देश

किसानों के प्रदर्शन के चलते पुलिस ने लाल किले को सुरक्षित घेरे में लिया

2 वर्ष पहले 26 जनवरी के दिन यहां किसान प्रदर्शन के दौरान तोड़फोड़ हुई थी.

पंजाब के प्रदर्शनकारी किसानों ने आज सुबह दिल्ली की ओर मार्च शुरू कर दिया है. उनके साथ केंद्रीय मंत्रियों की पांच घंटे से अधिक की बैठक बेनतीजा रही. किसानों की मुख्य मांग फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य पर कोई समाधान नहीं निकला है. किसानों ने कहा कि हम अपनी मांगों को पूरा करवाकर ही जाएंगे. हम 6 महीने का राशन लेकर आए हैं. किसानों के प्रदर्शन के चलते दिल्ली का लाल किला पूरी तरह से बंद कर दिया गया है चारों तरफ बैरिकेटिंग और कंटेनर लगा दिए गए हैं. 2 वर्ष पहले 26 जनवरी के दिन यहां किसान प्रदर्शन के दौरान तोड़फोड़ हुई थी और उत्पात मचाया गया था. पूर्व घटना को ध्यान में रखते हुए पुलिस ने लाल किले को सुरक्षित घेरे में ले लिया है.

यह भी पढ़ें

बता दें कि किसानों के प्रदर्शन को देखते हुए पहले से ही दिल्ली के बॉर्डर पर सुरक्षा के जबरदस्त इंतजाम किए गए हैं. दिल्ली आने वाले सभी बॉर्डर को सील कर दिया गया है. सिंघु बॉर्डर, टीकरी बॉर्डर और गाजीपुर बॉर्डर पर बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात है. इसके अलावा दिल्ली पुलिस पूरे मामले पर नज़र बनाई हुई है. सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए 

यहां पुलिस ने कंटीले तारों के अलावा बैरिकेड, सीमेंट के बड़े-बड़े ब्लॉक, कंटेनर और दूसरे अवरोधक भी लगाए हैं. सिंघु बॉर्डर पर पुलिस ने कंट्रोल रूम बनाने के अलावा CCTV कैमरे भी लगाए है. ड्रोन की मदद से इलाक़े की निगरानी भी की जा रही है. पुलिस ने कई बार मॉक ड्रिल भी की है. दिल्ली में 12 मार्च तक धारा 144 भी लगी हुई है. इन बॉर्डर से आने को लेकर दिल्ली पुलिस ने एडवाइज़री भी जारी की है.

यह भी पढ़ें :-  Cyclone Michaung: चक्रवात 'माइचौंग' तमिलनाडु के तट के करीब पहुंचा, पेड़ उखड़े... कई हिस्सों में भारी बारिश

इसे भी पढ़ें- किसान आंदोलन : शंभू बॉर्डर पर पुलिस की सख्ती, जमा भीड़ पर दागे आंसूगैस के गोले

Show More

संबंधित खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button