देश

राम मंदिर पर अब तक 1100 करोड़ खर्च, पूरा तैयार होने तक 1400 करोड़ खर्च का अनुमान : The Hindkeshariसे राममंदिर ट्रस्ट के कोषाध्यक्ष

नए राममंदिर के दूसरे तल पर राम परिवार की स्थापना होनी बाकी है.

Ram temple: 22 जनवरी को प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम पूरा हो गया. आम लोगों के लिए रामलला के दर्शन आज से शुरू हो चुके हैं. भक्तगण भारी संख्या में नए राम मंदिर के दर्शन करने आ रहे हैं. हालांकि, नए राम मंदिर में अभी कई और काम बाकी हैं. जानकारी के मुताबिक, दूसरा तल बनना अभी बाकी है. शिखर का काम और जो मूर्तियां लग चुकी हैं उनका भी फिनिशिंग और पॉलिशिंग कुछ मात्रा में होनी हैं. दूसरे तल पर राम परिवार (Shri Ram Parivar) की स्थापना होनी बाकी है. जानकारी के मुताबिक, दूसरे तल पर राम-सीता विराजमान होंगे. उनके साथ भरत, लक्ष्मण, शत्रुघ्न और हनुमान जी की मूर्ति लगनी है.

यह भी पढ़ें

श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के कोषाध्यक्ष स्वामी गोविंद देव गिरि जी महाराज (Swami Govind Dev Giri) ने The Hindkeshariसे एक्लूसिव बातचीत में बताया कि नए राम मंदिर परिसर में कुल 13 मंदिर बनना है. जिनमें 5 प्रमुख देवताओं (गणपति, सूर्य, शिव, विष्णु और देवी) के मंदिर शामिल हैं. उन्होंने बताया कि नए राम मंदिर परिसर में 6 मंदिर बनेंगे और परिसर के बाहर 7 मंदिर बनेंगे. हनुमान जी का एक अलग मंदिर बनेगा. जहां सीता रसोई है वहां अन्नपूर्णा माता की स्थापना होगी. वहीं से आम लोगों को मंदिर का प्रसाद मिलेगा.

ट्र्स्ट के पास अभी 3000 करोड़ 

श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के कोषाध्यक्ष स्वामी गोविंद देव गिरि जी महाराज ने The Hindkeshariको बताया कि लगभग 1100 करोड़ रुपए अब तक खर्च हो चुके हैं. हमारा अनुमान है कि 1400 करोड़ रुपये पूरे मंदिर निर्माण पर खर्च होंगे. उन्होंने जानकारी दी कि हम लोगों के पास करीब 3000 करोड़ रुपए अभी बचे हैं.

यह भी पढ़ें :-  जिस भव्यता से प्रधानमंत्री का स्वागत हुआ, वह नए भारत की नयी अयोध्या का दर्शन कराता है: सीएम योगी

अभी तक विदेशों से किसी तरह का दान प्राप्त नहीं हुआ

उन्होंने बताया कि अभी भी देश भर से दान मिल रहे हैं. हालांकि, उन्होंने बताया कि अभी तक विदेशों से किसी तरह का दान प्राप्त नहीं हुआ है. उन्होंने कहा कि FCRA की सुविधा नहीं होने के कारण विदेशों से दान नहीं लिया जा सका है. उन्होंने The Hindkeshariको बताया कि अगले 2-3 महीनों में विदेशों से भी दान आने लगेंगे.

नए राम मंदिर में IIT का बड़ा हाथ

श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के कोषाध्यक्ष स्वामी गोविंद देव गिरि ने The Hindkeshariको बताया कि IIT रुड़की, IIT गुवाहाटी, IIT सूरत, IIT मुंबई, IIT कानपुर और IIT के विशेषज्ञों की सलाह और मार्गदर्शन मिला है. उन्होंने कहा कि हमेशा इन संस्थानों के विशेषज्ञों ने सहायता की है. अब मंदिर की सुरक्षा को लेकर कोई चिंता नहीं है. उन्होंने कहा कि इनके मार्गदर्शन के बिना हम यह काम पूरा नहीं कर पाते.

इसे भी पढ़ें- रामलला ने सिर से पांव तक पहने हैं कौन-कौन से 17 आभूषण? जानिए हर डिटेल

Show More

संबंधित खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button