देश

गुजरात : भावनगर में दलित महिला की पीट-पीटकर हत्या

भावनगर:

गुजरात के भावनगर में दो लोगों द्वारा कथित रूप से बुरी तरह पिटाई किये जाने के बाद 45 वर्षीय एक दलित महिला की मौत हो गयी. इस महिला ने अपने बेटे को इन दोनों के खिलाफ उत्पीड़न के दर्ज मामले को वापस लेने के लिए मनाने से इनकार कर दिया था जिससे वे नाराज थे. एक अधिकारी ने यह जानकारी दी. पुलिस उपाधीक्षक आर आर सिंघल ने बताया कि रविवार शाम को गीताबेन मारू को उनके घर के पास ही दोनों आरोपियों ने अपने दो अन्य साथियों के साथ मिलकर स्टील के पाइप से बुरी तरह पीटा था और रविवार सुबह उन्होंने (गीताबेन ने) दम तोड़ दिया.

यह भी पढ़ें

उन्होंने संवाददाताओं को बताया कि आरोपियों ने मारू को अपने बेटे को अनुसूचित जाति/जनजाति उत्पीड़न रोकथाम अधिनियम के तहत उनके खिलाफ दर्ज मामले को वापस लेने के लिए राजी करने तथा समझौता कर लेने को कहा था लेकिन उन्होंने (मारू ने) ऐसा करने से इनकार कर दिया था. सिंघल ने कहा, ‘‘मारू के दम तोड़ने से पहले ही रविवार रात में हमने उनकी शिकायत का संज्ञान ले लिया था और इस हमले को लेकर शैलेष कोली, उसके मित्र रोहल कोली तथा उनके दो अज्ञात साथियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर ली थी. हमने उनकी धरपकड़ के लिए तीन टीम गठित की है.”

उन्होंने कहा कि भादंसं के तहत हत्या, हमला और आपराधिक धौंसपट्टी तथा अनुसूचित जाति/जनजाति रोकथाम अधिनियम की संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है. मारू की मौत से नाराज उनके परिवार के सदस्य एवं स्थानीय दलित नेता सर तख्तसिंहजी सामान्य अस्पताल के बाहर इकट्ठा हो गये और उन्होंने धमकी दी कि जबतक इस हमले में शामिल चारों आरोपियों को गिरफ्तार नहीं किया जाता है तबतक वे शव नहीं लेंगे.

यह भी पढ़ें :-  "क्या हम मरने वाले हैं?": अपहरण के आरोपों के बीच मणिपुर में गोलीबारी में 9 लोग घायल

प्राथमिकी के अनुसार कोली द्वय और उनके साथी रविवार शाम में मारू से उनके घर के पास मिले और उन्होंने उनसे अपने बेटे गौतम को उसकी शिकायत के आधार पर तीन साल पहले दर्ज किये गये मामले को वापस लेने के लिए राजी करने को कहा. पुलिस के मुताबिक जब मारू ने समझौते की उनकी पेशकश ठुकरा दी तब चारों स्टील के पाइप से उन्हें मारने लगे. आरोपियों ने नजदीक की एक दुकान के सीसीटीवी कैमरे को भी तोड़ दिया तथा वहां जुटे लोगों को भगा दिया.

प्राथमिकी के अनुसार चारों ने मारू को बचाने के लिए पहुंचे उनके पति एवं बेटी को धमकाया तथा उन्हें वहां से भागने को मजबूर कर दिया. आरोपियों ने मारू को यह भी धमकी दी कि यदि गौतम पिछले मामले को वापस लेते हुए समझौते के लिए राजी नहीं होता है तो वे उसकी टांगें तोड़ देंगे. पुलिस के अनुसार वहां से जाने से पहले आरोपियों ने घायल महिला को मकान खाली कर अपने परिवार के साथ कहीं और चले जाने का कहा. मारू को परिवार के सदस्यों ने एंबुलेंस मंगाकर अस्पताल पहुंचाया जहां डॉक्टरों ने पुलिस को सूचित किया कि उनके बाये हाथ और बाये पैर में चार जगह पर हड्डियां टूट गयी हैं तथा उनके पीठ एवं कमर में भी चोट लगी है.

ये भी पढ़ें-:

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Show More

संबंधित खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button