देश

"प्राण जाए पर वचन न जाए…" : वादे पूरे करने की गारंटी पर पीएम मोदी ने विपक्षी दलों को दी नसीहत

पीएम मोदी ने कांग्रेस और राहुल गांधी पर साधा निशाना.

नई दिल्ली:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Elections 2024) को लेकर कांग्रेस (Congress) और विपक्षी दलों के INDIA गठबंधन पर निशाना साधा है. जनता से किए गए वादों को पूरा करने में नाकाम रहने पर पीएम मोदी ने कांग्रेस के बड़ी नसीहत भी दी. उन्होंने कहा कि राजनीतिक नेताओं को लोगों के सामने दिए गए बयानों की जिम्मेदारी लेने की जरूरत है. उन्होंने कहा, “हमें याद रखना चाहिए कि हमारे देश में ‘प्राण जाए पर वचन न जाए’ की परंपरा है.”

यह भी पढ़ें

न्यूज एजेंसी ANI को दिए खास इंटरव्यू में पीएम मोदी ने कहा, “मुझे लगता है कि राजनीतिक नेतृत्व संदिग्ध होता जा रहा है. ऐसी स्थिति में हमें याद रखना चाहिए कि हमारे देश में ‘प्राण जाए पर वचन न जाए’ की परंपरा है. यानी चाहे आपकी जिदंगी चली जाए, लेकिन आपका किया हुआ वादा अधूरा नहीं रहना चाहिए. मेरा मानना ​​है कि राजनेताओं को अपने किए वादों की जिम्मेदारी लेने की जरूरत है.” 

“देश को काले धन की तरफ धकेला, हर कोई पछताएगा…”, PM ने कहा – चुनावी बॉन्ड स्कीम पर विपक्ष ने फैलाया झूठ

मोदी ने कहा, “मैं जो कहता हूं वह मेरी जिम्मेदारी है. मैंने इसकी गारंटी भी दी है. मैं अनुच्छेद 370 का मामला लेता हूं. यह हमारी पार्टी की प्रतिबद्धता रही है. मैंने साहस दिखाया और 370 को हटा दिया. आज जम्मू-कश्मीर का भाग्य बदल गया है.”

यह भी पढ़ें :-  संसदीय समिति ने अग्निवीरों की भर्ती में तेजी लाने की सिफारिश की
पीएम मोदी ने कहा, “तीन तलाक भी इसका उदाहरण है. तीन तलाक पर राजनीतिक नेतृत्व को बहुत कुछ कहा गया. लोगों ने कहा कि हम उन पर भरोसा क्यों करें? वे कुछ और कहते हैं और कुछ और. लेकिन आखिर में लोगों ने विश्वास किया. भरोसा बहुत बड़ी शक्ति है. मैं भी इस भरोसे को अपनी जिम्मेदारी मानता हूं. इसीलिए मैं बार-बार कहता हूं कि ये मोदी की गारंटी है. प्रधानमंत्री ने कहा कि ‘मोदी की गारंटी’ कहकर मैं लोगों को बताता हूं कि जो वादे किए गए हैं, वो सभी वादे पूरे होंगे और समय पर पूरे होंगे.

पीएम मोदी ने कहा, “जहां तक गारंटी का सवाल है… मुझे लगता है कि राजनेता अपनी बात के पक्के नहीं हैं. वो फायदे के लिए जो चाहे कह देते हैं. लेकिन उनके पास करने के लिए कुछ नहीं है. एक नेता के पुराने वीडियो सोशल मीडिया पर सर्कुलेट हो रहे हैं. जिसमें उनका एक बयान दूसरे से इतना विरोधाभासी है कि लोग एक साथ देखते हैं और कहते हैं… यह आदमी हमें कितना बेवकूफ बनाता था. अभी मैंने एक राजनेता का भाषण सुना है, जिसमें उन्होंने कहा था- ‘मैं एक झटके में गरीबी हटा दूंगा.’ लेकिन इनके पास ऐसा करने के लिए कोई विजन नहीं है.”

“वोटबैंक के तुष्टीकरण के लिए…” : कांग्रेस के राममंदिर प्राण प्रतिष्ठा समारोह में न आने पर बोले PM नरेंद्र मोदी

प्रधानमंत्री मोदी 11 मार्च को राजस्थान की एक रैली में राहुल गांधी के बयान का जिक्र कर रहे थे. राहुल गांधी ने दावा किया था कि वह एक गरीब महिला के खाते में 1 लाख रुपये ट्रांसफर करके एक पल में गरीबी मिटा देंगे. 

पीएम मोदी ने कहा, “मैं कभी नहीं कहूंगा कि मैंने सब कर दिया. बेशक कई काम हो गए. फिर भी मुझे अभी भी बहुत कुछ करना है. क्योंकि मैं देख रहा हूं कि मेरे देश को कितनी जरूरत है. हर परिवार का सपना है, वो सपने पूरे करने हैं. मेरे दिल में यही है. इसलिए मैं कहता हूं कि यह एक ट्रेलर है. मैं और भी बहुत कुछ करना चाहता हूं.”

यह भी पढ़ें :-  क्या जम्मू-कश्मीर से हटेगा अफस्पा? अमित शाह ने कही ये बड़ी बात

इंटरव्यू के दौरान प्रधानमंत्री ने फर्स्ट टाइम वोटर्स से अगले 25 वर्षों के लिए देश के भविष्य पर विचार करने और फिर अपना वोट डालने की अपील की.

 

किसी को डरने की जरूरत नहीं… : PM मोदी ने बताया 2047 तक भारत कैसे बनेगा दुनिया की तीसरी बड़ी इकोनॉमी

Show More

संबंधित खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button