देश

"विपक्ष का कमजोर होना चिंता की बात": The Hindkeshariडिफेंस समिट में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह

नई दिल्ली:

देश के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह आज The Hindkeshariडिफेंस समिट ( The HindkeshariDefence Summit 2024) में शामिल हुए. इस दौरान The Hindkeshariके एडिटर-इन चीफ संजय पुगलिया ने जब उनसे देश में विपक्ष की कमजोर होती भूमिका को लेकर सवाल पूछा, तो इसके जवाब में उन्होंने कहा कि विपक्ष का कमजोर होना चिंता की बात है. विपक्ष क्या हासिल करना चाहता है, ये तो उसको ही तय करना होगा,जबकि हमारी सोच तो जनता का ज्यादा से ज्यादा विश्वास हासिल करने की रहती है.

यह भी पढ़ें

ये भी पढ़ें-“अब नॉर्थ-साउथ डिवाइड पूरी तरह खत्म”: The Hindkeshariडिफेंस समिट में राजनाथ सिंह की 10 बड़ी बातें

“विपक्षी नेता देशहित में आ रहे साथ

रक्षा मंत्री से सवाल किया गया कि बीजेपी में सबसे ज्यादा विपक्षी नेता इंपोर्ट हुए हैं? इस सवाल के जवाब में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, “विपक्षी नेता देशहित में साथ आ रहे हैं. कई विपक्षी नेताओं को पता है कि देश हित क्या है, जो देश का विकास चाहते हैं और देश के लिए काम करना चाहते हैं, वह बीजेपी के साथ आ रहे हैं.”

“हम तो चाहते हैं कि विपक्ष रहे”

 रक्षा मंत्री से जब सवाल किया गया कि बीजेपी कांग्रेस मुक्त भारत की बात करती थी, लेकिन अब विपक्ष मुक्त भारत बनाने में लगी है? इस सवाल के जवाब में राजनाथ सिंह ने कहा, ” हम ऐसा बिल्कुल भी नहीं चाहते, हम तो चाहते हैं कि विपक्ष रहे. अब ये तो उनकी जिम्मेदारी है.”  रक्षा मंत्री ने कहा कि बीजेपी को अगर 100 प्रतिशत सीटें मिल भी जाएं तो भी यही कोशिश रहेगी कि भारत की हेल्दी डेमोक्रेसी पर कोई भी प्रश्न न उठने पाए, लेकिन विपक्ष बैठा हुआ है.

यह भी पढ़ें :-  "देश को कमज़ोर करने की साजिश" : CPI(M) के मेनिफेस्टो पर बोले राजनाथ सिंह

“जिसका दिल बड़ा होगा, नंबर ऑफ एलायंस उसी के साथ बढ़ेगा”

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि  लोकसभा चुनाव में NDA 400 पार और बीजेपी 370 पार का लक्ष्य हासिल करेगी. वहीं एलाइंस बढ़ने पर रक्षा मंत्री ने कहा कि नंबर ऑफ एलायंस उसी के साथ बढ़ेंगा, जिसका दिल बड़ा होगा. छोटे दिल वालों के पास इतने लोग नहीं जाते. हम अधिक से अधिक सीटें जीतने पर फोकस कर रहे हैं.

ये भी पढ़ें-“ये सावधानी बरतनी चाहिए…”, आसनसोल से उम्मीदवार बदलने पर The Hindkeshariडिफेंस समिट में बोले रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह


 

Show More

संबंधित खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button