दुनिया

हमास के 5000 रॉकेट दागने से शुरू हुए इजराइल-फिलिस्तीन युद्ध में करीब 450 की मौत

स्थानीय मीडिया रिपोर्ट्स में गाजा स्वास्थ्य अधिकारियों के मुताबिक लिखा गया है कि हमास के हमले की जवाब में इजराइल की ओर से गाजा में हवाई हमले किए गए. इन हमलों में करीब 250 फिलिस्तीनी मारे गए, जबकि 1600 से ज्यादा जख्मी हो गए. 

इजराइल के रक्षा मंत्री के कार्यालय से जारी एक बयान के मुताबिक, रक्षा मंत्री योव गैलेंट ने आईडीएफ की आवश्यकताओं के अनुसार आरक्षित सैनिकों के मसौदे को मंजूरी दे दी है. इजराइल रक्षा बल (आईडीएफ) ने एक बयान में कहा कि चीफ ऑफ स्टाफ लेफ्टिनेंट जनरल हर्जी हलेवी स्थिति का मूल्यांकन कर रहे हैं और कार्य योजनाओं को मंजूरी दे रहे हैं.

इजराइली सेना के बयान में कहा गया, “आईडीएफ युद्ध के लिए तैयार रहने की स्थिति की घोषणा करता है. हमास… जो इस हमले के पीछे है, घटनाओं के परिणाम के लिए जिम्मेदार होगा.”

स्थानीय मीडिया की खबरों के मुताबिक, हमास की सैन्य शाखा के प्रमुख मोहम्मद दीफ ने एक बयान में कहा, “हमने दुश्मन को अल-अक्सा मस्जिद के खिलाफ अपनी आक्रामकता जारी नहीं रखने की चेतावनी दी.” इजराइली सेना ने गाजा पट्टी के नजदीकी शहरों के निवासियों को अपने घरों में रहने और बाकी जनता को बम से बचाव वाले आश्रयों के पास रहने के निर्देश जारी किए हैं.

कठिन घड़ी में इजराइल के साथ : PM मोदी

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने हमास उग्रवादियों के हमले के मद्देनजर शनिवार को इजराइल के प्रति एकजुटता व्यक्त की. मोदी ने इज़राइल पर हुए हमास के हमले को ‘आतंकवादी हमला’ करार देते हुए इसकी निंदा की. पीएम मोदी ने कहा, ‘इजराइल में आतंकवादी हमलों की खबर से स्तब्ध हूं. हमारी संवेदनाएं और प्रार्थनाएं निर्दोष पीड़ित परिवारों के साथ हैं. इस कठिन घड़ी में हम इजराइल के साथ एकजुटता से खड़े हैं.’

भारत ने अपने नागरिकों से सतर्क रहने का किया आग्रह 

भारतीय दूतावास ने सभी भारतीय नागरिकों को “सतर्क रहने” और “सुरक्षा नियमों का पालन” करने की सलाह दी है. दूतावास ने अपने परामर्श में कहा, “इजराइल में वर्तमान स्थिति को देखते हुए, इजराइल में मौजूद सभी भारतीय नागरिकों से अनुरोध किया जाता है कि वे सतर्क रहें और स्थानीय अधिकारियों की सलाह के अनुसार सुरक्षा नियमों का पालन करें. कृपया सावधानी बरतें, अनावश्यक आवाजाही से बचें और सुरक्षित स्थलों के करीब रहें.” परामर्श अंग्रेजी, हिंदी, मराठी, तमिल, तेलुगु, मलयाली और कन्नड़ भाषाओं में जारी किया गया है.

यह भी पढ़ें :-  यह सुनिश्चित करना महत्वपूर्ण कि इजराइल-हमास युद्ध क्षेत्रीय संघर्ष का रूप न ले: PM मोदी

दूतावास की वेबसाइट के मुताबिक, इजराइल में करीब 18,000 भारतीय नागरिक हैं, जिनमें मुख्य रूप से इजराइली बुजुर्गों, हीरा व्यापारियों, आईटी पेशेवरों और छात्रों की देखभाल करने के लिए नियुक्त लोग शामिल हैं. इजराइल में भारतीय मूल के लगभग 85,000 यहूदी भी हैं जो पचास और साठ के दशक में भारत से इजराइल गए थे.

एयर इंडिया ने दिल्ली से तेल अवीव जाने वाली उड़ान रद्द की

इजराइल के तेल अवीव पर शनिवार को हमास आतंकवादियों के हमला करने के बाद एयर इंडिया ने नयी दिल्ली से वहां जाने वाली उड़ान रद्द कर दी. एयरलाइन तेल अवीव के लिए पांच साप्ताहिक उड़ानें संचालित करती है. ये उड़ानें- सोमवार, मंगलवार, बृहस्पतिवार, शनिवार और रविवार को होती हैं.

कंपनी के प्रवक्ता ने कहा कि यात्रियों और चालक दल के सदस्यों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए शनिवार को नयी दिल्ली से तेल अवीव के लिए उड़ान संख्या एआई 139 और वापसी की उड़ान एआई 140 को रद्द कर दिया गया है. उड़ान एआई 139 भारतीय समय अनुसार शनिवार दोपहर 3.35 बजे रवाना होनी थी और तेल अवीव से वापसी की उड़ान इजराइल के समय अनुसार रात 10.10 बजे थी। दिल्ली और तेल अवीव में लगभग 2.30 घंटे का अंतर है. एयर इंडिया के प्रवक्ता के अनुसार, यात्रियों को उनकी जरूरत के अनुसार पूरा सहयोग किया जा रहा है.

 

अमेरिका का इजराइल को समर्थन

अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने इजराइल के प्रधानमंत्री बिन्यामिन नेतन्याहू से फोन पर बातचीत करते हुए साथ खड़े होने और पूरा समर्थन देने की बात कही है. इसकी जानकारी इजराइली प्रधानमंत्री के आधिकारिक एक्स हैंडल पर दी गई है. एक्स पर किए गए पोस्ट के मुताबिक, अमेरिका ने कहा है कि इसराइल को अपनी रक्षा करने का पूरा अधिकार है.

सऊदी अरब ने दी प्रतिक्रिया

सऊदी अरब के विदेश मंत्रालय ने एक बयान जारी किया है. बयान में कहा गया है कि स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं. साथ ही कहा गया कि हम तत्काल रूप से दोनों पक्षों के बीच तनाव को तत्काल रोकने, नागरिकों की सुरक्षा और संयम बरतने की अपील करते हैं.

फ्रांस ने हमलों की कड़ी निंदा की

यह भी पढ़ें :-  इज़राइल में क्या हुआ? गाजा में इज़राइल-फिलिस्तीन के बीच जारी टकराव की पूरी जानकारी

फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने हमलों की कड़ी निंदा करते हुए कहा, “हमले के पीड़ितों, उनके परिवारों और प्रियजनों के साथ खड़ा हूं और उनको अपना पूरा समर्थन देता हूं.”

Show More

संबंधित खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button