामान्य और उर्दू स्कूलों के लिए अलग कैलेंडर

— बाहर निकले 41 मजदूर सुरक्षित, अब उत्तराखंड की सुरंग ढहने के कारण का लगाया जा रहा पता

Show More

संबंधित खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button