देश

नर्सिंग कोर्स के नाम पर छात्राओं के भविष्य के साथ खिलवाड़! लाखों रुपए ऐंठकर दिया फर्जी सर्टिफिकेट

मुंबई:

नर्सिंग कोर्स के नाम पर छात्राओं से ठगी का एक मामला सामने आया है. थाणे में एक संस्थान ने लाखों रुपए ऐंठकर फर्जी सर्टिफिकेट छात्राओं को दे दिया. पुलिस ने मामला दर्ज कर उड़ान इंस्टीट्यूट एंड एजुकेशन के एक डायरेक्टर सुनील झा को गिरफ्तार कर लिया है. इस मामले में अब तक 37 पीड़ित छात्राएं सामने आईं हैं. 

यह भी पढ़ें

कल्याण के उड़ान इंस्टीट्यूट ऑफ एजुकेशन ने तकरीबन 37 विद्यार्थियों से 52 लाख रुपए फीस के तौर पर वसूले लेकिन जब कोर्स पूरा हुआ तो जाली सर्टिफिकेट पकड़ा दिया.  पुलिस ने मामला दर्ज कर डायरेक्टर को गिरफ्तार कर लिया है जबकि दो फरार हैं.लड़कियों का आरोप है कि उन्हें जो सर्टिफिकेट दिया गया है वो फर्जी है.

छात्राओं ने क्या कहा?

छात्रा  रिद्धि इंदुलकर ने कहा कि हमारा GNM का कोर्स था जनरल नर्सिंग का कोर्स था. इसमें तीन साल का थ्योरी और 6 महीने के लिए इंटर्नशिप के लिए भेजा जाता है,ृ हमे बताया था कि कल्याण के फोर्टिस में इंटर्नशिप दिया जायेगा. इंटर्नशिप तो नही मिला अब तीन साल पूरा होने पर ऐसा सर्टिफिकेट दिया है जिसमे जीएनएम नही लिखा है. एडवांस डिप्लोमा इन पेसेंट केयर लिख कर दिया हैं. मतलब जो डाइपर बदलते हैं मरीजों के केयर टेकर का सर्टिफिकेट दिया है. 

एक अन्य छात्रा सोनी जैसवाल ने कहा कि थर्ड ईयर रनिंग है हमारा, इन्होंने फर्स्ट ईयर और सेकंड ईयर का रिजल्ट हमे दिखाया नही. अब थर्ड ईयर की फीस मांग रहे हैं.  हमारे सीनियर को थर्ड ईयर का फर्जी सर्टिफिकेट दिया है. जिस पर बने स्कैनर को स्कैन करने के बाद उस पर एक्टर एक्ट्रेस के फोटो आ रहे हैं जबकि उस पर हमारा रजिस्ट्रेशन और बाकी डिटेल आना चाहिए. 

यह भी पढ़ें :-  "अगर मुझे मथुरा से बाहर का मानते हैं...": कांग्रेस पर हेमा मालिनी का पलटवार

पुलिस पर आरोपियों को बचाने का लगा आरोप

हैरानी की बात है कि ठगी का मामला उजागर होने के बाद भी पुलिस मामला दर्ज करने में आनाकानी करती रही.  स्थानीय नगरसेवक के दखल देने के बाद पुलिस ने मामला दर्ज किया लेकिन तब तक उड़ान इंस्टीट्यूट एंड एजुकेशन के संचालक फरार हो चुके थे. नगर सेवक महेश गायकवाड़ ने कहा कि छात्राओं का कहना है उनको मिले सर्टिफिकेट के माध्यम से जब अलग अलग अस्पतालों में अप्लाई किया और उन्होंने जब जांच की उन्हें पता चला कि ये फेक है और इसका रजिस्ट्रेशन नही है. करीब-करीब हर छात्रा से डेढ़ से दो लाख रुपए लिए है. 

पुलिस ने क्या कहा?

महात्मा फुले पुलिस स्टेशन के सीनियर पी आई श्रीनिवास देशमुख ने कहा कि हमने एक लड़की की शिकायत पर एफआईआर दर्ज किया है.  सुनील झा नाम का शख्स जो उड़ान इंस्टीट्यूट का संचालक है उसे गिरफ्तार किया गया है बाकी दो की तलाश जारी है. अभी तक 37 छात्राओं ने शिकायत दर्ज करवायी है. पुलिस ने इस मामले में इंस्टीट्यूट के कुल तीन संचालकों को आरोपी बनाया है.

ये भी पढ़ें- 

Show More

संबंधित खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button