देश

जो ‘शक्ति’ का विनाश चाहते हैं वे खुद नष्ट हो जाएंगे : ‘INDIA’ गठबंधन पर PM मोदी का हमला

राहुल गांधी के ‘शक्ति के खिलाफ लड़ाई’ वाले बयान पर सोमवार को विवाद खड़ा हो गया था और मोदी ने उस पर कड़ा जवाब देते हुए कहा था कि हर मां और बेटी उनके लिए शक्ति का रूप हैं और वह उनकी सुरक्षा के लिए अपना जीवन खपा देंगे.

मोदी ने रविवार को मुंबई में विपक्षी गठबंधन ‘इंडिया’ की रैली में की गयी राहुल गांधी की टिप्पणी को लेकर उन पर सोमवार को निशाना साधा जिसके बाद कांग्रेस नेता ने स्पष्टीकरण दिया कि वह किसी धार्मिक शक्ति की नहीं, बल्कि अधर्म, भ्रष्टाचार और झूठ की ‘शक्ति’ की बात कर रहे थे.

मोदी ने यहां की रैली में मंगलवार को ‘इंडिया’ गठबंधन पर भी हमला करते हुए कहा, ‘‘इंडी गठबंधन वाले बार-बार, जानबूझकर हिंदू धर्म का अपमान करते हैं. हिंदू धर्म के खिलाफ इनका हर बयान बहुत सोचा समझा हुआ होता है. द्रमुक और कांग्रेस का इंडी गठबंधन और किसी धर्म का अपमान नहीं करता. किसी और धर्म के खिलाफ इनकी जुबान से एक शब्द नहीं निकलता. लेकिन हिंदू धर्म को गाली देने में ये एक सेकंड नहीं लगाते.”

उन्होंने कहा, ‘‘अभी तो चुनाव अभियान की शुरुआत हुई है. लेकिन इंडी गठबंधन की योजनाएं और बदइरादे मुंबई में हुई उनकी पहली रैली में ही खुलकर सामने आ गए हैं. ये कह रहे हैं कि हिंदू धर्म की जिस शक्ति में आस्था होती है, उन्हें उस शक्ति का विनाश करना है. हिंदू धर्म में शक्ति किसे कहते हैं, ये तमिलनाडु का हर व्यक्ति जानता है.”

प्रधानमंत्री ने कहा कि शक्ति का अर्थ मरियमन, मदुरै मीनाक्षीअम्मन और कांची कामाक्षीअम्मा जैसे राज्य के विभिन्न देवी-देवताओं से संबंधित है.

उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय कवि सुब्रमण्यम भारती ने भारत माता को ‘शक्ति’ के रूप में पूजा है. उन्होंने कहा, ‘‘तमिलनाडु उन्हें सजा देगा, जो शक्ति का नाश करने की बात करते हैं. मैं शक्ति उपासक हूं.”

यह भी पढ़ें :-  लोकसभा चुनाव लड़ेंगी रोहिणी आचार्य? लालू प्रसाद यादव की बेटी ने दिया ये जवाब
मोदी ने कहा, ‘‘हमारे महाकाव्य इस बात का सबूत हैं कि जो लोग शक्ति का विनाश करना चाहते हैं, वे नष्ट हो जाते हैं.”

तमिलनाडु में 19 अप्रैल को होने वाले चुनावों की तारीख का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा, ‘‘मेरा तमिलनाडु भी 19 अप्रैल को यही करेगा.” उन्होंने कहा, ‘‘तमिलनाडु उन्हें सजा देगा जो शक्ति का नाश करने की बात करते हैं. यह तमिलनाडु के करोड़ों लोगों की गारंटी है.”

प्रधानमंत्री ने उज्ज्वला योजना सहित राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सरकार की विभिन्न महिला केंद्रित योजनाओं को भी रेखांकित किया और कहा कि इन योजनाओं के केंद्र में नारी शक्ति है.

द्रमुक के बारे में उन्होंने कहा कि यह सबको पता है कि जब दिवंगत मुख्यमंत्री जे जयललिता जीवित थीं तो पार्टी ने उनके साथ कैसा व्यवहार किया था.

उन्होंने कहा, ‘‘यह द्रमुक का असली चेहरा है. वे महिला आरक्षण विधेयक का भी विरोध करते हैं. इस वजह से तमिलनाडु में महिलाओं के खिलाफ अपराध बढ़ रहे हैं. द्रमुक के इस महिला विरोधी रवैये के खिलाफ 19 अप्रैल को वोट करें.”

द्रमुक और उसकी सहयोगी कांग्रेस की आलोचना करते हुए उन्होंने कहा कि वे सिक्के के दो पहलू हैं जिन्हें ‘बड़े भ्रष्टाचार, एक परिवार के शासन’ के लिए जाना जाता है. उन्होंने कहा कि केंद्र में कांग्रेस के सत्ता से दूर होने के कारण देश संचार के 5जी स्तर पर पहुंच गया है.

उन्होंने कहा, ‘‘2जी घोटाला कर उन्होंने (द्रमुक ने) भारत और तमिलनाडु को बदनाम किया… केंद्र तमिलनाडु के विकास के लिए लाखों करोड़ रुपये भेज रहा है लेकिन यहां की सरकार उसे लूट रही है.”

यह भी पढ़ें :-  "कुछ चीजें राजनीति से परे": BJP-BJD गठबंधन की चर्चा के बीच नवीन पटनायक के सहयोगी
उन्होंने आरोप लगाया कि परिवारवादी पार्टियों ने दिवंगत दिग्गज कांग्रेस नेता जी के मूपनार में प्रधानमंत्री बनने की क्षमता के बावजूद उन्हें नई ऊंचाइयों तक नहीं पहुंचने दिया.

पूर्व मुख्यमंत्री दिवंगत के. कामराज को याद करते हुए मोदी ने कहा कि उनकी ईमानदारी और मध्याह्न भोजन जैसी क्रांतिकारी योजनाएं उनके लिए बड़ी प्रेरणा रही हैं. उन्होंने कहा कि तमिलनाडु में भाजपा के लिए समर्थन बढ़ रहा है और सत्तारूढ़ द्रमुक की नींद उड़ रही है.

अपने संबोधन के दौरान एक समय मोदी भावुक हो गए जब उन्होंने इसी जिले में 10 साल पहले मारे गए भाजपा के पदाधिकारी को याद करते हुए अपना भाषण रोक दिया. वह ‘ऑडिटर’ वी रमेश के बारे में बात कर रहे थे जिनकी 2013 में हत्या कर दी गई थी.

प्रधानमंत्री ने कुछ समय के लिए अपना भाषण रोका और जब उन्होंने फिर से शुरू किया तो उन्होंने पार्टी के लिए रमेश के योगदान को याद किया.

उन्होंने कहा, ‘‘मैं ऑडिटर रमेश को नहीं भूल सकता. दुर्भाग्य से आज रमेश हमारे बीच नहीं हैं. रमेश ने पार्टी के लिए दिन-रात कड़ी मेहनत की और वह एक अच्छे वक्ता भी थे. लेकिन उनकी हत्या कर दी गई. आज मैं उन्हें अपनी श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं.” प्रधानमंत्री ने तमिल भाषा की भी जमकर तारीफ की.

इससे पहले 11 शक्ति अम्मा (महिलाओं) ने प्रधानमंत्री का विशेष स्वागत किया. वह खुली छत वाले वाहन से कार्यक्रम स्थल पर पहुंचे. इस मौके पर ऑल इंडिया अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कषगम (अन्नाद्रमुक) से निष्कासित नेता ओ पनीरसेल्वम, पत्ताली मक्कल काची (पीएमके) संस्थापक एस रामदास और अम्मा मक्कल मुनेत्र कषगम (एएमएमके) के टीटीवी दिनाकरण भी मौजूद थे.

यह भी पढ़ें :-  ईरान ने भारत से गाजा पर इजरायल के हमले को रोकने के लिए "अपनी पूरी क्षमताओं का उपयोग" करने का किया आग्रह

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को The Hindkeshariटीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Show More

संबंधित खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button