दुनिया

"हमास से छुड़ाए गए बंधक हमारे साथ सुरक्षित और स्वस्थ": इजरायल सेना ने दो बंधकों को कराया रिहा

सात अक्टूबर को युद्ध शुरू होने के बाद से गाजा में कुल 67,611 लोग घायल हुए हैं.

इजरायली सेना ने सोमवार को गाजा के दक्षिण में स्थित राफा शहर में एक विशेष ऑपरेशन चलाकर दो बंधकों को रिहा करवाया है. अक्टूबर में दक्षिणी इज़रायल पर हमास के हमलों के दौरान 253 लोगों का अपहरण किया गया था. इन 253 बंधकों में 61 वर्षीय फर्नांडो मार्मन और 70 वर्षीय लुईस हर शामिल थे. जिन्हें अब हमास की कैद से रिहा करवा लिया गया है. इजरायली सेना के अनुसार, आईडीएफ (इजरायल डिफेंस फोर्सेज), शिन बेट और स्पेशल पुलिस यूनिट ने राफा में एक जॉइंट रेस्क्यू ऑपरेशन चलाकर इन्हें रिहा करवाया.

यह भी पढ़ें

आईडीएफ के अनुसार, बचाए गए दोनों बंधकों का स्वास्थ्य ठीक है और उन्हें आगे की मेडिकल जांच के लिए इजरायल में स्थानांतरित कर दिया गया है. 

आईडीएफ ने एक्स पर इनकी रिहाई का वीडियो जारी कर लिखा कि “बंधक हमारे साथ हैं, सुरक्षित और स्वस्थ हैं”. वह क्षण देखें जब कल राफा में ऑपरेशन के दौरान बंधकों फर्नांडो साइमन मार्मन और लुइस हर को बचाया गया था.

इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू द्वारा हमास की संघर्ष विराम शर्तों को अस्वीकार करने और दक्षिणी गाजा शहर में हमले बढ़ाने का संकल्प व्यक्त करने के बाद गाजा पट्टी के राफा में इजरायली हवाई हमलों में कम से कम 13 लोग मारे गए हैं.

अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने गाजा में इजरायल की सैन्य कार्रवाई को ‘‘अविश्वसनीय” बताया है और कहा है कि वह युद्ध में संघर्ष विराम के लिए इजरायल तथा हमास पर लगातार दबाव डालने का काम कर रहा है.

यह भी पढ़ें :-  Explainer : गाजा के नीचे 'सीक्रेट सिटी' को ढूंढ़ पाएगा इजरायल का 'Iron Wall'?

वहीं गाजा पट्टी में फिलिस्तीनी गुर्गों और इजरायली सेना के बीच युद्ध में कम से कम 28,064 लोग मारे गए हैं. हमास शासित गाजा पट्टी के स्वास्थ्य मंत्रालय के एक बयान में कहा गया है कि नए आंकड़े में पिछले 24 घंटों में हुई 117 मौतें शामिल हैं. सात अक्टूबर को युद्ध शुरू होने के बाद से गाजा में कुल 67,611 लोग घायल हुए हैं.

ये भी पढ़ें- “प्रधानमंत्री ने व्यक्तिगत रूप से निगरानी की…” : कतर से नौसेना के पूर्व कर्मियों की वापसी पर केंद्र

Show More

संबंधित खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button