दुनिया

इजरायल-हमास युद्ध : गाजा का हाल बेहाल, खारा पानी पीने को मजबूर लोग, सड़कों पर सड़ रहे कूड़े के ढेर

इजरायल-हमास युद्ध के कारण गाजा के लोगों को कई तरह की परेशानियों से जूझना पड़ रहा है.

मुगराबी (गाजा) :

हमास (Hamas) के हमले के बाद से ही इजरायल (Israel) लगातार गाजा पर बमबारी कर रहा है. इजरायल के जमीनी हमले से पहले ही गाजा के स्‍थानीय लोग बेहद निराश हैं. आलम यह है कि इलाके के लोग गुजरते वक्‍त के साथ और भी हताश होते जा रहे हैं. गाजा में पीने का पानी खत्म हो गया है और चारों ओर कूड़े के ढेर लग गए हैं. साथ ही विस्फोटों के कारण घर ढह गए हैं और अस्पतालों को इन हालातों से निपटने के लिए संघर्ष करना पड़ रहा है. 

यह भी पढ़ें

रॉयटर्स की खबर के मुताबिक, पीने के पानी को हासिल करने के लिए बेताब कुछ लोगों ने समुद्र से सटे इलाकों में कुएं खोदना शुरू कर दिया. वे गाजा के खारे नल के पानी पर निर्भर थे, जो सीवेज और समुद्री जल से दूषित है. 

वहीं दक्षिणी गाजा पट्टी में खान यूनिस के दो निवासियों ने विस्थापित परिवारों के बीच वितरित करने के लिए स्वेच्छा से प्लास्टिक के कंटेनरों में पानी भरकर उन्‍हें मुहैया कराने की कोशिश में जुटे हैं. 

कुछ निवासियों ने इजरायल और फिलिस्तीनी समूह हमास के बीच युद्ध की समाप्ति के लिए प्रार्थना की है, जिसने मध्य पूर्व में संघर्ष की आशंका को बढ़ा दिया है. 

उन्होंने कहा कि नौ दिनों के संघर्ष में रात भर किए गए हवाई हमले सबसे भारी थे. कई घर जमींदोज हो गए. गाजा अधिकारियों ने कहा कि कम से कम 2,750 लोग, ज्यादातर नागरिक और उनमें से 700 से अधिक बच्चे मारे गए हैं और करीब 10,000 घायल हो गए. वहीं 1,000 से अधिक लोग लापता हैं, जिनके बारे में माना जा रहा है कि वे मलबे में दबे हुए हैं. 

यह भी पढ़ें :-  राहत फतेह अली खान ने शागिर्द को कैमरे पर जूते से पीटा, वीडियो वायरल हुआ तो दी सफाई

संयुक्त राष्ट्र फिलिस्तीनी शरणार्थी एजेंसी यूएनआरडब्ल्यूए के आयुक्त जनरल फिलिप लेजारिनी ने कहा, “गाजा में पानी और बिजली खत्‍म हो रहा है. वास्तव में, गाजा का गला घोंटा जा रहा है और ऐसा लगता है कि दुनिया ने इस समय अपनी मानवता खो दी है.”

ये भी पढ़ें :

* “हमास-इजरायल जंग रोकने के लिए भारत सबसे अच्छी पोजिशन में…” : इजरायली लेखक युवल हरारी

* “हाथ ट्रिगर पर हैं”: गाजा हमले पर ईरान ने इजरायल को दी चेतावनी

* “वे फ़िलिस्तीनियों के लिए दरवाजे क्यों नहीं खोल रहे”: निक्की हेली ने की अरब देशों की आलोचना

Show More

संबंधित खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button