देश

रामनवमी पर कार में बैठे युवकों ने लगाए 'जय श्री राम' के नारे, सड़क पर मौजूद 4 ने पीट डाला

Ram Navami Clash in Bengaluru: जय श्री राम के नारे लगाने पर तीनों युवकों को छड़ी से पीटा.

बेंगलुरु में कथित तौर पर रामनवमी (Ram Navami) के मौके पर ‘जय श्री राम’ बोलने को लेकर चार लोगों के साथ हुई बहस में दो लोग घायल हो गए हैं. इसके मामला दर्ज किया गया है और दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है, जबकि दो अन्य – जिनमें से एक नाबालिग है – को धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने और दंगा करने समेत अन्य आरोपों के तहत हिरासत में लिया गया है. 

यह भी पढ़ें

पुलिस अधिकारियों ने कहा कि तीन व्यक्ति, जिनकी पहचान पवन कुमार, राहुल और बिनायक के रूप में हुई है, कार में थे और एक सेकेंड हैंड दो पहिया वाहन देखने के लिए जा रहे थे, जो सेल पर था. अधिकारी के मुताबिक, बुधवार को वो ‘जय श्री राम’ के नारे लगाते हुए और भगवा झंडा लिए जा रहे थे. 

रिपोर्ट में दर्ज की गई जानकारी के मुताबिक, दोपहर को 3 बजकर 45 मिनट पर बाइक पर सवार दो आदमियों जिनकी पहचान फरमान और समीर के रूप में हुई है ने उन्हें उत्तरी बेंगलुरु का चिक्काबेट्टाहल्ली में रोक लिया और पूछा कि वो क्यों जय श्री राम के नारे लगा रहे हैं और उन्हें केवल ‘अल्लाहु अकबर’ के नारे लगाना चाहिए.

विद्यारण्यपुरा पुलिस स्टेशन में जहां एफआईआर दर्ज की गई है के एक पुलिस अधिकारी ने कहा, “इसके बाद फरमान ने तीनों से झंडा खींचने की कोशिश की और फिर उनमें से दो लोगों ने उसका एक गली में पीछा किया. समीर वहां से चला गया. तीनों लोग थोड़ी देर बाद अपनी कार में लौए आए और तभी समीर और फरमान ने उन पर हमला कर दिया. उनके पास एक छड़ी थी.”

यह भी पढ़ें :-  दिल्ली : AIIMS की नर्सिंग छात्रा ने की खुदकुशी, पुलिस ने शूरू की जांच 

दो अन्य, जिनमें से एक नाबालिग है और दूसरा जिसकी उम्र का पता लगाया जा रहा है, भी फरमान और समीर के साथ शामिल हो गए और कथित तौर पर राहुल और बिनायक पर हमला किया. राहुल पर डंडे से हमला किया गया और उसके सिर पर चोट लगी, जबकि बिनायक की नाक पर चोट लगी. 

हमले के बाद आरोपी भाग गए और मौके पर पहुंची पुलिस तीनों लोगों को थाने ले गई. पवन ने शिकायत दर्ज की और उन सभी को अस्पताल ले जाया गया. फरमान और समीर को गिरफ्तार कर लिया गया है जबकि दो संदिग्ध नाबालिगों को हिरासत में लिया गया है. 

पुलिस उपायुक्त (पूर्वोत्तर) लक्ष्मी प्रसाद ने कहा, “आईपीसी की धारा 295 (धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाना), 298 (जानबूझकर धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाना), 324 (जानबूझकर चोट पहुंचाना), 506 (आपराधिक धमकी) और विद्यारण्यपुरा पुलिस स्टेशन में दंगा करने के तहत मामला दर्ज किया गया है.” कार में यात्रा करते समय तीन लोग झंडा पकड़े हुए थे और ‘जय श्री राम’ का नारा लगा रहे थे, उसी दौरान दो लोगों ने कार रोकी और पूछा कि वे नारे क्यों लगा रहे हैं, साथ ही उनसे ‘अल्लाहु अकबर’ बोलने की भी मांग की.

यह भी पढ़ें : 

Show More

संबंधित खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button