दुनिया

इज़राइल-हमास युद्ध में अब तक 500 से ज्यादा मौतें, 10 बड़ी बातें

इजराइल-हमास युद्ध


फिलिस्तीन आतंकी गुट हमास (Israel-Hamas Conflict) ने करीब 5 हजार रॉकेट इजराइल पर दागे थे. इज़राइल ने इस भीषण हमले का बदला लेने की कसम खाते हुए हमास के खिलाफ युद्ध की घोषणा की और हवाई हमले किए. दोनों ही तरफ से 500 से ज्यादा लोग अब तक मारे जा चुके हैं.

मामले से जुड़ी अहम जानकारियां :

  1. हमास के हमले के बाद इज़राइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने युद्ध का ऐलान कर दिया था. उन्होंने कहा कि उनका देश युद्ध में है और हमास को इस हमले की बड़ी कीमत चुकानी पड़ेगी. उन्होंने एक वीडियो जारी कर कहा, “इजरायल के नागरिकों, हम युद्ध में हैं. यह कोई ऑपरेशन और तनाव नहीं बल्कि युद्ध है और हम जीतेंगे. हमास को बड़ी कीमत चुकानी पड़ेगी.”

  2. यहूदियों के त्योहार के दिन पूरे इजराइल में तेज़ सायरन बजने के साथ ही 5,000 से ज्यादा रॉकेट इज़राइल के आसमान में उड़ने लगे. देश के रक्षाबलों ने भी इसे हमास आतंकवादियों की घुसपैठ करार दिया. हमास को एक आतंकवादी गुट माना जाता है. इज़राइल से सामने आई तस्वीरों से पचा चलता है कि हमले में पैराग्लाइडर का इस्तेमाल किया गया था और सड़कों से गुजरने वाली कारों पर गोलियां बरसाई गई थीं.

  3. रक्षामंत्री योव गैलेंट ने कहा कि हमास ने इज़राइल के खिलाफ युद्ध छेड़कर भारी गलती की है. गैलेंट ने शनिवार को एक बयान में कहा, “हमास ने आज सुबह एक गंभीर गलती की है और इजराइल के खिलाफ युद्ध शुरू कर दिया है. आईडीएफ सैनिक (इजरायली सेना) हर मोर्चे पर दुश्मन के खिलाफ लड़ रहे हैं.”

  4. इज़राइल में भारतीय दूतावास ने अपने नागरिकों को सतर्क रहने और सिक्योरिटी प्रोटोकॉल का पालन करने को कहा है, जैसा कि स्थानीय अधिकारियों ने वहां रहने वाले लोगों के लिए सलाह जारी की है. इजराइल के स्थानीय अधिकारियों ने सलाह में कहा, “कृपया सावधानी बरतें, गैरजरूरी आवाजाही से बचें और सुरक्षा आश्रयों के करीब रहें.” भारतीय दूतावास ने अपने नागरिकों तक पहुंचने के लिए एक हेल्पलाइन नंबर और एक ईमेल जारी किया है. 

  5. इजराइल की सेना ने अपने देश की रक्षा करने का संकल्प लेते हुए कहा, “इजरायल रक्षा बल तत्काल युद्ध की घोषणा करता है. गाजा से इजराइली क्षेत्र में बड़े रॉकेट हमले हुए हैं, और आतंकवादियों ने अलग-अलग एंट्री पॉइंट्स  के जरिए इजराइली क्षेत्र में घुसपैठ की है.”

  6. हमास के आर्म्स विंग ने ऐलान करते हुए कहा था कि उसने “ऑपरेशन अल-अक्सा फ्लड” शुरू किया है और “20 मिनट के पहले हमले” में 5,000 से अधिक रॉकेट दागे. हमास के उग्रवादी नेता मोहम्मद दीफ ने एक रिकॉर्डेड मैसेज में कहा,  “हमने ऊपरवाले की मदद से इस सब को खत्म करने का फैसला किया है, ताकि दुश्मन समझ सके कि बिना जवाबदेही के लापरवाही का समय खत्म हो गया है.”

  7. इजराइल के दक्षिणी और मध्य भागों में कई जगहों पर हमलों की सूचना मिलने पर यरूशलेम और पूरे इज़राइल में सायरन बजने लगे. सरकार ने नागरिकों को आश्रय स्थलों के पास रहने और गाजा पट्टी के पास रहने वालों से घरों के भीतर रहने की अपील की.

  8. गाज़ा सीमा क्षेत्रों में उनके घरों से भाग रहे लोगों के भयावह तस्वीरें सामने आई हैं. सैकड़ों पुरुषों और महिलाओं को कंबल और खाने का सामान लेकर इजराइल की सीमा से दूर जाते देखा गया. 

  9. साल 2007 में गाजा में हमास के सत्ता संभालने के बाद से इजराइल और फिलिस्तीनी गुट के बीच कई युद्ध हो चुके हैं. नया युद्ध ऐसे समय में हुआ है जब, इजराइल ने गाजा श्रमिकों के लिए अपनी सीमाएं बंद कर दीं. इसके बाद तनाव काफी बढ़ गया. इस साल दोनों के बीच हुए अब तक के संघर्ष में 247 फिलिस्तीनी, 32 इजरायली और दो विदेशी मारे जा चुके हैं. इनमें लड़ाके और नागरिक दोनों शामिल हैं.

  10. हमास ने कहा था कि लोगों को व्यवसाय के लिए एक लाइन खींचनी होगी. इजराइल ने फ़िलिस्तीनी जमीन पर और खास तौर पर  यरूशलेम में अल-अक्सा के पवित्र स्थल पर अपराध करना जारी रखा है, यह कहने के एक दिन बाद ही हिंसा भड़क उठी.

     

यह भी पढ़ें :-  "हमास फ़िलिस्तीनी नागरिकों के पीछे छिप रहा, ये कायराना हरकत": US राष्ट्रपति जो बाइडेन
Show More

संबंधित खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button