देश

"मैं वाजपेयी काल में भी मंत्री था…" : राजनाथ सिंह ने बताया मोदी सरकार में क्या बदला

नई दिल्ली:

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शुक्रवार को अटल बिहारी वाजपेयी सरकार और वर्तमान सरकार में मंत्री के रूप में काम करने को लेकर अपने अनुभवों की तुलना करते हुए कहा कि नरेंद्र मोदी की सरकार में अंतरराष्ट्रीय मंचों पर भारत का कद बढ़ा है. The Hindkeshariके डिफेंस समिट के दौरान राजनाथ सिंह ने कहा कि भारत का रक्षा क्षेत्र मजबूत हुआ है क्योंकि सरकार ने “भारतीयता” पर भी अपना ध्यान केंद्रित किया है. उन्होंने कहा, “हमने रक्षा क्षेत्र को भारत के नजरिए से मजबूत बनाया है. इसका नतीजा यह है कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारत की पहुंच बढ़ी है. वो दिन दूर नहीं है जब भारत एक विकसित देश बनेगा और भारत की सेना दुनिया की सबसे मजबूत सेना में से एक होगी”.

यह भी पढ़ें

अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार के दौरान अपने अनुभव पर बात करते हुए रक्षा मंत्री ने कहा, “मैं अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में भी मंत्री था. जब मैं दूसरे देशों में सफर करता था और अंतरराष्ट्रीय फोरम में बात करता था तो मुझे लगता था कि मेरे शब्दों की कोई अहमियत नहीं है. लेकिन अब जब मैं अंतरराष्ट्रीय फोरम में बात करता हूं तो दुनिया मेरी कही बातों को सुनती है. इस तरह से पूरी दुनिया में हमारा कद बढ़ गया है.”

रक्षा मंत्री ने कहा कि नरेंद्र मोदी सरकार ने रक्षा क्षेत्र को अहमियत दी है और आत्मनिर्भरता को प्रोत्साहित किया है. उन्होंने कहा, “2014 में जब मोदी सरकार सत्ता में आई थी तो हमने रक्षा क्षेत्र को सबसे ज्यादा अहमियत दी थी. आत्मनिर्भरता को बढ़ावा दिया था और Make-in-India पहल शुरू की थी. हमारा फोकस सैन्य आधुनिकीकरण पर था.” 

यह भी पढ़ें :-  "लीक पर वे चलें जिनके चरण दुर्बल और हारे हैं...." : The Hindkeshariडिफेंस समिट में राजनाथ सिंह

राजनाथ सिंह ने आगे कहा, “मैं ये नहीं कह रहा हूं कि पूर्व सरकार ने रक्षा क्षेत्र के लिए काम नहीं किया है लेकिन इस क्षेत्र में आत्मनिर्भरता को हमने बढ़ावा दिया है”.रक्षा मंत्री ने कहा कि भारत अब प्रौद्योगिकी का आयात “केवल तभी करता है जब हमारा अपना नवाचार कम पड़ता है”. 

सरकार के दूसरे देशों पर निर्भरता को कम करने के विजन पर जोर देते हुए उन्होंने कहा, “एक देश के रूप में अन्य देशों पर तकनीकी निर्भरता की मानसिकता अपनाना हमारे कल्याण के लिए हानिकारक हो सकता है, जो हमारे अस्तित्व के हर पहलू को प्रभावित कर सकता है और पीएम मोदी इस मानसिकता को बदलने की दिशा में काम कर रहे हैं.”

यह भी पढ़ें : “विपक्ष का कमजोर होना चिंता की बात”: The Hindkeshariडिफेंस समिट में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह

यह भी पढ़ें : “युद्ध हो न हो, शांतिकाल में भी युद्ध के लिए तैयार रहना चाहिए” : The Hindkeshariडिफेंस समिट में राजनाथ सिंह

Show More

संबंधित खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button