दुनिया

Elon Musk भारत में लगाएंगे Tesla का प्लांट, 2-3 बिलियन डॉलर का करेंगे निवेश : रिपोर्ट

नई दिल्ली:

इलेक्ट्रिक व्हीकल कंपनी टेस्ला (Tesla) के मालिक एलन मस्क (Elon Musk) अगले हफ्ते अपने पहले भारत दौरे पर आ रहे हैं. मस्क प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) से मुलाकात करेंगे. इस दौरान वह भारत में टेस्ला की फैक्ट्री लगाने के लिए 2 से 3 अरब डॉलर के निवेश का ऐलान भी करने वाले हैं. न्यूज एजेंसी ‘रॉयटर्स’ ने मामले से जुड़े दो सूत्रों के हवाले से यह जानकारी दी है. रिपोर्ट के मुताबिक, एलन मस्क सोमवार (22 अप्रैल ) को पीएम मोदी से मिलेंगे. उम्मीद है कि इसी दौरान वे दुनिया के तीसरे सबसे बड़े ऑटो मार्केट में टेस्ला की एंट्री की घोषणा करेंगे.

यह भी पढ़ें

न्यूज एजेंसी ‘रॉयटर्स’ की रिपोर्ट के मुताबिक, टेस्ला ने पहले ही नई दिल्ली और मुंबई में शोरूम के लिए लोकेशन की तलाश शुरू कर दी है. उसकी बर्लिन फैक्ट्री राइट-हैंड ड्राइव कारों का प्रोडक्शन कर रही है. कंपनी ने इन्हें इस साल के आखिर में भारत में निर्यात करने का टारगेट रखा है. सूत्रों ने बताया कि एलन मस्क स्पेस स्टार्टअप के साथ नई दिल्ली में भारत सरकार द्वारा आयोजित एक प्रोग्राम में भी शामिल हो सकते हैं. बता दें कि मस्क अमेरिकी स्पेस कंपनी SpaceX और सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म X (पहले ट्विटर) के भी मालिक हैं.

कई सालों से मस्क इलेक्ट्रिक व्हीकल्स पर भारत के हाई इंपोर्ट टैक्स का विरोध करते रहे हैं. वो इसे बदलने की पैरवी कर रहे थे. एक महीने पहले भारत सरकार ने EV पॉलिसी में बदलाव किया था. नई पॉलिसी के अनुसार, कुछ मॉडल्स के इंपोर्ट पर इंपोर्ट ड्यूटी 100% से घटाकर 15% कर दिया गया था. इसके लिए निवेशकों को कम से कम 50 मिलियन डॉलर (करीब 4,172 करोड़ रुपये) निवेश करना होगा. सरकार के इस नई पॉलिसी से लंबे समय से भारत में आने का रास्ता तलाश रही अमेरिकी बिजनेसमैन एलन मस्क की EV कंपनी टेस्ला के लिए भारत में एंट्री आसान हो गई.

यह भी पढ़ें :-  दक्षिण भारत में BJP कितनी लोकसभा सीटें जीतेगी? रेवंत रेड्डी ने बताया

भारत में होनी चाहिए इलेक्ट्रिक कारें-मस्क

मस्क ने इस हफ्ते X पर कहा था कि भारत में इलेक्ट्रिक कारें होनी चाहिए जैसे कि हर दूसरे देश में हैं. भारत में टेस्ला इलेक्ट्रिक व्हीकल उपलब्ध कराना जरूरी हो गया है. मस्क ऐसे समय भारत आ रहे हैं, जब यहां चुनाव होने हैं. वहीं, इस समय अमेरिकी और चीनी बाजारों में EV की मांग धीमी हुई है. चीनी व्हीकल्स से भी टेस्ला को कॉम्पिटिशन मिल रहा है.

भारत का  EV मार्केट अभी छोटा है, लेकिन ये तेजी से बढ़ रहा है. यहां अभी स्थानीय कार निर्माता टाटा मोटर्स का दबदबा है. 2023 में कुल कार बिक्री में EV की हिस्सेदारी सिर्फ 2% थी. सरकार का इसे 2030 तक 30% तक पहुंचाने का लक्ष्य है.

अंतरराष्ट्रीय मंच पर 2 बार मिल चुके हैं मोदी-मस्क

पीएम मोदी और एलन मस्क अब तक 2 बार मिल चुके हैं. दोनों कि 2015 में कैलिफोर्निया में टेस्ला फैक्ट्री में मुलाकात हुई थी. इसके बाद जून 2023 में दोनों न्यूयॉर्क में मिले थे.

ये भी पढ़ें- : 

Show More

संबंधित खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button