देश

हरियाणा में एक साल से चल रही थी CM बदलने की तैयारी? मनोहर लाल खट्टर ने दिए संकेत

चंडीगढ़:

हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने मंगलवार को कहा कि जब नायब सिंह सैनी उनके उत्तराधिकारी बने, तो उन्हें शपथ लेते देखकर वैसी ही खुशी हुई जो परिवार के किसी भी बड़े बुजुर्ग को होती है. भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने पिछले सप्ताह राज्य में बदलाव करते हुए 69 वर्षीय खट्टर की जगह अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) से आने वाले 54 वर्षीय सैनी को हरियाणा का मुख्यमंत्री बना दिया था.

खट्टर ने करनाल जिले के घरौंडा में एक रैली को संबोधित किया और हरियाणा में हुए बदलाव का उल्लेख करते हुए कहा, ‘मैं आज बहुत खुश हूं. मुझे वही खुशी महसूस हो रही है जो परिवार के एक बड़े को होती है….’

यह भी पढ़ें

इस कार्यक्रम में भाजपा अध्यक्ष जे.पी.नड्डा को भी शामिल होना था, लेकिन एक पदाधिकारी ने कहा कि पार्टी की कुछ व्यस्तताओं के कारण वह नहीं आ सके.

खट्टर ने कहा कि बदलाव जीवन का हिस्सा है, राजनीतिक क्षेत्र में भी परिवर्तन होते रहते हैं. हालांकि उन्होंने यह संकेत भी दिया कि नेतृत्व परिवर्तन का निर्णय अचानक नहीं लिया गया.

खट्टर ने कहा, ‘ऐसा नहीं है कि यह अचानक हुआ. एक साल से मैं नेतृत्व से कह रहा था कि यह सही समय है… एक नया चेहरा लाओ.”

उन्होंने कहा कि वह इच्छा पिछले हफ्ते पूरी हुई और पार्टी विधायकों ने सर्वसम्मति से फैसला किया कि कुरूक्षेत्र के सांसद सैनी अगले मुख्यमंत्री होंगे. उन्होंने कहा, ‘भाजपा के अनुशासित सिपाही के रूप में हम कोई भी भूमिका निभाने के लिए तैयार हैं. हमारी चिंता राज्य और देश को आगे ले जाने की है.’

यह भी पढ़ें :-  UP : फर्जी वीडियो के जरिए ईवीएम और चुनाव प्रक्रिया को लेकर भ्रम फैलाने वाले के खिलाफ FIR दर्ज

भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता खट्टर ने कहा कि अन्य दलों में सत्ता के लिए खींचतान चलती रहती है और हरियाणा सहित कांग्रेस में गुटबाजी देखी जा रही है. हरियाणा में विपक्ष पर निशाना साधते हुए खट्टर ने कहा कि पहले जब वह 2014 में मुख्यमंत्री बने थे तो विपक्ष कहता था कि उनके पास अनुभव की कमी है और वह सरकार कैसे चलाएंगे.

उन्होंने कहा, ‘हमें उनके जैसे लूट में लिप्त होने का अनुभव नहीं था. लेकिन मेरे पास तब 40 वर्षों तक लोगों की सेवा करने का अनुभव था… वे हमारे पोर्टल, हमारी प्रमुख योजनाओं जैसे परिवार पहचान पत्र और अन्य योजनाओं की आलोचना करते हैं और कहते हैं कि यदि वे सत्ता में आए तो उन्हें बंद कर दिया जाएगा.”

खट्टर ने कहा, ‘मैं उन्हें याद दिलाना चाहता हूं कि इन योजनाओं से जिन विभिन्न वर्गों के लोगों को फायदा हो रहा है, वे उन्हें चुनाव में सबक सिखाएंगे.’

करनाल से विधायक पद से इस्तीफा देने वाले खट्टर को करनाल से लोकसभा चुनाव लड़ने के लिए पार्टी का उम्मीदवार बनाया गया है. खट्टर ने कहा, ‘जब मैंने करनाल से इस्तीफा दिया तो मैंने पार्टी आलाकमान को बताया कि करनाल को ‘मुख्यमंत्री सिटी’ का ‘टैग’ मिला है और प्रस्ताव दिया कि सैनी को वहां से चुनाव लड़ना चाहिए.’

सभा को संबोधित करते हुए सैनी ने कहा कि वह खट्टर ही थे जिन्होंने उनकी उंगली पकड़कर उनके राजनीतिक करियर में उनका मार्गदर्शन किया. उन्होंने कहा कि खट्टर ने राज्य को आगे ले जाने के लिए कड़ी मेहनत की है.

उन्होंने कहा कि खट्टर के कार्यकाल में गरीबों और कमजोर वर्गों सहित विभिन्न वर्गों के कल्याण के लिए कई योजनाएं बनाई गईं. मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि हरियाणा के लोग 2019 के लोकसभा चुनाव की तरह इस बार भी सभी 10 सीटें ‘मोदी जी की झोली में’ डालेंगे.

 

यह भी पढ़ें :-  VIDEO : शहीद कैप्टन की मां कहती रही "प्रदर्शनी मत लगाओ", UP के मंत्री चेक देते हुए 'फोटो सेशन' कराते रहे

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को The Hindkeshariटीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Show More

संबंधित खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button