देश

छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले में हत्या आरोपियों के घरों पर की गई बुलडोजर कार्रवाई

प्रतीकात्मक तस्वीर

दुर्ग:

छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले के भिलाई शहर में एक हत्याकांड के तीन आरोपियों के घरों में कथित अवैध निर्माण को बुलडोजर के जरिए ध्वस्त कर दिया गया है. अधिकारियों ने बताया कि यह कार्रवाई स्थानीय नगर निगम के राजस्व निरीक्षक (आरआई) और पटवारी की रिपोर्ट के आधार पर की गई.

यह भी पढ़ें

उन्होंने बताया कि जिन घरों पर कार्रवाई की गई वे छावनी थाना क्षेत्र के अंतर्गत शारदापारा इलाके में 17 वर्षीय लड़के शिवम की हत्या के आरोपी निकेश चौहान, सुमित चौहान और एक नाबालिग लड़के के हैं.

पुलिस के मुताबिक, इस वर्ष 21 जनवरी को आपसी झड़प में शिवम की चाकू से गोदकर हत्या कर दी गई थी. इसके बाद पुलिस ने इन तीनों समेत पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया था. अधिकारियों ने बताया कि आरआई और पटवारी ने अपनी जांच में पाया कि तीनों परिवारों ने अपनी निर्धारित जमीन से अधिक क्षेत्रफल पर मकान बनाए हैं.

अधिकारियों ने बताया कि अतिरिक्त भूमि पर अतिक्रमण के लिए उन्हें नोटिस दिया गया और नगर पालिका अधिनियम के अनुसार आगे की कार्रवाई की गई. स्थानीय भाजपा विधायक रिकेश सेन ने कार्रवाई का स्वागत किया और चेतावनी दी कि उनके निर्वाचन क्षेत्र वैशाली नगर में अपराध करने वालों को भी इसी तरह की कार्रवाई का सामना करना पड़ेगा.

सेन ने एक वीडियो संदेश में कहा है, ”12वीं कक्षा के छात्र शिवम की हत्या के आरोपियों के घर पर बुलडोजर की कार्रवाई की गई. मैंने 22 जनवरी (हत्या के बाद) को कहा था, अगर कोई (भारतीय दंड संहिता की धारा) 302 (हत्या) या 307 (हत्या का प्रयास) या छेड़छाड़ या किसी अन्य अपराध में लिप्त पाया गया, तो उसे इस तरह की कार्रवाई का सामना करना पड़ेगा. मेरे विधानसभा क्षेत्र में अपराधी अब सतर्क रहें.” राज्य के कबीरधाम जिले में अधिकारियों ने एक गौशाला कर्मी की हत्या के मुख्य आरोपी के घर पर भी इसी तरह की कार्रवाई की थी.

यह भी पढ़ें :-  उत्तराखंड के टनल में चल रहे रेस्क्यू ऑपरेशन के आखिरी चरण में फिर आई अड़चन, रुका काम

ये भी पढ़ें- सेना प्रमुख जनरल मनोज पांडे अमेरिका की चार दिवसीय यात्रा पर हुए रवाना

ये भी पढ़ें- उत्तराखंड : बनभूलपुरा में 120 शस्त्र लाइसेंस निरस्त किए गए, कर्फ्यू केवल बनभूलपुरा तक ही सीमित

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को The Hindkeshariटीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Show More

संबंधित खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button