देश

किसान आंदोलन : शंभू बॉर्डर पर पुलिस की सख्ती, जमा भीड़ पर दागे आंसू गैस के गोले

Farmers Protest: केंद्र और किसानों के बीच सहमति न बनने के बाद किसानों ने दिल्ली कूच शुरू कर दिया है. फेतहगढ़ साहेब से शंभू बॉर्डर पर जमा हुई किसानों की भीड़ पर पुलिस ने सख्ती दिखाते आंसू गैस के गोले दागे, जिसके बाद वहां अफरातफरी मच गई. बता दें कि किसानों के प्रदर्शन को देखते हुए पहले से ही दिल्ली के बॉर्डर पर सुरक्षा के जबरदस्त इंतजाम किए गए हैं. दिल्ली आने वाले सभी बॉर्डर को सील कर दिया गया है. सिंघु बॉर्डर, टीकरी बॉर्डर और गाजीपुर बॉर्डर पर बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात है.

दिल्ली में 12 मार्च तक धारा 144

यह भी पढ़ें

यहां पुलिस ने कंटीले तारों के अलावा बैरिकेड, सीमेंट के बड़े-बड़े ब्लॉक, कंटेनर और दूसरे अवरोधक भी लगाए हैं. सिंघु बॉर्डर पर पुलिस ने कंट्रोल रूम बनाने के अलावा CCTV कैमरे भी लगाए है. ड्रोन की मदद से इलाक़े की निगरानी भी की जा रही है. पुलिस ने कई बार मॉक ड्रिल भी की है. दिल्ली में 12 मार्च तक धारा 144 भी लगी हुई है. इन बॉर्डर से आने को लेकर दिल्ली पुलिस ने एडवाइज़री भी जारी की है.

सरकार और किसानों की बातचीत रही बेनतीजा

सोमवार को सरकार और किसानों के बीच देर रात तक चली बातचीत बेनतीजा रही. किसानों का प्लान है कि वे पहले दिल्ली के पास बॉर्डर पर जमा होंगे और दोपहर तीन बजे आगे की रणनीति के बारे में फैसला करेंगे.सरकार का कहना है बातचीत जारी रहेगी वहीं दूसरी तरफ़ किसान भी आगे बातचीत को लेकर तैयार हैं. किसानों ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके कहा कि सरकार ने MSP का वादा किया था उसके दो साल निकल गए…बहुत कुछ कर सकते थे. किसानों ने कहा कि हम अनाज उगाते हैं सरकार ने हमारे लिए कीलों की फसल उगाई है. 

यह भी पढ़ें :-  दिल्ली में घुसने से पहले प्रदर्शनकारी किसानों को पुलिस ने रोका, सभी बॉर्डर पर धारा-144, नोएडा में भयंकर जाम

जगह-जगह लगा ट्रैफिक जाम, लोग परेशान

वहीं सिंघु बॉर्डर पर आम लोगों को पुलिस बैरिकेडिंग की वजह से आने जाने में दिक्कतों का सामना करना पर रहा है. लोगों को अपने परिवार के साथ काफी दूर तक पैदल चलना पड़ रहा है. गुरुग्राम से लेकर गाजीपुर तक पुलिस की बैरिकेडिंग की वजह से जाम की स्थिति बनी हुई है. आम लोगों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है

Show More

संबंधित खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button