दुनिया

"नाटो एक पवित्र प्रतिबद्धता है लेकिन डोनाल्ड ट्रंप को यह बोझ लगती है" : अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडेन

जो बाइडेन ने कहा, “ट्रंप के लिए सिद्धांत मायने नहीं रखते हैं”.

वॉशिंगटन:

अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन ने उत्तर अटलांटिक संधि संगठन (नाटो) पर हाल में की टिप्पणियों के लिए अपने पूववर्ती डोनाल्ड ट्रंप की आलोचना करते हुए कहा कि 74 साल पुराना यह सैन्य गठबंधन अमेरिका के लिए एक पवित्र प्रतिबद्धता है. बाइडेन ने मंगलवार को व्हाइट हाउस में एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘जब अमेरिका अपनी जुबान देता है तो उसका कुछ मतलब होता है. जब हम कोई वादा करते हैं तो उसे निभाते हैं और नाटो एक पवित्र प्रतिबद्धता है. डोनाल्ड ट्रंप इसे ऐसे देखते हैं जैसे यह कोई बोझ हो.”

यह भी पढ़ें

उनकी यह टिप्पणी इस सप्ताहांत साउथ कैरोलाइना में एक रैली में ट्रंप के उस बयान के बाद आयी है जिसमें उन्होंने कहा था कि वह नाटो सहयोगियों से अपना रक्षा खर्च बढ़ाने के लिए कहेंगे, अन्यथा रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन को उन देशों पर हमला करने के लिए प्रेरित करेंगे. रिपब्लिकन पार्टी की ओर से राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनने के सबसे प्रबल दावेदार ट्रंप ने कहा था कि रूस उन नाटो सदस्यों के साथ ‘‘जो करना चाहे, करें”, जो रक्षा पर खर्च के अपने लक्ष्यों को हासिल नहीं कर पाते हैं.

नाटो सहयोगियों ने 2014 में 2024 तक रक्षा पर सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) का दो फीसदी खर्च करने का संकल्प लिया था. नाटो के आकलन के मुताबिक, 2023 की शुरुआत तक उसके 30 में से 10 सदस्य दो फीसदी तक या उससे अधिक खर्च करने के करीब थे जबकि 13 देश 1.5 प्रतिशत या उससे कम खर्च कर रहे थे.

यह भी पढ़ें :-  एलन मस्क आज इजरायली PM बेंजामिन नेतन्याहू से करेंगे मुलाकात: रिपोर्ट

ट्रंप की टिप्पणियों के जवाब में बाइडेन ने कहा, ‘‘ट्रंप के लिए सिद्धांत मायने नहीं रखते हैं. सब कुछ लेन-देन है. वह यह नहीं समझते कि हमने जो वादा किया है वह हमारे लिए भी काम करता है. बल्कि मैं ट्रंप और नाटो से बाहर निकलने की इच्छा रखने वाले लोगों को याद दिलाऊंगा कि अनुच्छेद पांच को हमारे नाटो के इतिहास में केवल एक बार लागू किया गया है और यह 9/11 हमले के बाद अमेरिका के साथ एकजुटता जताने के लिए किया गया था.”

नाटो के पारस्परिक रक्षा खंड के अनुच्छेद पांच के तहत, सभी सहयोगी देश हमले की चपेट में आने वाले किसी भी सदस्य की मदद करने के लिए प्रतिबद्ध रहते हैं. बाइडेन ने कहा, ‘‘जब तक मैं राष्ट्रपति रहूंगा, अगर पुतिन किसी नाटो सहयोगी पर हमला करते हैं तो अमेरिका नाटो क्षेत्र के एक-एक इंच की रक्षा करेगा.” अमेरिकी राष्ट्रपति ने ट्रंप की टिप्पणियों को शर्मनाक और ‘‘अमेरिका विरोधी” बताया. रिपब्लिकन पार्टी की ओर से राष्ट्रपति पद की उम्मीदवारी हासिल करने में ट्रंप की प्रतिद्वंद्वी निक्की हेली ने भी पूर्व राष्ट्रपति की टिप्पणियों के लिए उनकी आलोचना की है.

(इस खबर को The Hindkeshariटीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Show More

संबंधित खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button