दुनिया

Israel-Hamas War: 23 साल पहले गाजा में खोया था 11 साल का बेटा, अब परिवार के 4 लोगों की हत्या

2000 में गाजा पट्टी, वेस्ट बैंक और पूर्वी येरुशलम पर इजरायली कब्जे के खिलाफ दूसरे इंतिफादा (फिलिस्तीनी विद्रोह) के प्रतीक जमाल अल-दुर्रा, इजरायली हवाई हमलों में मारे गए अपने परिवार के चार सदस्यों के निधन पर शोक मना रहे हैं. जमाल अल-दुराह ने इजरायली जवाबी हमले में अपने दो भाइयों, एक भाई की पत्नी और बेटी को खो दिया है, जिसमें गाजा में 2,500 से अधिक लोग मारे गए हैं.

गोलीबारी के दौरान बेटे को लगी गोली

23 साल पहले जमाल अल-दुर्रा ने दूसरे इंतिफादा के दौरान इजरायली बलों और फिलिस्तीनी प्रदर्शनकारियों के बीच गोलीबारी में अपने 11 वर्षीय बेटे मोहम्मद अल-दुर्रा को खो दिया था.

30 सितंबर 2000 को दूसरा इंतिफ़ादा शुरू होने के दो दिन बाद, जमाल और मोहम्मद दोनों गुटों के बीच बंदूक की लड़ाई में फंस गए. जमाल अपने बेटे के साथ कंक्रीट सिलेंडर के पीछे दुबका हुआ था. फ़्रांस के एक पत्रकार ने  इस भयावह घटना को कैमरे में कैद किया था, जिसमें मोहम्मद अपने पिता के पीछे छिपा हुआ है.

जमाल ने एक गुट की ओर हाथ हिलाकर रुकने की अपील की, जबकि उसका डरा हुआ बेटा अपने पिता के पीछे छिपा हुआ था. कुछ सेकंड बाद, गोलियां चलीं और मोहम्मद अपने पिता की गोद में गिर गया और बाद में उसकी मृत्यु हो गई. दूसरे इंतिफादा के शुरुआती दिनों में जमाल को जो नुकसान हुआ, वह दोनों पक्षों के बीच संघर्ष की क्रूर प्रकृति का प्रतीक है. दूसरा फिलिस्तीनी विद्रोह 2005 में समाप्त हुआ और 1,000 से अधिक इजरायली और 3,000 से अधिक फिलिस्तीनी मारे गए.

यह भी पढ़ें :-  इजरायल में भारतीयों के साथ कैसा होता है बर्ताव? वहां एक साल बिताने वाले The Hindkeshariके रिपोर्टर की जुबानी

गाजा पर हवाई हमले

मोहम्मद की हत्या के 23 साल बाद, जमाल अब अपने परिवार के सदस्यों को खोने का शोक मना रहा है. जमाल अल-दुराह ने कहा, “इजरायल द्वारा फिलिस्तीनी बच्चे मोहम्मद अल-दुराह की हत्या की गई, उसका खून अभी भी गाजा पट्टी में बहता है.”

गाजा में अल-अक्सा शहीद मस्जिद में पीड़ितों के शवों के पास झुकते हुए, जमाल ने कहा, “अपने बीच (स्वर्ग में) मेरे लिए एक जगह रखना.” उन्होंने कहा, “इजरायल ने मेरे भाइयों के घरों को निशाना बनाया, मेरे दो भाइयों, मेरे भाई की पत्नी और उनकी इकलौती बेटी को मार डाला. मेरे दर्जनों पड़ोसी भी मारे गए हैं, जिनमें ज्यादातर बच्चे हैं.”

जमाल ने कहा, “जानबूझकर बच्चों को मारता है. हर दिन वो एक बच्चे को मारते हैं. मोहम्मद की हत्या का दृश्य 23 साल बाद भी दोहराया जाता है. मोहम्मद का खून अभी भी बह रहा है. इज़रायल सैन्य उद्देश्यों को निशाना नहीं बनाता है. वे पश्चिमी हथियारों से नागरिकों को मारते हैं.”

इजरायल के उद्देश्य

प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू द्वारा हमास को नेस्तनाबूद करने की कसम खाने के बाद इजराइल गाजा पर चौतरफा जमीनी हमले की योजना बना रहा है. हमास के तीनतरफा आतंकी हमले को चौतरफा प्रतिक्रिया मिल रही है. इज़रायल ने आक्रमण शुरू करने से पहले उत्तरी गाजा में नागरिकों को दक्षिण की ओर जाने के लिए कहा और बाद में आरोप लगाया कि हमास इजराइली हवाई हमलों के खिलाफ गाजावासियों को मानव ढाल के रूप में इस्तेमाल कर रहा है.

इजरायली सेना के एक बयान के अनुसार, इजरायल ने लेबनान में हिजबुल्लाह के ठिकानों पर रात भर हवाई हमले किए. हमास के सहयोगी ईरान समर्थक लेबनानी समूह हिजबुल्लाह और इजराइल के बीच तनाव बढ़ने की आशंकाएं बढ़ रही है.

यह भी पढ़ें :-  भारतीय सैनिकों की वापसी को लेकर भारत और मालदीव के बीच आधिकारिक वार्ता शुरू : रिपोर्ट

इज़रायल और हमास के बीच युद्ध बढ़ने और गंभीर मानवीय संकट बढ़ने की आशंका के बीच अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन बुधवार को इज़राइल का दौरा करेंगे.

Show More

संबंधित खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button